News Nation Logo
Banner

हॉलीडे पर आप आउटिंग का प्‍लान कर रहे हैं तो जान लें राज्‍यों की ओर से लागू किए गए नियम

कोरोना वायरस के चलते पर्यटन सेक्‍टर तबाह हो गया है. लॉकडाउन में पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लाखों लोग बेराजगार हो गए, कइयों के धंधे चौपट हो गए. अब पर्यटन क्षेत्र को ऑक्‍सीजन देने के लिए कई राज्‍य सरकारों ने प्‍लान बनाए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 28 Sep 2020, 03:41:34 PM
holiday

हॉलीडे पर आप आउटिंग का प्‍लान कर रहे हैं तो जान लें ये नियम (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते पर्यटन सेक्‍टर तबाह हो गया है. लॉकडाउन (Lockdown) में पर्यटन क्षेत्र (Tourism Sector) से जुड़े लाखों लोग बेराजगार हो गए, कइयों के धंधे चौपट हो गए. अब पर्यटन क्षेत्र को ऑक्‍सीजन देने के लिए कई राज्‍य सरकारों (State Governments) ने प्‍लान बनाए हैं. कई राज्‍यों की सरकारों ने पर्यटन के लिए बंदिशों को खत्‍म कर दिया है और नई गाइडलाइंस (Corona Guidelines) जारी की है, ताकि इस सेक्‍टर में जान फूंकी जा सके. अगर आप आउटिंग पर जा रहे हैं तो आरोग्य सेतु ऐप (Aarogya Setu App) डाउनलोड करना जरूरी है. मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करना भी अनिवार्य है. अगर आप छुट्टियों में आउटिंग पर जाने का प्‍लान बना रहे हैं तो आपको राज्‍यों की ओर से जारी गाइडलाइंस को ध्‍यान से पढ़ना चाहिए.

आंध्र प्रदेश में राज्‍य सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार, पड़ोसी राज्‍यों से आने वाले लोगों के लिए 14 दिनों का होम क्वारंटीन का पालन करना जरूरी होगा. हालांकि राज्‍य में अंतरराज्यीय (इंटरस्टेट) यात्रा को लेकर कोई बंदिश नहीं है.

अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश करने वाले यात्रियों को राज्य के चेक गेट और हेलीपैड पर रैपिड एंटीजन टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया गया है. राज्‍य में गया कोई व्‍यक्‍ति कोरोना पॉजीटिव पाया गया तो 14 दिनों का होम या इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में रहना होगा. राज्य के भीतर यात्रा करने की कोई मनाही नहीं है.

असम की बात करें तो वहां भी यात्रा पर कोई प्रतिबंध नहीं है लेकिन 96 घंटे में राज्य लौटने वाले लोगों को एंटीजन टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया गया है. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर 10 दिनों तक क्वारंटीन में रहना अनिवार्य कर दिया गया है.

छत्तीसगढ़ में किसी तरह की ई-पास की जरूरत नहीं है लेकिन दूसरे राज्य से आने वाले यात्रियों के लिए 14 दिनों का क्वारंटीन में रहना जरूरी है. राज्‍य की राजधानी रायपुर सहित कई जिलों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है.

गोवा में अन्‍य राज्यों से आने वालों के लिए कोरोना टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है. वहां यात्रियों को ई-पास, Covid निगेटिव रिपोर्ट लाना भी अनिवार्य नहीं है. राज्‍य में बार खुल गए हैं लेकिन सुरक्षा के सभी दिशानिर्देशों का पालन करना ग्राहकों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है. हालांकि गोवा में अभी बीच शैक्स और कैसिनो बंद रखे गए हैं.

गुजरात की बात करें तो वहां अहमदाबाद, भावनगर, पोरबंदर हवाई अड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है. क्वारंटीन की अनिवार्यता खत्‍म कर दी गई है. अहमदाबाद और सूरत में 50 फीसदी यात्रियों को लेकर ही बसें चलाई जा रही हैं. अन्‍य शहरों में बसें 60 फीसदी यात्री क्षमता के साथ चल रही हैं.

