News Nation Logo

Mother's Day 2021: इस दिन मनाया जाएगा 'ममता' का त्यौहार, मां को ऐसे फील कराएं स्पेशल

कहते हैं भगवान सबकी रक्षा नहीं कर सकते थे, इसलिए उन्होंने धरती पर मां को बनाया. इस मतलबी दुनिया में मां ही वो शख्स हैं जो अपने बच्चों के लिए कुछ भी कर गुजरती है. मां अपने बच्चों की सारी बलाएं ले लेती हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 07 May 2021, 12:03:29 PM
mother day 10

Mother's Day 2021 (Photo Credit: सांकेतिक चित्र)

नई दिल्ली:

कहते हैं भगवान सबकी रक्षा नहीं कर सकते थे, इसलिए उन्होंने धरती पर मां को बनाया. इस मतलबी दुनिया में मां ही वो शख्स हैं जो अपने बच्चों के लिए कुछ भी कर गुजरती है. मां अपने बच्चों की सारी बलाएं ले लेती हैं. बच्चों को हर तकलीफ और दुखों के घने धूप से मां का आंचल ही बचाता है. अगर आप भी अपने मां की सेवा और प्यार के लिए उन्हें थैंक्स कहना चाहते हैं तो कह दीजिए. 9 मई को पूरी दुनिया में मदर्स डे (Mother's Day 2021) मनाया जाएगा. इस दिन को मनाने के पीछे का महत्व ही यह है कि उनके प्यार के बदले उन्हें सम्मान और शुक्रिया कहा जाए.

और पढ़ें: Mother's Day 2020: 'मदर्स डे' के खास मौके पर अपनी मां के साथ बैठकर जरूर देखें ये फिल्में

मदर्स डे का इतिहास और महत्व-

9 मई 1914 को अमेरिकी प्रेसिडेंट वुड्रो विल्सन ने एक लॉ पास किया था जिसमें लिखा था कि मई महीने के हर दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाएगा. इसके बाद हर साल अमेरिका, भारत और कई देशों में मई महीने के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाने लगा. मदर्स डे मनाने की शुरुआत सबसे पहले अमेरिका से हुई थी. अमेरिकन एक्टिविस्ट एना जार्विस अपनी मां से बहुत प्यार करती थीं. मां की मौत होने के बाद प्यार जताने के लिए उन्होंने इस दिन को मनाने की शुरुआत की. इसके बाद धीरे-धीरे कई देशों में मदर्स डे मनाया जाने लगा.

मां को ऐसे कराएं स्पेशल फील

  • मां को आज किचन से छुट्टी दे दें और खुद खाना पका कर मां को खिलाएं.
  • अपनी मां के साथ डिनर प्लान करें.
  • आज अपनी मां के लिए कुछ खास गिफ्ट लेकर उन्हें दें.
  • आप एक छोटी सी पार्टी भी थ्रो कर सकते हैं.
  • अगर आप दूर हैं तो कुछ ही देर सही लेकिन अपनी मां से थोड़ी देर बात जरुर करें.

मां पर लिखी गई शायरी-

1. शहर में आ कर पढ़ने वाले भूल गए।

किस की माँ ने कितना ज़ेवर बेचा था।।

2. घर लौट के रोएंगे मां बाप अकेले में।

मिट्टी के खिलौने भी सस्ते न थे मेले में।।

3. चलती फिरती हुई आंखों से अज़ां देखी है।

मैंने जन्नत तो नहीं देखी है मां देखी है।।

4. एक लड़का शहर की रौनक़ में सब कुछ भूल जाए।

एक बुढ़िया रोज़ चौखट पर दिया रौशन करें।।

5. शहर में आ कर पढ़ने वाले भूल गए।

किस की माँ ने कितना ज़ेवर बेचा था।।

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 07 May 2021, 11:05:23 AM

For all the Latest Lifestyle News, Others News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.