News Nation Logo
Banner

किडनी फेल हो जाए तो करें ये Ayurvedic इलाज, जल्द पड़ेगा असर

News Nation Bureau | Edited By : Shubhrangi Goyal | Updated on: 13 Sep 2022, 03:29:43 PM
डायलिसिस का इलाज

डायलिसिस का इलाज (Photo Credit: social media)

नई दिल्ली:  

हमारे देश में 10 में से 1 व्यक्ति गंभीर किडनी की बीमारी से प्रभावित है और दुनिया भर में लगभग 850 मिलियन व्यक्तियों को कई कारणों से किडनी की बीमारी होने का अनुमान है. हालांकि किडनी की बीमारी को दूर करना थोड़ा मुश्किल है. इसको लेकर आयुर्वेदिक विशेषज्ञ ने रिसर्च की है,  विशेषज्ञ के मुताबिक, यदि आपको शुरुआत में ही किडनी की समस्या के बारे में पता चल जाए तो आप कुछ उपायों के जरिए इसका इलाज कर सकते हैं.  विशेषज्ञ के अनुसार, यदि आप किसी आयुर्वेदिक विशेषज्ञ के साथ मिलकर काम करते हैं, तो संभावना अच्छी है क्योंकि किडनी की बीमारी के बावजूद भी आप स्वस्थ जीवन का आनंद ले सकते हैं.

किडनी की विफलता के कई कारण हैं, जिनका पालन करने पर, व्यक्ति को गुर्दे की विफलता में देरी करने में मदद मिल सकती है, जिससे डायलिसिस या गुर्दा प्रत्यारोपण होता है. लाइफस्टाइल के साथ एक साक्षात्कार में, डॉ वरुण कौल, वीपी - मेडिकल निदेशालय, ग्लैमायो हेल्थ ने शेयर किया, "क्रोनिक रीनल फेल्योर (सीआरएफ) के रोगियों ने गुर्दे को नुकसान पहुंचाया है जो नमक, अतिरिक्त पानी, यूरिया आदि जैसे अपशिष्ट उत्पादों को छानने में असमर्थ हो जाते हैं. 

जीवन शैली में करना होगा बदलाव

किडनी खराब होने के दो मुख्य कारण डायबेटीज और हाई ब्लेड प्रेशर है. वहीं डॉ पुरु धवन ने खुलासा किया कि डायबेटीज के रोगियों को अपने ब्लड गलूकोज लेवल को एक निर्धारित सीमा में रखने की जरूरत है. साथ ही आयुर्वेदिक मेडिसिन इसमें बहुत कारगार सिद्ध होने वाली है. बता दें लो ब्लड प्रेशर, ब्लड कलोट्स और वेट गेन डायलेसिस के साइड इफेक्ट हैं.किडनी का इलाज हर्बल दवाओं, एक विशेष आहार और जीवन शैली में परिवर्तन के समर्थन से किया जाता है. आयुर्वेद में ऐसी बीमारियों के लिए कोई त्वरित समाधान नहीं है.  गुर्दे की बीमारी जैसी स्थितियों को रोकने या उनका इलाज करने के लिए, आपको पहले अपनी जीवनशैली में सुधार करना होगा. गुर्दे के स्वास्थ्य को बनाए रखने, जीएफआर दरों को बढ़ाने और डायलिसिस को रोकने के विशिष्ट उद्देश्य के लिए कई फॉर्मूलेशन और प्रथाओं की सिफारिश की जाती है. आयुर्वेद स्वस्थ और संतुलित आहार पर जोर देता है, आहार संबंधी विकल्पों में बदलाव करना, अपने पानी का सेवन बढ़ाना और कुछ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का उपयोग करना किडनी के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है. 

First Published : 13 Sep 2022, 03:29:43 PM

For all the Latest Lifestyle News, Others News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.