News Nation Logo
Banner

भारत के नक्शे में सिर्फ श्रीलंका क्यों, पाकिस्तान और चीन को इसलिए नहीं दिखाया गया?

ऐसा करने के पीछे समुद्री कानून को बताया गया है। इन्हें ऑसियन लॉ कहा जाता है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 03 Jan 2022, 02:26:54 PM
srilanka

india map (Photo Credit: file photo)

highlights

  • भारत के धनुषकोडी से श्रीलंका की दूरी 18 मील है
  • कई देशों को कभी भी भारत के नक्शे में नहीं दिखाया गया है

नई दिल्ली:  

आपने कई बार भारत का नक्शा देखा है. इसमें कभी गौर किया होगा कि उसमें श्रीलंका का नक्शा दर्शाया जाता है. मगर पाकिस्तान, चीन या फिर कोई पड़ोसी  देश क्यों नहीं दिखाया जाता है. श्रीलंका के अलावा अन्य देशों को कभी भी भारत के नक्शे में नहीं दिखाया गया है. इसके पीछे एक अहम कारण है. भारत के नक्शे में श्रीलंका दिखाए जाने का अर्थ ये नहीं है ​कि भारत का उस पर कोई अधिकार है या फिर दोनों देशों के बीच ऐसा कोई करार है. ऐसा करने के पीछे समुद्री कानून को बताया गया है. इन्हें ऑसियन लॉ कहा जाता है. इस कानून को बनाने की  पहल यूनाइडेट नेशन यानी संयुक्त राष्ट्र ने की थी, इसके बाद यह कानून अपने अस्तित्व में आ गया.

गौरतलब है कि इस कानून को बनाने के लिए सबसे पहले वर्ष 1956 में यूनाइटेड  नेशंस कंवेन्शन ऑन द लॉ ऑफ द सी (UNCLOS-1) सम्मेलन का आयोजन किया गया. इसके बाद 1958 में इस सम्मेलन का परिणाम ऐलान किया गया. दरअसल,  इस UNCLOS-1 में समुद्र से जुड़ी सीमाओं और संधियों को लेकर आम सहमति बनी  थी. इसके बाद 1982 तक तीन सम्मेलन का आयोजन हुआ, इसमें समुद्र से जुड़े कानूनों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता देने का काम शामिल है.

क्या है लॉ ऑफ द सी?

जब कानून बना तो यह तय हुआ कि किसी भी देश की आधार रेखा यानी बेस लाइन से 200 नॉटिकल माइल्स के बीच आने वाले स्थान को भारत के नक्शे में दिखाया जाना चाहिए. अगर कोई देश समुद्र के किनारे बस गया है या बसा हुआ है या फिर उसका एक हिस्सा समुद्र से जुड़ा है तो ऐसी अवस्था में उस देश के नक्शे में देश की सीमा से आसपास का क्षेत्र भी नक्शे में दिखाया जाएगा.

ये ही वजह है कि भारत के नक्शे में श्रीलंका को अहम स्थान मिला है. क्योंकि यह 200 नॉटिकल माइल्स के अंदर ही आता है. भारत की सीमा से 200 नॉटिकल माइल्स की दूरी में आने वाले सभी जगहों को नक्शे में दिखाया जाता है. 

क्या होता है 200 नॉटिकल माइल्स?

अगर नॉटिकल माइल्स को किलोमीटर के हिसाब से देखा जाए तो एक नॉटिकल माइल्स (nmi) में 1.824 किलोमीटर (km) होते हैं. इस हिसाब से 200 नॉटिकल माइल्स   
का मतलब है ​कि 370 किलोमीटर. ऐसे में भारत की सीमा से 370 किलोमीटर की दूरी वाले क्षेत्र को भारत के नक्शे में दिखाया जाता है. इस कारण दूसरा देश होने के बावजूद श्रीलंका को भारत के नक्शे में रखा जाता है.

भारत से कितना दूर है श्रीलंका?

भारत से श्रीलंका की दूरी की बात करें तो भारत के धनुषकोडी से श्रीलंका की दूरी 18 मील है. इससे यह साफ होता है कि भारत के नक्शे में इस कारण से श्रीलंका अहम स्थान रखता है और यही कारण है कि इसपर कोई विवाद भी नहीं होता है. इस नियम का पालन अन्य समुद्री भी करते हैं.

 

First Published : 03 Jan 2022, 02:26:54 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.