News Nation Logo

मन हो जाए धार्मिक या फिर करनी हो मस्ती, इस जगह पर घूमने जाएं

हम बताने जा रहे हैं ऐसी जगह जो धार्मिक भी है और मस्ती वाली भी. ये स्थान है उत्तराखंड में स्थित ऋषिकेश. 

News Nation Bureau | Edited By : Apoorv Srivastava | Updated on: 31 Oct 2021, 02:56:39 PM
rishikesh t876876876

lifestyle (Photo Credit: social media)

नई दिल्ली :

जब घूमने की बात हो तो परिवार में खुशी का माहौल बन जाता है लेकिन कहां जाएं, इस बात पर अक्सर बहस होती रहती है. एक ओर दादा-दादी किसी धार्मिक स्थल पर या तीर्थस्थल पर जाने की बात करते हैं, वहीं, बच्चे मस्ती करने की बात करते हैं. ऐसे में मां-बाप बीच में फंस जाते हैं कि किसकी बात मानें. अगर आप भी ऐसी स्थिति में फंसें हैं तो हम आपके लिए लाए हैं समाधान. हम बताने जा रहे हैं ऐसी जगह जो धार्मिक भी है और मस्ती वाली भी. ये स्थान है उत्तराखंड में स्थित ऋषिकेश. यहां आप तमाम मंदिरों और धार्मिक स्थलों के दर्शन कर सकते हैं. वहीं, रिवर राफ्टिंग के मजे भी ले सकते हैं. 

इसे भी पढ़ेंः Diwali Spacial: दीपावली पर क्यों खाते हैं सूरन की सब्जी, जानें अहम कारण 

कैसे जाना है- ऋषिकेश के बारे में बता दें कि यह दिल्ली से करीब 262 किलोमीटर दूर है. अगर आप कार से जा रहे हैं तो सामान्यतः पांच घंटे का समय लगता है. वहीं, उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से यह 43 किलोमीटर औऱ हरिद्वार से लगभग 25 किलोमीटर दूर है. 


ये हैं घूमने के प्रमुख स्थान- 


1. गंगा नदी के दो किनारों को जोड़ने के लिए राम झूला और लक्ष्मण झूला हैं, जो देखने लायक हैं. यह ऐसे पूल हैं जिनपर चलते वक्त आपको झूलने का अहसास होगा. 

2. त्रिवेणी घाटः ऋषिकेश का प्रमुख स्थान है, जहां लोग गंगा में डुबकी लगाने आते हैं. 

3. स्वर्ग आश्रमः यह आश्रम स्वामी विशुद्धानंद द्वारा स्थापित किया गया था. यह काली कमली वाले आश्रम के नाम से प्रसिद्ध है. 

4. नीलकंठ महादेवः ऋषिकेश से आगे चलकर लगभग 5500 फीट की ऊंचाई पर स्वर्ग आश्रम की पहाड़ी की चोटी पर नीलकंठ महादेव मंदिर स्थित है. कहते हैं कि समुद्र मंथन से निकला विष भगवान शिव ने यहीं ग्रहण किया था. 

5. वशिष्ठ गुफाः ऋषिकेश से 22 किलोमीटर दूरी पर वशिष्ठ गुफा है. यह बद्रीनाथ-केदारनाथ मार्ग पर है. कहते हैं कि भगवान राम यहां पर ठहरे थे. 

6. गीता भवनः राम झूला पार करने के बाद थोड़ी ही दूरी पर गीता भवन पर है. इस स्थापना कुछ दशकों पहले जयदयाल गोयंदका ने करवाया था. यह अपनी खास दीवारों के लिए प्रसिद्ध है. यहां की दीवारों पर रामायण और महाभारत के चित्र भी बनाए गए हैं. 

7. राफ्टिंग का मजाः धार्मिक स्थलों से अलग हटकर अगर बात की जाए तो यहां पर गंगा नदी में राफ्टिंग के अलग ही मजा है. यहां पर कई एसोसिशएन सस्ती दरों पर रिवर राफ्टिंग कराते हैं. 

First Published : 31 Oct 2021, 02:56:39 PM

For all the Latest Lifestyle News, Travel News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो