News Nation Logo
Banner

पति बिना पूछे ले आया गोल गप्पे तो पत्नी ने कर ली आत्महत्या

पुलिस ने सोमवार को पति के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर लिया. घटना पुणे के एक गांव की है.

News Nation Bureau | Edited By : Apoorv Srivastava | Updated on: 01 Sep 2021, 06:11:40 PM
suiside

suicide (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • दंपति का 18 महीने का बच्चा भी है
  • बच्चे के भविष्य को लेकर लोगों में चिंता
  • घटना से आस-पड़ोस के लोग स्तब्ध

नई दिल्ली :

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पुणे जिले में एक व्यक्ति बिना अपनी पत्नी से पूछे गोलगप्पे खरीद लाया तो महिला ने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है और उस पर पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया गया है. महाराष्ट्र की न्यूज एजेंसी के अनुसार पुलिस ने बताया है कि पुणे में रहने वाले गहिनीनाथ सरवडे की शादी वर्ष 2019 में प्रतीक्षा सरवडे का साथ हुई थी. भारती विद्यापीठ थाने की अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को गहिनीनाथ रात में पत्नी से पूछे बिना गोलगप्पे ले आया. पत्नी ने पहले ही खाना बना लिया था. इस बात पर दोनों में झगड़ा हो गया. दोनों में काफी देर तक कहासुनी होती रही. इसके बाद अगले दिन प्रतीक्षा ने जहरीला पदार्थ खा लिया. उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया. रविवार को उसकी मौत हो गई. पुलिस ने सोमवार को गहिनीनाथ के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर लिया. 

इसे भी पढ़ेंः IPL2021: अगली बार आईपीएल (IPL) से 5000 करोड़ रुपये ज्यादा कमाएगी बीसीसीआई ! जानिए कैसे

मीडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार दंपति पुणे के अंबेगांव पठार स्थित घर में रहती थी. दोनों का 18 महीने का बच्चा भी था. वहीं इस मामले में सीनियर इंस्पेक्टर जगन्नाथ कालसकर ने बताया कि ऐसा पता चला है कि दोनों पति-पत्नी में अक्सर झगड़ा होता रहता था. पड़ोसियों के अनुसार पति-पत्नी में घरेलू झगड़ा होना आम बात थी. पुलिस आगे की जांच में जुटी है. आरोपी पति और मृतक महिला के परिजनों से भी पूछताछ की जा रही है.

इस घटना के बाद आस-पड़ोस में लोग स्तब्ध हैं. लोग इस घटना पर विश्वास नहीं कर पा रहे हैं. साथ ही सवाल उठ रहे हैं कि अब दंपत्ति के डेढ़ साल के बच्चे का क्या होगा. वहीं, इस घटना के बारे में मनोवैज्ञानिक डॉ. मनस्वी अस्थाना कहती हैं कि इस प्रकार की घटनाएं समाज में बढ़ रही हैं. आत्महत्या के केस लगातार बढ़ रहे हैं. यही नहीं, इसमें घरेलू झगड़े, परिवार में तनाव, अवसाद आदि कारक हैं. इसका कारण लोगों में भावनात्मक लगाव कम होना, सोशल प्रेशर बढ़ना और तमाम मानसिक विकार हैं. इसके समाधान के लिेए पूर्ण सामाजिक विश्लेषण और लोगों की सही काउंसलिंग जरूरी है. यदि परिवार में झगड़े बढ़ रहे हैं, पति-पत्नी में विवाद बढ़ रहा है तो तुरंत मनोचिकित्सक से संपर्क करना चाहिए. 

First Published : 01 Sep 2021, 06:07:47 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.