News Nation Logo

बालों का झड़ना कम करने के लिए उपयोगी योगासन

क्या आप भी हैं बालों के झड़ने से परेशान? आइये आज करते हैं हम इनका उपाय. यूँ तो लोग बहुत से नुस्खें आजमाते हैं कभी दही, तो कभी निम्बू और पता नहीं क्या- क्या.

News Nation Bureau | Edited By : Radha Agrawal | Updated on: 25 Sep 2021, 02:40:39 PM
Hairfall loss

Hairfall loss (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:

क्या आप भी हैं बालों के झड़ने से परेशान? आइये आज करते हैं हम इनका उपाय. यूँ तो लोग बहुत से नुस्खें आजमाते हैं कभी दही, तो कभी निम्बू और  पता नहीं क्या- क्या. लकिन आप चिंता बिलकुल न करें क्यूंकि हम आपको एक सबसे बेहतरीन तरीका बताने वाले हैं, जो आपने सोचा भी नहीं होगा. आपको बता दे की ये बेहतरीन तरीका है 'योग'. योग न केवल तनाव के स्तर को कम करने में मदद करता है बल्कि आपकी खोपड़ी में रक्त के संचार को भी सुधरता हैं. अपने बालों के झड़ने पर नींद खोना और सोच रहे हैं कि आपके तेजी से घटते बालों के पीछे क्या कारण हो सकता है? आपके बालों के झड़ने के कई कारण हो सकते हैं जैसे हार्मोनल असंतुलन, आनुवंशिक कारक, गर्भावस्था, पोषण की कमी, वायरल संक्रमण या कोविड -19 से हाल ही में ठीक होना. इसके अलावा, तनाव बालों के झड़ने के प्राथमिक कारणों में से एक है. 

यह भी पढ़ें: इन तरह से बनाएंगे टेस्टी स्प्रिंग रोल, बच्चों को बार-बार खाने की लग जाएगी चुल

यह आपके जीवन में तनावपूर्ण समय के कारण हो सकता है या ऐसा कुछ हो सकता है जिससे आपका शरीर किसी संक्रमण या बीमारी के बाद गुजर रहा हो. इस तरह के बालों के झड़ने को Telogen effuvium कहा जाता है. एंड्रोजेनिक खालित्य बालों के झड़ने का सबसे आम कारण बना हुआ है जिसका मतलब है कि बालों का झड़ना आपके जीन में है और उम्र के साथ आपके रोम छिद्र सिकुड़ सकते हैं. जिससे की आपके बाल पतले होने शुरू हो जाते हैं. 

जहां बालों के झड़ने को रोकने के लिए बाजार में कई उत्पाद उपलब्ध हैं, वहीं सही आहार खाने से आपके बालों के स्वास्थ्य में प्रमुख योगदान हो सकता है. जहां प्रोटीन बालों के विकास के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है, वहीं विटामिन बी 5 तनाव हार्मोन के स्तर को कम करने में प्रभावी है. आहार के अलावा, योग, ध्यान और अन्य विश्राम अभ्यास तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं. प्रसिद्ध योगी  कहते हैं, "तनाव से न केवल बाल झड़ते हैं, बल्कि समय से पहले सफेद होना, बालों का पतला होना और धीमी वृद्धि भी होने लगती हैं. योग से कोई भी स्वस्थ बालों का आनंद ले सकता है. योग न केवल स्वस्थ और चमकदार दिखने वाले बालों को प्राप्त करने में मदद करता है बल्कि आपको चमकदार भी बनाता है."

बालों के झड़ने को रोकने के लिए बड़े एक्सपर्ट्स का कहना हैं कि अगर आप इन चुनिंदा असानो को करलें तो आपके बाल खुद ही झड़ने बंद हो जायेंगे.

 हलासन (हल मुद्रा)

अपने शरीर को सीधा रखें और हथेलियों के साथ अपनी पीठ के बल लेटें. अपनी हथेलियों को फर्श पर दबाएं और अपने पैरों को ऊपर उठाये. जरूरत पड़ने पर पीठ को सहारा देने के लिए अपनी हथेलियों का इस्तेमाल करें। आसन को कुछ देर रुकें. आसन थायरॉयड ग्रंथि और रक्त परिसंचरण के कार्य में सुधार करता है. लेकिन यहाँ एक चेतावनी है: यदि आपको लूम्बेगो, गर्दन में दर्द, स्पॉन्डिलाइटिस और उच्च रक्तचाप है, तो इस आसन का अभ्यास करने से बचें.   

शीर्षासन (शीर्षासन)

वज्रासन से शुरू करें। अपनी कोहनियों को जमीन पर रखें और अपनी हथेलियों को आपस में गूंथ लें. अपनी हथेलियों और कोहनियों से फर्श पर एक त्रिकोण बनाने की कोसिस करें.  अपने सिर के शीर्ष को अपनी हथेलियों के आगे फर्श पर रखें. अपनी हथेलियों से अपने सिर के पिछले हिस्से को सहारा दें. अपने पैर की उंगलियों को अपने सिर की ओर तब तक चलाएं जब तक कि आपकी पीठ सीधी न हो जाए. पहले किसी एक पैर को ऊपर उठाएं और फिर धीरे-धीरे दूसरे पैर को ऊपर उठाएं. अपने पैरों को मिलाएं और अपने पैर की उंगलियों को नीचे करें. जब तक आप सहज हों तब तक इस स्थिति में रहें. उल्टा आसन स्कैल्प में रक्त के प्रवाह को बढ़ावा देता है जो बालों के विकास में मदद करता है. गर्दन में दर्द, स्पॉन्डिलाइटिस या उच्च रक्तचाप की स्थिति में इस मुद्रा का अभ्यास न करें.

सर्वांगासन (कंधे स्टैंड)

अपनी पीठ के बल लेट जाएं और अपने श्रोणि को धीरे-धीरे ऊपर उठाते हुए अपने पैरों को फर्श से उठाएं. अपनी हथेलियों से अपनी पीठ को सहारा दें. कंधे, धड़, श्रोणि, पैर और पैरों को संरेखित करें. सर्वांगासन पूरे शरीर में रक्त प्रवाह में सुधार करता है और आमतौर पर योग सत्र के अंत में इसका अभ्यास किया जाता है. कलाई, गर्दन या कंधे की समस्या वाले लोगों को इस आसन को करने से बचना चाहिए. मासिक धर्म या गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को इस आसन से बचना चाहिए.  इसके अलावा, यदि आप बढ़े हुए थायरॉयड, यकृत या प्लीहा, ग्रीवा स्पॉन्डिलाइटिस, स्लिप डिस्क और उच्च रक्तचाप या अन्य हृदय रोगों से पीड़ित हैं, तो आपको यह आसन नहीं करना चाहिए.

पादहस्तासन (आगे की ओर झुकना)

इस आसन को शुरू करने के लिए पहले आप सीधे खड़े हो जाएं. साँस छोड़ते हुए अपने ऊपरी शरीर को आगे की ओर मोड़ें. अपना सिर नीचे करें और अपने कंधों और गर्दन को आराम दें. अगर आप शुरुआत कर रहे हैं तो अपने घुटनों को थोड़ा मोड़ लें. हथेलियों को अपने पैरों के पास रखें. इस आसन को करते समय कुछ देर रुकें. आसन आपके शरीर को ऊर्जा देता है और तनाव को भी कम करता है. यह रक्त प्रवाह को बेहतर बनाने में भी मदद करता है.

काकासन (कौवा मुद्रा)

झुकें और अपनी हथेलियों को अपने पैरों के सामने थोड़ा सा सपाट रखें. अपनी कोहनियों को थोड़ा मोड़ें और अपने घुटनों को बाहर की ओर रखें. अपनी पीठ को फर्श के समानांतर रखें. ऊपर और आगे देखें. आगे झुकें ताकि आपके शरीर का वजन आपकी बाहों में आ जाए. संतुलन बनाएं और धीरे-धीरे अपने दोनों पैरों को जमीन से ऊपर उठाएं. यह आसन आपके तनाव को दूर करने और ऊपरी शरीर को मजबूत करने में मदद करता है. कलाई, गर्दन या कंधे की समस्या होने पर आसन से बचें.

First Published : 25 Sep 2021, 02:40:39 PM

For all the Latest Lifestyle News, Others News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Hair Loss

वीडियो