News Nation Logo
Banner

2020 Tokyo Olympics: चाहे जितना करो सेक्स, नहीं टूटेगा कार्डबोर्ड बेड

टोक्यो ओलंपिक के लिए आने वाले खिलाड़ियों ने कार्डबोर्ड के बिस्तरों को लेकर चिंता जाहिर की तो आयोजकों को यह कहना पड़ा कि ये बिस्तर कमजोर नहीं और सेक्स के दौरान टूटेंगे नहीं.

By : Nihar Saxena | Updated on: 12 Jan 2020, 11:44:46 AM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • टोक्यो ओलंपिक को लेकर खिलाड़ियों ने कार्डबोर्ड के बिस्तरों को पर चिंता जाहिर की.
  • आयोजकों को कहना पड़ा कि ये बिस्तर कमजोर नहीं और सेक्स के दौरान टूटेंगे नहीं.
  • ये बिस्तर 200 किग्रा तक का वजन सहन कर सकते हैं, जो दो लोगों के वजन से अधिक.

नई दिल्ली:

किसी भी खेल आयोजन के दौरान जितनी चर्चा मैदान में होने वाली घटनाओं की होती है, उससे कहीं अधिक चर्चा मैदान के बाहर होने वाली घटनाओं की होती है. सेक्स इनमें से एक प्रमुख घटना है. अब टोक्यो ओलंपिक को ही लें. आयोजको ने इस साल खिलाड़ियों को रीसाइकिल्ड कार्डबोर्ड से बने बिस्तर मुहैया कराने का फैसला किया है और यही बात खिलाड़ियों के लिए चिंता का कारण बन गई है. ऐसे में कंपनी को आगे आकर खिलाड़ियों को आश्वस्त करना पड़ा कि बिस्तर पर चाहे जितनी धमा-चौकड़ी की जाए, वे टूटेंगे नहीं.

यह भी पढ़ेंः क्रिस गेल का बड़ा बयान, बोले- मौजूदा समय में पाकिस्तान सबसे सुरक्षित जगह

लाखों कंडोम भी होंगे वितरित
खेलों के दौरान खिलाड़ियों के बीच आपस में सेक्स सम्बंध बनते हैं और इन्हीं को ध्यान में रखकर खेल गांव में लाखों कंडोम वितरित किए जाते हैं. आयोजक खिलाड़ियों का पूरा ख्याल रखते हैं क्योंकि सेक्स को एक बहुत बड़ा स्ट्रेसबस्टर माना जाता है. टोक्यो ओलंपिक के लिए आने वाले खिलाड़ियों ने कार्डबोर्ड के बिस्तरों को लेकर चिंता जाहिर की तो आयोजकों को यह कहना पड़ा कि ये बिस्तर कमजोर नहीं और सेक्स के दौरान टूटेंगे नहीं. हां, अगर एक ही बिस्तर पर तीन लोग सेक्स करने लग जाएं तो इसके न टूटने की कोई गारंटी नहीं.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में JDU के चुनाव लड़ने से बीजेपी पर असर नहीं- शाहनवाज

सेक्स के दौरान नहीं टूटेंगे बेड
मेल ऑनलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक आयोजकों ने खिलाड़ियों को बिस्तरों के मजबूत होने की गारंटी दी है लेकिन साथ ही यह भी हिदायत दी है कि अगर एक बिस्तर का इस्तेमाल दो लोगों के लिए होगा तो ही इनके नहीं टूटने की गारंटी है. इन बिस्तरों को बनाने वाली कम्पनी-एअरवीभ ने कहा है कि ये बिस्तर 200 किग्रा तक का वजन सहन कर सकते हैं, जो दो लोगों के वजन से अधिक होता है. इन बिस्तरों की मैट्रेस पॉलीथाइलीन मटेरियल से बना है. ओलंपिक के बाद इनका प्लास्टिक प्रॉडक्ट्स के रूप में फिर से उपयोग में लाया जा सकेगा.

यह भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीर: घंटों चली त्राल मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को किया ढेर

ओलंपिक के लिए 18 हजार बिस्तरों की व्यवस्था
ओलंपिक के लिए कुल 18 हजार बिस्तरों की जरूरत है जबकि पैरालंपिक के लिए 8 हजार बिस्तरों की जरूरत होगी. एक खिलाड़ी ने इन बिस्तरों के टूटने को लेकर जब आशंका जाहिर की तो आयोजकों ने कहा कि खेल गांव में हजारों कंडोम वितरित किए जाएंगे और उनके खत्म होने तक ये बिस्तर सही सलामत रहेंगे. कम्पनी ने यह भी कहा कि इन बिस्तरों को वजन सहन क्षमता का परीक्षण किया गया है और अगर इन पर जरूरत से अधिक वजन नहीं डाला गया तो ये नहीं टूटेंगे. कम्पनी ने यह भी कहा कि अगर दो लोग अगर इन बिस्तरों पर जमकर धमाचौकड़ी करेंगे तो भी ये नहीं टूटेगे.

First Published : 12 Jan 2020, 11:44:46 AM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.