logo-image
लोकसभा चुनाव

Habits Of Children: बच्चों की ये 10 आदतें उन्हें बिगाड़ देती है, माता-पिता हो जाएं सावधान 

Habits Of Children: बच्चों की आदतों का उन पर प्रभाव बहुत महत्वपूर्ण होता है. बच्चों की आदतें उनके व्यक्तित्व, सोच और व्यवहार को आकार देती हैं.

Updated on: 22 Mar 2024, 02:01 PM

नई दिल्ली:

Habits Of Children: बच्चों की आदतों का उन पर प्रभाव बहुत महत्वपूर्ण होता है. बच्चों की आदतें उनके व्यक्तित्व, सोच, और व्यवहार को निर्मित करती हैं. इन आदतों का अध्ययन करके बच्चों को सविता जा सकता है. सकारात्मक आदतें जैसे कि नियमित पढ़ाई करना, स्वस्थ खाने की आदत डालना, और समय पर सोना, उन्हें अधिक सफल और संतुलित बनाती है. वे स्वस्थ और सकारात्मक विकास के लिए महत्वपूर्ण होती हैं. विपरीत, नकारात्मक आदतें जैसे कि ज्यादा टीवी देखना, जंक फ़ूड का सेवन करना, और नियमित व्यायाम न करना, उनके स्वास्थ्य और विकास को प्रभावित कर सकती हैं. ऐसी आदतें उन्हें अस्वस्थ और असमर्थ बना सकती हैं. बच्चों की आदतों का अध्ययन करके उन्हें सही दिशा में निर्देशित किया जा सकता है. प्रेरणादायक और सकारात्मक आदतें उन्हें अच्छे नागरिक बनाती हैं, जबकि नकारात्मक आदतें उनके प्रति लापरवाही और असहयोगी बना सकती हैं.

जिद करना: यदि बच्चे हर बात पर जिद करते हैं और उनकी हर मांग पूरी होती है, तो वे बिगड़ जाते हैं. उन्हें यह सीखने की आवश्यकता है कि वे हमेशा वह नहीं पा सकते जो वे चाहते हैं.

झूठ बोलना: यदि बच्चे झूठ बोलने के लिए स्वीकार किए जाते हैं, तो वे इसे एक स्वीकार्य व्यवहार के रूप में सीखते हैं. उन्हें सच बोलने के महत्व को सिखाना महत्वपूर्ण है.

गुस्सा करना: यदि बच्चे गुस्सा करने पर अपनी बात मनवा लेते हैं, तो वे इसे अपना हथियार बना लेते हैं. उन्हें शांत रहने और अपनी बातचीत करने का तरीका सिखाना महत्वपूर्ण है.

अपना काम टालना: यदि बच्चे अपना काम टालने की आदत डाल लेते हैं, तो वे जिम्मेदार नहीं बन पाते. उन्हें समय पर अपना काम करने का महत्व सिखाना महत्वपूर्ण है.

दूसरों का अपमान करना: यदि बच्चे दूसरों का अपमान करते हैं, तो उन्हें सिखाना महत्वपूर्ण है कि यह स्वीकार्य नहीं है. उन्हें दूसरों के प्रति सम्मानजनक व्यवहार करना सिखाएं.

बिना अनुमति के चीजें लेना: यदि बच्चे बिना अनुमति के चीजें लेते हैं, तो उन्हें सिखाना महत्वपूर्ण है कि यह चोरी है. उन्हें दूसरों की चीजों का सम्मान करना सिखाएं.

माता-पिता का अनादर करना: यदि बच्चे अपने माता-पिता का अनादर करते हैं, तो उन्हें सिखाना महत्वपूर्ण है कि यह स्वीकार्य नहीं है. उन्हें माता-पिता का सम्मान करना और उनकी बात मानना ​​सिखाएं.

झूठे बहाने बनाना: यदि बच्चे झूठे बहाने बनाते हैं, तो उन्हें सिखाना महत्वपूर्ण है कि यह स्वीकार्य नहीं है. उन्हें सच बोलने और अपनी जिम्मेदारी लेने का महत्व सिखाएं.

बहुत ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग करना: यदि बच्चे बहुत ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग करते हैं, तो वे सामाजिक रूप से अजीब और अकेले हो सकते हैं. उन्हें बाहर खेलने और अन्य बच्चों के साथ बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित करें.

बहुत ज्यादा मांग करना: यदि बच्चे बहुत ज्यादा मांग करते हैं, तो वे कभी भी संतुष्ट नहीं होते हैं. उन्हें यह सिखाना महत्वपूर्ण है कि वे हमेशा वह नहीं पा सकते जो वे चाहते हैं, और उन्हें जो कुछ भी मिलता है उसके लिए आभारी रहना चाहिए.

हर बच्चा अलग होता है और अलग-अलग तरीकों से सीखता है. इन आदतों को बदलने के लिए धैर्य और लगन की आवश्यकता होती है. माता-पिता को अपने बच्चों के साथ प्यार और सम्मान से बातचीत करनी चाहिए और उन्हें सही और गलत के बीच अंतर सिखाना चाहिए.

Read Also: Happy Holi 2024 Wishes: होली के दिन अपनों के भेजें ये शुभकामनाएं, पढ़ते ही आ जाएगी चेहरे पर मुस्कान