News Nation Logo
Banner

चीन का ये चट्टान हर 30 साल में देता है बड़े-बड़े अंडे, जमीन पर गिरते ही घर ले जाते हैं लोग..हैरान कर देगा मामला

चन दन या नाम का यह चट्टान हर 30 साल में हूबहू अंडे जैसे पत्थर पैदा करती है, जो कुछ दिनों तक चट्टान में ही लगे रहने के बाद नीचे गिर जाते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 30 Apr 2019, 05:51:06 PM
चीन का चन दन या चट्टान

चीन का चन दन या चट्टान

नई दिल्ली:

हमने बचपन में यही पढ़ा था कि दुनिया के कुछ जानवर और पक्षी ऐसे होते हैं जो अंडे देते हैं. लेकिन आज हम आपको चीन के एक ऐसे पहाड़ के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी चट्टानें भी समय-समय पर अंडे देती रहती है. चीन के गिझोउ प्रांत में स्थित ये चट्टान हर 30 साल में एक बार अंडे देती है. अंडे देने वाला ये चट्टान करीब 20 मीटर ऊंचा और 6 मीटर लंबा है. चीन के इस अजीबो-गरीब चट्टान को ''चन दन या'' नाम से जाना जाता है. चट्टान की ऐसी हरकतों को देखकर दुनिया के बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी हैरान हैं.

ये भी पढ़ें- 5 साल तक 3 दरिंदों ने मिलकर घोड़ी, बकरी, गाय और कुत्तों के साथ बनाए संबंध, पूरा मामला जान कांप जाएगी रूह

दरअसल चन दन या नाम का यह चट्टान हर 30 साल में हूबहू अंडे जैसे पत्थर पैदा करती है, जो कुछ दिनों तक चट्टान में ही लगे रहने के बाद नीचे गिर जाते हैं. आपको बता दें कि ''चन दन या'' का मतलब 'अंडा देने वाला पत्थर' होता है. एक हिंदी वेबसाइट की मानें तो भूवैज्ञानिकों के मुताबिक ये चट्टान 50,00,00,000 साल पुराना है. खास बात ये है कि स्थानीय लोग इसे काफी शुभ मानते हैं. चट्टान से निकलकर जमीन पर गिरने के बाद लोग इन्हें अपने घर ले जाते हैं. बताया जाता है कि जब ये अंडेनुमा पत्थर चट्टान के अंदर होते हैं तो ये एक तरह के खास कवच में बंद रहते हैं. लेकिन जैसे-जैसे कवच पूरी तरह से निकल जाता है, ये अपने आप ही नीचे जमीन पर गिर जाते हैं.

ये भी पढ़ें- एशियाई चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले अमित पंघल का नाम अर्जुन पुरस्कार के लिए भेजेगा BFI

गिझोउ प्रांत में स्थित चन दन या चट्टान एक काला चट्टान है, जो आमतौर पर काफी ठंडा होता है. इस तरह की चट्टानें कई इलाकों में आसानी से मिल जाते हैं. लेकिन बदलते हुए इन चट्टानों के स्वरूप को देखकर वैज्ञानिक काफी परेशान हैं. कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि चट्टान से निकल रहे अंडेनुमा पत्थर बदलते मौसम की देन है. उन्होंने बताया कि इस चट्टान को हर बार अधिकतम और न्यूनतम तापमान का सामना करना पड़ता है, जिसकी वजह से इनमें अंडे जैसे दिखने वाले पत्थरों की संरचना हो जाती है.

First Published : 30 Apr 2019, 05:50:54 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो