News Nation Logo
Breaking
पहले बड़े मंगल के मौके पर लखनऊ में बजरंगबली के मंदिरों पर दर्शनार्थियों की भीड़ मैरिटल रेप का मामला SC पहुंचा, याचिकाकर्ता खुशबू सैफी ने दिल्ली HC के फैसले को SC में चुनौती दी मुंबई : कार्तिक चिदंबरम और उनसे जुडे ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी दिल्ली : कुतुबमीनार के कुव्वुतुल इस्लाम मस्जिद मामले की याचिका पर साकेत कोर्ट में सुनवाई टली मथुरा जिला अदालत में एक और याचिका, शाही ईदगाह मस्जिद को सील करने की मांग दाऊद के करीबी और 1993 मुंबई धमाकों के वॉन्टेड आरोपियों को गुजरात ATS ने पकड़ा चारधाम यात्रा को धीमा करेगी उत्तराखंड सरकार, पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने भीड़ को बताई वजह हरिद्वार हेट स्पीच मामला : जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ़ वसिम रिज़वी को 3 महीने की अंतरिम जमानत जम्मू : म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन में गैर कानूनी लाउडस्पीकर बैन के प्रस्ताव के पारित होने पर हंगामा वाराणसी कोर्ट में आज ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश नही होगी, तीन दिन का और समय मांगा जाएगा राजस्थान : पुलिस कांस्टेबल भर्ती में 14 मई की द्वितीय पारी की परीक्षा दोबारा ली जाएगी जम्मू कश्मीर : राजौरी इलाके के कई वन क्षेत्रों में भीषण आग, बुझाने में जुटे फायर टेंडर्स राजस्थान में 5 दिन लू से राहत, 9 दिन बाद 40 डिग्री सेल्सियस के नीचे आया पारा
Banner

इस देश में गंजापन बना सियासी मुद्दा, राष्ट्रपति उम्मीदवार को मिल रहा जबरदस्त समर्थन

गंजे लोगों के लिए ऑनलाइन समुदाय उनके प्रस्ताव का समर्थन करने वाले संदेशों से भरे पड़े हैं. हालांकि इस बात की भी कड़ी आलोचना की जा रही है कि वोट जीतने के लिए गवर्निंग पार्टी के उम्मीदवार ली द्वारा यह एक लोकलुभावन वादा है.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 07 Jan 2022, 01:26:48 PM
Lee Jae myung

Lee Jae myung (Photo Credit: File Photo)

सियोल:  

दक्षिण कोरिया (South Korea) के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार ली जे-म्युंग (Lee Jae-myung) गंजे नहीं हैं, लेकिन बालों के झड़ने के इलाज के लिए सरकारी भुगतान पर जोर देने के कारण उन्हें कई गंजे मतदाताओं (Bald Voters) का समर्थन मिल रहा है. चूंकि इस सप्ताह की शुरुआत में उनके प्रस्ताव का खुलासा किया गया था. जहां पिछले चुनावों ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम, अमेरिका के साथ संबंधों, घोटालों और आर्थिक समस्याओं पर ध्यान केंद्रित किया था वहीं इस बार दक्षिण कोरिया में मार्च के राष्ट्रपति चुनाव से पहले बालों का झड़ना एक हॉट टॉपिक के रूप में उभरा है.

यह भी पढ़ें : कोरोना पॉजिटिव महिला की वियाग्रा ने बचाई जान, 45 दिनों तक कोमा में रही

गंजे लोगों के लिए ऑनलाइन समुदाय उनके प्रस्ताव का समर्थन करने वाले संदेशों से भरे पड़े हैं. हालांकि इस बात की भी कड़ी आलोचना की जा रही है कि वोट जीतने के लिए गवर्निंग पार्टी के उम्मीदवार ली द्वारा यह एक लोकलुभावन वादा है. इन दिनों इससे संबंधित संदेश सोशल मीडिया पर खूब देखने को मिल रही है. एक यूजर्स का कहना है, जे-म्युंग भाई. मैं आपसे प्यार करती हूं. मैं आपको ब्लू हाउस में प्रत्यारोपित करूंगा. महामहिम, राष्ट्रपति महोदय! आप कोरिया में पहली बार गंजे लोगों को नई उम्मीद दे रहे हैं. ली ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि उन्हें लगता है कि बालों के दोबारा उगने के उपचार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम के तहत कवर किया जाना चाहिए.

ली ने लिखा फेसबुक पर अपने विचार
ली ने फेसबुक पर लिखा, कृपया हमें बताएं कि बालों के झड़ने के उपचार में आपके लिए क्या असुविधाजनक रहा है और नीतियों में क्या विचार किया जाना चाहिए. मैं बालों के झड़ने के उपचार पर एक संपूर्ण पॉलिसी प्रस्तुत करूंगा. मुनहवा इल्बो अखबार के संपादकीय में कहा गया है कि (ली का विचार) अपने बालों के झड़ने के बारे में चिंता करने वाले कई लोगों के लिए एक आवश्यक कदम प्रतीत हो सकता है, लेकिन यह गंभीर लोकलुभावनवाद के अलावा कुछ भी नहीं है, क्योंकि इससे राज्य बीमा कार्यक्रम की वित्तीय स्थिरता खराब हो जाएगी. वर्तमान में उम्र बढ़ने और वंशानुगत कारकों से संबंधित बालों के झड़ने को सरकार द्वारा संचालित बीमा कार्यक्रम द्वारा कवर नहीं किया जाता है. बालों के झड़ने के उपचार का समर्थन केवल तभी किया जाता है जब नुकसान कुछ बीमारियों के कारण होता है. रिपोर्ट्स कहती हैं कि हर पांच दक्षिण कोरियाई लोगों में से एक बाल झड़ने की समस्या से जूझ रहा है. 

First Published : 07 Jan 2022, 01:26:48 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.