News Nation Logo
Banner

ट्रैवलिंग दिलाएगा डिप्रेशन से छुटकारा, ये हैं 5 वजह

आजकल के युवाओं में डिप्रेशन बहुत तेजी से बढ़ा है. खासकर भारत में, एक रिपोर्ट से पता चला है कि भारत की लगभग 6.5% लोग डिप्रेशन से पीड़ित है. इससे बचने के लिए डॉक्टरों की सलाह के साथ-साथ घूमना और ट्रैवल करना भी डिप्रेशन से आपकी लड़ाई में मदद कर सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Lekha Gaurkar | Updated on: 16 Jan 2020, 09:02:50 AM
ट्रैवलिंग से दूर होता है डिप्रेशन

ट्रैवलिंग से दूर होता है डिप्रेशन (Photo Credit: सांकेतिक चित्र)

नई दिल्ली:

आजकल के युवाओं में डिप्रेशन बहुत तेजी से बढ़ा है. खासकर भारत में, एक रिपोर्ट से पता चला है कि भारत की लगभग 6.5% लोग डिप्रेशन से पीड़ित है. इससे बचने के लिए डॉक्टरों की सलाह के साथ-साथ घूमना और ट्रैवल करना भी डिप्रेशन से आपकी लड़ाई में मदद कर सकता है. घूमने या ट्रैवल करन से आप डिप्रेशन को दूर कर सकते है. यहां हम आपको बता रहे हैं कि ट्रैवल या घूमना डिप्रेशन से लड़ने में आपकी किस तरह मदद कर सकता है.

आप नए लोगों से मिलते हैं
अकेलेपन का सीधा असर डिप्रेशन पर पड़ता है. जितना आप अकेले रहेंगे, उतना ही डिप्रेशन की ओर जाएंगे. जब आप अकेले ट्रैवल करते हैं या फिर कहीं घूमने के लिए जाते हैं तो आप नए लोगों से मिलते हैं. कैब ड्राइवर से लेकर होटेल के स्टाफ तक, आप इस दौरान कई लोगों से मिलते हैं. इन सभी के पास कई नई बातें होती हैं जो वो आपके साथ शेयर करते है. इनकी कहानियां और अनुभव सुनकर आप अपने डिप्रेशन से थोड़ा दूर जा सकते हैं.

यह भी पढ़े: आपके अलावा पति की जिंदगी में है कोई और 'वो'? ऐसे पहचानें

प्रकृति (नेचर) से मिलने का अवसर
एक शोध से पता चला है कि इंसान के डिप्रेशन और नेचर का आपस में रिश्ता है. ऐसा माना जाता है कि इंसानी दिमाग और मन को प्रकृति जैसे- जंगलों, नदी के किनारे और पहाड़ों के पास जाने से शांति मिलती है. जैसे ही आप प्रकृति के पास जाते हैं तो डिप्रेशन अपने आप ही आपसे दूर होने लगता है. इसलिए जितना नेचर के करीब जाएंगे और उसमे घुलेगें- मिलेंगे, डिप्रेशन उतना ही आपसे दूर होता जाएगा.

ज्यादा मेहनत करें और खुश रहें
आप अपनी रोज की दिनचर्या से हटकर कुछ अलग करें. छुट्टियों पर घूमने जाएं और वहां ट्रेकिंग जैसी शारीरिक मेहनत करें. शारीरिक मेहनत करने से एंडोर्फिन हार्मोन निकलते हैं जो डिप्रेशन से जुड़ा हुआ होता है. इसलिए सफर पर निकलिए और क्लाइबिंग से लेकर राफ्टिंग करिए. इससे शरीर में आपको थकान महसूस होगी और आप खुश रहेंगे.

यह भी पढ़े: अगर कम बजट में घूमना चाहते हैं विदेश, तो इन देशों को करें अपनी ट्रिप में शामिल

ज्यादा ट्रैवल करें और आराम से सोएं
डिप्रेशन का पहला लक्षण अनिद्रा होती है. ट्रैवल करने से आप अपनी डेली रूटीन जैसे मोबाइल, लैपटॉप से दूर होकर अपने साथ वक्त गुजारेंगे. आप भागकर बस या ट्रेन पकड़ते हैं फिर पूरे दिन नई जगह घूमकर थक जाते हैं. दिन खत्म होने तक आप थक कर सोने चले जाते हैं. आपके शरीर की थकान आपको रातभर चैन की नींद सुलाएगी और इसके लिए आपको देर तक जागने या किसी भी दवाई की जरूरत नहीं होगी.

दुनिया के बारे में नई बातें जानना
एक बार आप किसी ट्रिप पर निकलते हैं तो आप बाहर के लोगों और वहां के बारे में जानना शुरु करते है. आप उस जगह जाते हैं जहां आप पहले नहीं गए हों. इससे आपको उस जगह के बारे में, वहां के खाने के बारे में ऐसी बातें पता चलती हैं जिसे सुनकर आपको खुशी महसूस होगी. किसी बीच पर बैठकर सूरज को डूबते हुए देखने का अपना अलग ही मजा है.

First Published : 16 Jan 2020, 09:02:50 AM

For all the Latest Lifestyle News, Travel News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.