News Nation Logo
बाबुल सुप्रियो का संसद की सदस्यता से इस्तीफा मंजूर दिल्ली के सदर बाजार में आज आतंकी हमलों को लेकर मॉक ड्रिल की गई T20 World Cup: साउथ अफ्रीका ने वेस्टइंडीज को 8 विकेट से हराया चाहें तो गोली मरवा सकते हैं और कुछ नहीं कर सकते: लालू प्रसाद यादव के बयान पर नीतीश कुमार आर्यन खान की जमानत पर बॉम्बे हाईकोर्ट में कल फिर होगी सुनवाई बिजनेस के सिलसिले में उनसे बातचीत होती थी: हैनिक बाफना प्रभाकर ने मेरा नाम क्यों लिया मैं नहीं जानता: हैनिक बाफना भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी आर्यन खान की ओर से कर रहे हैं दलील पेश प्रभाकर को अच्छी तरह जानता हूं: हैनिक बाफना मेरे खिलाफ कोई सुबूत नहीं: हैनिक बाफना अगर सुबूत है तो प्रभाकर लाकर दिखाएं: हैनिक बाफना टीम इंडिया के मुख्य कोच पद के लिए राहुल द्रविड़ ने किया आवेदन वीवीएस लक्ष्मण के NCA में पदभार संभालने की संभावना आर्यन खान के वकील ने HC में दाखिल किया हलफनामा HC में आर्यन खान की जमानत याचिका पर सुनवाई शुरू पश्चिम बंगाल में तंबाकू और निकोटिन वाले गुटखा-पान मसाला एक साल के लिए बैन कोवैक्सीन को मिल सकती है अंतरराष्ट्रीय मंजूरी, डब्ल्यूएचओ की बैठक आज उमर मलिक के बेटे पर यूपी सरकार कसेगी शिकंजा, एडमिशन के नाम पर रेस का आरोप पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कल प्रेसवार्ता कर नई पार्टी का ऐलान कर सकते हैं अरविंद केजरीवाल का ऐलान - यूपी में सरकार बनी तो मुफ्त में अयोध्या की तीर्थ यात्रा कराएंगे

आखिर कौन है 14 साल की दीक्षा शिंदे.. नासा फैलोशिप के लिए हुआ चयन

महाराष्ट्र के औरंगाबाद की रहने वाली दीक्षा शिंदे (Diksha Shinde) का नाम महज 14 साल की उम्र में काफी फेमस हो गया . क्योंकि दीक्षा का नाम नासा (NASA)फैलोशिप के लिए चुना गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 20 Aug 2021, 03:28:43 PM
DEEKSHA SINDHE

DEEKSHA SINDE (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • महज14 साल में नासा की फैलोशिप पाकर बढ़ाया मान
  •  सोशल मीडिया पर मिल रही शुभकामनाएं 
  • स्वयं दिशा ने बताया कैसे हुआ फैलोशिप के लिए चयन 

New delhi:

एकाग्र मन, सच्ची लगन और कड़ी मेहनत से कुछ भी मुश्किल नहीं. यही कर दिखाया है महाराष्ट्र के औरंगाबाद की दीक्षा शिंदे (Diksha Shinde) ने. आज चारों और दीक्षा शिंदे की तारीफों के पुल बांधे जा रहे हैं. लेकिन इसके पीछे उसकी मेहनत कितनी है. ये सिर्फ दीक्षा शिंदे ही जानती है. वैसे जो भी हो महज 14 साल में इतना बड़ा कारनामा करना किसी सपने से कम नहीं. सोशल मीडिया पर दीक्षा शिंदे को बधाइयों का तांता लगा है. हर व्यक्ति दीक्षा को शुभकामनाएं देना चाहता है. हर कोई दीक्षा के इस काम से खुश है और देश के लिए गर्व महसूस कर रहा है. इतनी सी उम्र में इतनी बड़ी सफलता सोचकर भी गर्व महसूस होता है.

ये भी पढें: इन दबंगों की करतूत देखकर आप भी रह जाएंगे हैरान

दरअसल, महाराष्ट्र के औरंगाबाद की रहने वाली दीक्षा शिंदे (Diksha Shinde) का नाम महज 14 साल की उम्र में में काफी फेमस हो गया. क्योंकि दीक्षा का नाम नासा (NASA)फैलोशिप के लिए चुना गया है.  दीक्षा को नासा ने (NASA Fellowship) के लिए सिलेक्ट किया गया  है. दीक्षा शिंदे को नासा के एमएसआई फैलोशिप वर्चुअल (NASA MSI Fellowships) पैनल पर पैनलिस्ट के रूप में सिलेक्ट किया गया है. इसके साथ ही दीक्षा इतनी कम उम्र मे इस फैलोशिप को पाने वाली पहली लेडी बन गई है.

कैसे पाया मुकाम
ANI न्यूज एजेंसी से बातचीत में दीक्षा ने बताया कि उन्होंने ब्लैक होल और गॉड पर एक थ्योरी लिखी थी. तीन प्रयासों के बाद नासा ने उसे स्वीकार किया था. साथ ही नासा ने उसे अपनी वेबसाइट पर एक आर्टीकल लिखने को कहा था. बर आर्टीकल के बाद मुझे फैलोशिप के लिए सिलेक्ट कर लिया गया. नासा फैलोशिप के चयन होने पर वह बहुत खुश है. वह नासा के माध्यम से देश के लिए बहुत कुछ करना चाहती है. अपनी कामयाबी का श्रेय दीक्षा अपने परिजनों को देती है. जिन्होने समय-समय पर उसे गाइड किया. इतनी कम उम्र मे इतनी बड़ी कामयाबी के लिए उसकी जमकर तारीफ हो रही है सोशल मीडिया पर अलग-अलग अंदाज में दीक्षा को बधाइयां दी जा रही है

First Published : 20 Aug 2021, 03:21:08 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.