हिमाचल प्रदेश में अभी इंटरस्टेट बस सेवा निलंबित रखी गई है. किन्नौर और स्पीति वैली में अक्टूबर के अंत तक पर्यटन संबंधी सभी गतिविधियां बंद रहेंगी. टूरिस्ट अब हाईवे पर नहीं, निर्धारित जगह पर ही रुकेंगे.

झारखंड में अंतरराज्यीय बस सेवाएं बंद हैं. होटल, लॉज, रेस्टोरेंट फिर से खुलने लगे हैं. झारखंड जाने वालों के लिए सरकारी वेबसाइट www.jharkhandtravel.nic.in पर अपना व्यक्तिगत विवरण दर्ज कराना अनिवार्य किया गया है.

जम्मू-कश्मीर जाने वाले पर्यटकों को Covid-19 एंटीजन टेस्ट कराना जरूरी है. हवाई/रेल यात्रियों को 14 दिनों के होम क्वारंटीन में रहना होगा. अगर आप सड़क मार्ग से यात्रा कर रहे हैं तो प्रशासनिक क्वारंटीन नियमों का पालन करना जरूरी होगा, जब तक कि रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ जाती.

कर्नाटक में अन्‍य राज्‍यों से जा रहे यात्रियों के लिए 14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहना जरूरी नहीं है. वहां पर्यटकों के लिए सेवा सिंधु पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना भी अब अनिवार्य नहीं है.

केरल सरकार ने पर्यटकों को जगराता पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य कर दिया है. पंजीकरण के साथ ही राज्‍य में प्रवेश स्‍वतः स्वीकृति मिल जाएगी. विदेश से आने वालों को 14 दिनों के होम क्वारंटीन में रहना जरूरी है.

महाराष्ट्र सरकार ने अंतरराज्यीय यात्रा पर प्रतिबंध लगाया हुआ है. हालांकि अगर आप महाराष्‍ट्र के निवासी हैं तो राज्‍य में कहीं भी आ-जा सकते हैं. पश्चिम बंगाल की बात करें तो वहां उड़ानों पर प्रतिबंध है और केवल विशेष ट्रेन से आने की स्‍वीकृति है.

सिक्किम में होटल, और पर्यटन संबंधित अन्य सेवाएं 10 अक्टूबर से बहाल होंगी. 27 सितंबर से होटल और होमस्टे के लिए बुकिंग शुरू हो गई है. वहीं मिजोरम में केवल सोमवार, गुरुवार और शनिवार को फ्लाइट की सुविधा दी गई है. रात 8.30 बजे से सुबह 4.30 बजे तक अब भी कर्फ्यू जारी रहेगा.

राजस्थान में यात्रियों को आने की अनुमति है. हालांकि राज्‍य के 11 से अधिक जिलों में जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा, बीकानेर, उदयपुर, सीकर, पाली और नागौर में धारा 144 लगी हुई है. कैब, बस, ऑटोरिक्शा आदि वाहन चल रहे हैं लेकिन जरूरत से अधिक यात्री वाहनों में नहीं बैठ सकते.

तमिलनाडु में दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए ई-पास अब भी अनिवार्य किया गया है. क्लब, होटल और रिसॉर्ट्स जरूरी नियमों का पालन करने की शर्त पर खोलने शुरू हो गए हैं. चेन्नई हवाईअड्डे पर रोजाना 50 फ्लाइट्स आने की अनुमति दी गई है.

उत्तर प्रदेश में एयरपोर्ट पर यात्रियों का थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है. 14 दिनों का क्वारंटीन का नियम भी अब जारी है. सात दिनों के भीतर अगर आप वापस जाना चाहते हैं तो क्वारंटीन में रहना अनिवार्य नहीं होगा.

उत्तराखंड में बाहर से आए पर्यटकों के लिए www.smartcitydehonto.uk.gov.in पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा. राज्य में दो दिवसीय बुकिंग की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है. Covid-19 की निगेटिव रिपोर्ट भी दिखाना अब जरूरी नहीं रह गया है. सभी बॉर्डर चेकपोस्ट, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बॉर्डर डिस्ट्रिक्ट बस स्टैंड पर थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है.

First Published : 28 Sep 2020, 03:41:34 PM

For all the Latest Lifestyle News, Travel News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.