News Nation Logo
Banner

Janmashtmi 2020: इन आसान तरीकों से घर में ही बनाएं कृष्ण भोग, यहां जानें रेसिपी

हर बार की तरह इस बार भी जन्माष्टमी दो दिन मनाई जा रही है. 11 और 12 अगस्त दोनों दिन जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जा रहा है. लेकिन 12 अगस्त को जन्माष्टमी मानना श्रेष्ठ है. मथुरा और द्वारिका में 12 अगस्त को जन्मोत्सव मनाया जाएगा.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 11 Aug 2020, 11:20:43 AM
krishna bhog pic

Janmashtami 2020 (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

नई दिल्ली:

देश में कई जगह आज कृष्ण जन्माष्टमी मनाया जा रहा है. हर साल जन्माष्टमी बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है खासतौर से कृष्ण नगरी मथुरा में. लेकिन इस बार महामारी कोरोना वायरस के कारण ऐसा हो पाना संभव नहीं है. देवकी पुत्र श्री कृष्णा का जन्मोत्सव इसबार साधारण तरीके से मनाया जाएगा. हर बार की तरह इस बार भी जन्माष्टमी दो दिन मनाई जा रही है. 11 और 12 अगस्त दोनों दिन जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जा रहा है. लेकिन 12 अगस्त को जन्माष्टमी मानना श्रेष्ठ है. मथुरा और द्वारिका में 12 अगस्त को जन्मोत्सव मनाया जाएगा.

नंदलाला के लिए 56 भोग तैयार किया जाता है जो कि 56 प्रकार का होता है. कृष्ण भक्त अपने घर में भी पूजा का भोग तैयार कर सकते हैं. जन्माष्टमी के दिन पंजीरी का भोर चढ़ाने का खास महत्व होता है. तो हम आपको आज आटे की पंजीरी बनाने की रेसिपी बताएंगे.

ये भी पढ़ें: Janmashtami 2020: इस साल अपने करीबियों को भेजे ऐसी प्यारभरी शुभकामनाएं

1. पंजीरी-

पंजीरी बनाने की विधि-

सामाग्री- आटा, घी, चीनी, (चीनी और घी स्वादानुसार डाला जाएगा), मखाना (कटा हुआ)

बनाने की विधि- पंजरी बनाने के लिए आपको गर्म कढ़ाही में घी डालें. इसी पैन में अब मखाने को भूनें और थाली में निकाल लें. इसके बाद एक बार फिर कड़ाही में घी डालें और आटे को धीमी आंच पर सुनहरा होने तक भूनें. इसके बाद इसमें आटा ठंडा होने पर इसमें पिसी हुई चीनी और मखाना मिलाएं. अब आपका भोग तैयार है. आप चाहे तो इस पंजीरी में खरबूजे के बीज और बादाम काजू भी भून कर डाल सकती है. आखिर में पंजीरी के ऊपर तुलसी का पत्ता डालकर भोग तैयार कर मंदिर में रख दें.

2. पंचामृत

जन्‍माष्‍टमी में पंचामृत का विशेष महत्‍व है. यह ऐसा प्रसान है जिससे लड्डू गोपाल को नेहलाया जाता है और उस पंचामृत को प्रसाद की तरह लोग पीते हैं. एक बर्तन में दही लें और अच्‍छे से फेंट लें. फिर इसमें दूध, शहद, गंगाजल और तुलसी डालें. इसके साथ ही इसमें मखाना, गरी, चिरोंजी, किशमिश और छुआरा जैसी मेवा डालें. अंत में थोड़ा सा घी डालें. पंचामृत तैयार हो जाएगा.

3. सफेद मक्खन

बनाने की विधि-

घर पर सफेद मक्खन बनाना बेहद आसान है. मक्खन बनाने के लिए आपको सबसे पहले दूध की मलाई यानी क्रीम को एक बर्तन में कुछ दिनों तक इकट्ठा करना है. आप इस मलाई को फ्रीजर में स्टोर करके रखें. जिस दिन आपको मलाई से मक्खन बनाना हो आप मलाई को कमरे के तापमान में करने के लिए फ्रिज से बाहर निकाल दें. इसके बाद मलाई को एक फूड प्रोसेसर में डालकर चला दें. ऐसा तब तक करें जब तक कि मक्खन और छाछ अलग-अलग न दिखाई देने लगे.मक्खन को लकड़ी के मदानी से भी निकाल सकते हैं.

4. मक्खन मिश्री -

ऐसा कहा जाता है कि कृष्ण को सफेद मक्खन बेहद पसंद था और इसलिए जन्माष्टमी के दिन घरों में साधारण प्रसाद के रूप में मक्खन मिश्री बनाई जाती है, जिसमें ताजा सफेद मक्खन होता है जिसमें चीनी मिलाई जाती है. आप इसे ड्राई फ्रूट्स भी डाल सकते हैं.

5. मखाने की खीर-

खानों को महीन-महीन काट लें और फिर मिक्‍सी में दरदरा पीस ले. अब एक पैन से घी गरम करें उसमें मखानों को एक मिनट के लिए भून लें. फिर उसमें दूध डालकर उबालें। मखाने पूरी तरह गल जएं तो उसमें कटे हुए मेवे को डालें और फिर चीनी डालें. खीर तैयार होने पर उपर से पिसी हुई इलाइची डालें.

First Published : 11 Aug 2020, 11:09:07 AM

For all the Latest Lifestyle News, Food & Recipe News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.