News Nation Logo

35 फीसदी वर्किंग महिलाएं नहीं चाहती है दूसरा बच्चा: एसोचैम

एक सर्वे के अनुसार देश में शहरी क्षेत्र की 35 फीसदी कामकाजी माएं दूसरा बच्चा नहीं चाहती हैं।

IANS | Updated on: 12 May 2017, 10:38:38 PM
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

एक सर्वे में शुक्रवार को खुलासा किया गया कि देश में शहरी क्षेत्र की 35 फीसदी कामकाजी माएं दूसरा बच्चा नहीं चाहती हैं। इसकी वजह बच्चों के ज्यादा समय देने की जरूरत और दूसरे खर्चो को माना गया है। यह सर्वे 1500 कामकाजी माताओं पर किया गया।

मदर्स डे (14 मई) से पहले औद्योगिक संगठन एसोचैम की सामाजिक विकास शाखा द्वारा किए गए सर्वेक्षण में कहा गया, 'आधुनिक विवाह के तनाव, रोजगार के दबाव और बच्चों को पालने में होने वाले खर्च की वजह से कई माताएं पहले बच्चे के बाद दूसरा बच्चा नहीं चाहती हैं और अपने परिवार को नहीं बढ़ाने का फैसला करती हैं।'

इसे भी पढ़े: मां डायना की मौत के सदमे से 20 साल तक डिप्रेशन में रहे प्रिंस हैरी, मनोचिकित्सक और बॉक्सिंग ने दिया सहारा

सर्वे 10 शहरों में किया गया। इसमें अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली-एनसीआर, हैदराबाद, इंदौर, कोलकाता, जयपुर, लखनऊ और मुंबई शामिल हैं। इसमें बीते एक महीने में कामकाजी माताओं ने अपने बच्चों को कितना समय दिया, उनकी दूसरे बच्चे के होने या नहीं होने की योजनाएं और इसके कारणों के बारे में पूछा गया।

करीब 500 प्रतिभागियों ने कहा कि वे दूसरा बच्चा नहीं चाहतीं। कई ने कहा कि दूसरा मातृत्व अवकाश लेने से उनकी नौकरी/पदोन्नति खतरे में पड़ने की आशंका के कारण वे दूसरे बच्चे को लेकर हिचकती हैं।

किसी एक बच्चे के प्रति झुकाव एक दूसरा महत्वपूर्ण कारण रहा जिसके कारण कई प्रतिभागियों ने कहा कि वे दूसरा बच्चा नहीं चाहतीं ताकि उनका ध्यान नहीं बंटे। कइयों ने कहा कि वे बच्चा या बच्ची के लिंग के आधार पर भी इस बारे में फैसला करती हैं।

अधिकांश प्रतिभागियों ने कहा कि एक ही बच्चा होने की सोच से उनके पति सहमत नहीं होते।

इसे भी पढ़ें: कैंसर पर बोली अभिनेत्री मनीषा कोइराला, 'कीमोथेरेपी के बाद हो गई थी एलियन जैसी'

करीब दो तिहाई (65 फीसदी) ने साथ ही यह भी कहा कि वे नहीं चाहतीं कि उनकी औलाद एकाकी जीवन जिए और वह चीजों को दूसरों के साथ बांटने की खुशी, अपने छोटे-भाई बहन से स्नेह की खुशी से वंचित रहे। लेकिन, जीवन की अन्य जरूरतें और स्थितियां उनकी इस चाह के रास्ते में बाधक बन जाती हैं।

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 May 2017, 10:17:00 PM

For all the Latest Lifestyle News, Relationship News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Mother’s Day 2017