News Nation Logo
Banner

International Friendship Day 2020: कोरोना के कहर के बीच ऐसे निभाएं दोस्ती, अपनाएं ये टिप्स

कोरोना के कहर ने लोगों के बीच लंबी दूरी बना दी है. लोग एक दूसरे से पहले के जैसे हिल मिल नहीं रहे हैं. सभी को संक्रमण का खतरा रहता है. आज इंटरनेशनल फ्राइंडशिप डे है. कोरोना काल में कैसे दोस्तों के साथ दोस्ती निभाएं ये बेहद जरूरी है. बीमारी से बचना भी

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 30 Jul 2020, 05:07:57 PM
friendship

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोरोना के कहर ने लोगों के बीच लंबी दूरी बना दी है. लोग एक दूसरे से पहले के जैसे हिल मिल नहीं रहे हैं. सभी को संक्रमण का खतरा रहता है. आज इंटरनेशनल फ्राइंडशिप डे है. कोरोना काल में कैसे दोस्तों के साथ दोस्ती निभाएं ये बेहद जरूरी है. बीमारी से बचना भी है और दोस्ती भी निभानी है. अब ना तो दोस्तों के साथ पार्टियां हो रही हैं और ना ही मस्ती. सिर्फ वीडियो कॉलिंग पर दोस्ती सिमट के रह गई है. ना दोस्तों के घर जाना और ना ही दोस्तों का आना. पूरी दुनिया वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) पर सीमित होकर रह गई है.

यह भी पढ़ें- अदालत ने यूजीसी के परीक्षा संबंधी दिशा-निर्देशों के खिलाफ याचिका वापस लेने की अनुमति दी

1. कोरोना के चलते लोग न तो जादू की झप्पी दे पा रहे हैं और न ही हाथ मिला पा रहे हैं. सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनना और बार-बार हैंड वॉश करने पर जोर दिया जा रहा है. आज आपको बता रहे हैं कोरोना काल में जोस्तों से जुड़े रहने का सही तरीका.

2. जब तक कोरोना का कोई कारगर इलाज नहीं आ जाता तबतक हमें कोरोना के साथ जीना होगा. ऐसे में फिलहाल फोन कॉल, टेक्सट मैसेज, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ही दोस्तों को आपस में जोड़े रखने का सही तरीका है.

3. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत जरूरी है, जिससे ना सिर्फ आप बल्कि आपके दोस्त भी सुरक्षित रहेंगे.

4. दोस्ती से पहले अपनी और अपने फैमिली की सुरक्षा को प्राथमिकता दें. आप सुरक्षित रहेंगे तभी आपके दोस्त भी सुरक्षित रहेंगे.
इस खास अवसर पर दोस्तों से मिलें. कोशिश करें कि दूर रहकर ही इस दिन को सेलिब्रेट किया जा सके.

5. हाथों को बार-बार सैनिटाइज करें और मास्क पहन कर मिलें.

6. आप जहां अपने दोस्तों से मिल रहे हैं, सुनिश्चित कर लें कि वहां कोरोना के मामले की क्या स्थिति है. अगर स्थिति खतरनाक है तो वहां ना जाएं.

7. दोस्तों से जुड़े रहने के लिए दिन में एक-दो बार कॉल करके उनके स्वास्थ्य के बारे में जरूर पूछ लें.

8. सोशल मीडिया ग्रुप में अपने दोस्तों को जोड़ कर उनकी दुख तकलीफों और मानसिक तनाव का कारण जानने की कोशिश करें और संभव हो तो मिल कर समाधान निकालें.

First Published : 30 Jul 2020, 05:04:19 PM

For all the Latest Lifestyle News, Relationship News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×