News Nation Logo
Banner

भूटान की ट्रिप प्लान करने से पहले जानें वहां से जुड़ी सभी जानकारी

भूटान GDP यानी ग्रॉस डोमेस्टिक प्रॉडक्ट की जगह GNH ग्रॉस नैशनल हैपीनेस पर जोर देता है.

By : Akanksha Tiwari | Updated on: 27 Apr 2019, 03:03:30 PM
भूटान (फाइल फोटो)

भूटान (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्राकृतिक खूबसूरती और शांति देखना हो तो आप भूटान (Bhutan) घूमने जाएं यहां की इन खासियत की वजह से टूरिस्ट भूटान घूमना पसंद करते हैं. भारत के लोगों के लिए भूटान जाने के लिए ना ही वीजा की जरूरत होती है ना ही किसी तरह का अतिरिक्त टैक्स देना पड़ता है. अगर आप शहर के प्रदूषण से परेशान हो चुके हैं तो भूटान जाइए क्योंकि यहां आपको सबसे शुद्ध हवा मिलेगी. भूटान, दुनिया का पहला और एकमात्र कार्बन नेगेटिव देश है.

भूटान GDP यानी ग्रॉस डोमेस्टिक प्रॉडक्ट की जगह GNH ग्रॉस नैशनल हैपीनेस पर जोर देता है. इस देश में पैसों से ज्यादा खुशियों को अहमियत दी जाती है.

यह भी पढ़ें- गर्मियों की छुट्टी में जाएं अंडमान, यहां है पूरी जानकारी

भूटान हवाई मार्ग से कैसे पहुंचें

भूटान में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पारो में है जो भूटान की राजधानी थिंपू से 50 किलोमीटर दूर है. पारो के लिए मुंबई, दिल्ली, कोलकाता से सीधी फ्लाइट्स जाती हैं लेकिन इनकी संख्या कम है. फ्लाइट की उपलब्धता देखकर ही अपनी जाने और आने की ट्रिप प्लान करें.

भूटान सड़क मार्ग से कैसे पहुंचें 

सड़क मार्ग के जरिए पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी से भूटान के बॉर्डर पहुंचने में 4 से 5 घंटे का वक्त लगता है. भूटान के बॉर्डर से राजधानी थिंपू पहुंचने में 5-6 घंटे का वक्त और लगता है हालांकि आप अपनी कार से भी भूटान जा सकते हैं जिसके लिए आपको भूटान के बॉर्डर पर परमिट लेने की जरूरत होगी.

यह भी पढ़ें- ट्रैवलिंग के दौरान अपने बैग में जरूर रखें ये समान, सफर हो जाएगा आसान

भूटान जाने का बेस्ट टाइम

भूटान जाने का बेस्ट समय अप्रैल से जुलाई और सितंबर से नवंबर के बीच है. इस दौरान भूटान में शेचू फेस्टिवल (Tsechu) जिसे फेस्टिवल ऑफ डांसेज भी कहते हैं का आयोजन होता है. वैसे लोग जो ट्रेकिंग में दिलचस्पी रखते हैं. उन्हें मार्च से मई महीने के बीच भूटान जाना चाहिए.

भूटान जाने के लिए डॉक्यूमेंट्स

यह भी पढ़ें- इन गर्मियों में घूमने का बना रहे हैं प्लान तो जाएं नार्थ ईस्ट, यहां है पूरी जानकारी

भारत के नागरिकों को भूटान जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं होती इसलिए पासपोर्ट साथ रखना जरूर नहीं है. वोटर आईडी कार्ड और आधार कार्ड से भी आपका काम चल जाएगा. भूटान की बॉर्डर पार करते वक्त एक एंट्री परमिट दिया जाता है.

भूटान जाने के लिए करेंसी
भूटान की लोकल करंसी गलट्रम Bhutanese Ngultrum है जो भारतीय रुपये के बराबर ही है. भारत का रुपया भी भूटान में आसानी से चल जाता है. लिहाजा भूटान जाने से पहले आपको अपनी करंसी बदलवाने की जरूरत नहीं है.

First Published : 27 Apr 2019, 03:03:23 PM

For all the Latest Lifestyle News, Travel News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो