News Nation Logo
Banner

Chanakya Niti: वैवाहिक रिश्ते को मजबूती देती हैं ये 4 बातें

चाणक्य कहते हैं कि पति-पत्नी के रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी होता है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 28 Mar 2021, 09:44:55 AM
Chanakya

चाणक्य नीति में जीवन को सफल बनाने की संदेश निहित है. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • वैवाहिक जीवन की सफलता छोटी-छोटी बातों पर करती है निर्भर
  • पति-पत्नी के रिश्ते में आदर व सम्मान की भावना होना जरूरी
  • पति-पत्नी के रिश्ते में विश्वास होना भी बेहद जरूरी है

नई दिल्ली:

आचार्य चाणक्य (Chanakya) ने अपनी नीतियों में जीवन के हर चरण और स्थिति के लिए कुछ न कुछ बताया जरूर है. आज के भागम-भाग भरे जीवन में या कहें कि भौतिकता की अंधी दौड़ में अगर कोई संबंध सबसे अधिक दबाव में है तो वह है वैवाहिक जीवन (Married Life). इसे समझते हुए चाणक्य नीति में भी वैवाहिक जीवन से जुड़ी कई समस्याओं का हल बताया गया है. चाणक्य कहते हैं कि पति-पत्नी के रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी होता है. पति-पत्नी की इन बातों से वैवाहिक जीवन सुखमय और खुशहाल होता है. चाणक्य कहते हैं कि सुखद वैवाहिक जीवन किसी तोहफे से कम नहीं होता. एक सफल सुखी वैवाहिक जीवन वाला व्यक्ति हर समय मानसिक तनाव (Tension) से दूर रहता है. जानिए सुखी वैवाहिक जीवन के लिए किन बातों का रखना चाहिए ध्यान चाणक्य नीति के लिहाज से...

परस्पर भरोसा
किसी भी रिश्ते में विश्वास की नींव उसे मजबूती देती है. वैवाहिक जीवन के लिए यह बात तो और भी महत्वपूर्ण हो जाती है. चाणक्य कहते हैं कि पति-पत्नी के रिश्ते में विश्वास होना बेहद जरूरी है. रिश्ते की डोर भरोसे की नींव पर टिकी होती है. इसलिए रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए विश्वास बनाए रखना जरूरी है. पति-पत्नी के रिश्ते में भरोसा रिश्ते की मजबूती का अहम आधार है.

यह भी पढ़ेंः चाणक्य नीति: ऐसे इंसानों को भूल जाना ही बेहतर, बातों पर निर्भर करता है रिश्ता 

बातचीत
चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति को व्यापारिक या निजी, दोनों ही संवाद मधुरता के साथ करने चाहिए. कटु बातों से गलतफहमियां पैदा होती है, जिसके कारण रिश्ते में खटास आती है. ठीक इसी तरह पति-पत्नी को रिश्ते में मजबूती लाने के लिए मधुर संवाद का होना जरूरी होता है.

समर्पण की भावना
चाणक्य के अनुसार, सुखद वैवाहिक जीवन के लिए समर्पण की भावना होना जरूरी है. पति-पत्नी का रिश्ता जितना मजबूत होता है, उतना ही नाजुक होता है. यह रिश्ता दो लोगों को जीवनभर जोड़कर रखता है. इसलिए इस रिश्ते में समर्पण की भावना होना अनिवार्य है. समर्पण की भावना न होने पर रिश्ते में खटास आने लगती है.

यह भी पढ़ेंः Chanakya Niti: चाणक्य नीति की इन 10 बातों को अपनाएं, जीवन में कभी नहीं होगी हार 

आदर व सम्मान की भावना
चाणक्य कहते हैं कि पति-पत्नी के रिश्ते में आदर व सम्मान की भावना होना जरूरी है. समर्पण, आदर व सम्मान की भावना से ही दो लोगों के बीच प्यार बढ़ता है. हमेशा ध्यान रखें कि पत्नी को इसीलिए आधी दुनिया कहा जाता है.  

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 28 Mar 2021, 09:22:05 AM

For all the Latest Lifestyle News, Relationship News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो