News Nation Logo
Banner

बंगालः जब श्मशान में चिता से उठ खड़ी हुई बुजुर्ग महिला...

बुजुर्ग महिला को बांस की तैयार की गई चिता पर लिटा कर उसे श्मशान लाया गया. बताया जाता है कि श्मशान घाट में महिला को बाकायदा चिता पर लिटा कर उसे मुखाग्नि देने की तैयारी चल रही थी कि मृतक महिला अचानक से कराह उठी.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 28 May 2021, 10:10:38 AM
प्रतीकात्मक अर्थी

प्रतीकात्मक अर्थी (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • श्मशान घाट पर महिला को होश आ गया
  • लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के दुर्गापुर (Durgapur) के पाण्डेश्वर इलाके से एक चौकाने वाली घटना सामने आई हैं. यहां श्मशान में चिता पर लेटी एक वृद्ध महिला मुखाग्नि से ठीक पहले जिंदा हो उठी. बताया जाता है कि पाण्डेश्वर पुलिस थाना के बैद्यनाथ पुर निवासी पुष्प रानी आचार्य (78) कमर की हड्डी टूटने के बाद से पिछले 8 महीने से बिस्तर पर ही पड़ी है. इसी बीच गुरुवार रात उन्होंने जोर की हिचकी ली और कथित तौर पर उनका सांस लेना बंद हो गया. इसके बाद महिला के परिजनों के साथ ही आसपास से भी बड़ी संख्या में लोग वहां पहुंचे और महिला को देख कर इसे मृत घोषित कर दिया. 

ये भी पढ़ें- 110 KM की स्पीड से गुजरी पुष्पक एक्सप्रेस, भरभराकर गिर गया रेलवे स्टेशन

जिसके बाद में परिवार वालों ने पूरे रीते रिवाज के साथ उनका अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू कर दी. बुजुर्ग महिला को बांस की तैयार की गई चिता पर लिटा कर उसे श्मशान लाया गया. बताया जाता है कि श्मशान घाट में महिला को बाकायदा चिता पर लिटा कर उसे मुखाग्नि देने की तैयारी चल रही थी कि मृतक महिला अचानक से कराह उठी. इस तरह से उसे कराहता देख पहले तो लोग डर गए.

हालांकि बाद में श्मशान में मौजूद अन्य लोगों ने इसकी सूचना पाण्डेश्वर थानां पुलिस को दी. घटना की सूचना मिलने के बाद पाण्डेश्वर थानां पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और महिला को वहां से उठाकर उसे दुर्गापुर महकमा अस्पताल भेज दिया है. इस तरह से बिना डेथ सर्टिफिकेट के और बिना डॉक्टर द्वारा जांच के कैसे महिला को मृत घोषित कर उसे जलाने श्मशान तक ले जाया गया, पुलिस इस मामलें की जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें- बोलती तस्वीर : इंसानियत की बेमिसाल तस्वीर पेश की गश्त लगा रही महिला पुलिसकर्मी

स्थानीय लोगों ने बताया कि एक दुर्घटना में बुजुर्ग महिला की कमर की हड्डी टूट गई थी. जिसके बाद से वो बिस्तर से उठ नहीं सकी. परिवार वाले बिस्तर पर ही उसको खाना-पीना देते थे. अचानक उसकी तबियत बिगड़ गई. और उसने एक जोरदार हिचकी ली. जिसके बाद से उसकी लोगों ने देखा तो उसकी सांस बंद हो गई. तो लोगों ने उसे मृत समझ कर उसका अंतिम संस्कार करने के लिए चले आए. लेकिन श्मशान में चिता पर लिटाने के बाद महिला अचानक से कराह उठी. जिसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई.

हाल ही में छत्तीसगढ़ में भी ऐसा ही मामला सामने आया था. रायपुर स्थित अंबेडकर अस्पताल में भर्ती जिंदा महिला मरीज को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था. जिसके बाद परिजन उसके अंतिम संस्कार की तैयारी करने लगे थे. महिला का अंतिम संस्कार करने के लिए परिजन उसे मुक्तिधाम लेकर पहुंचे. महिला को मृत समझकर उसके अंतिम संस्कार की तैयारी भी पूरी कर ली गई थी. उसे चिता पर लेटा दिया गया था और मुखाग्नि दिए जाने की तैयारी थी. उसी वक्त महिला की पल्स चलने लगी थीं. जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

First Published : 28 May 2021, 10:08:22 AM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो