News Nation Logo

मौलाना साद विदेश भागने की फिराक में है, तबलीगी जमात प्रमुख पर लुकआउट सर्कुलर जारी !

क्वारंटीन पीरियड खत्म होने के बाद ही उनसे पूछताछ की जाएगी. हालांकि ऐहितियात बरतते हुए मौलाना विदेश न भाग जाए इसके लिए दिल्ली पुलिस ने लुकआउट (Lookout Notice) सर्कुलर जारी कर दिया है.

By : Nihar Saxena | Updated on: 09 Apr 2020, 10:23:24 AM
Maulana Saad Tablighi Jamaat

विदेश भागने की फिराक में तबलीगी जमात का मौलाना साद. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • मौलाना विदेश न भाग जाए इसके लिए लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया.
  • सूत्रों की जानकारी मिली है कि मौलाना साद जाकिर नगर में छिपे हुए हैं.
  • क्वारंटीन पीरियड खत्म होने के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच करेगी पूछताछ.

नई दिल्ली:

दिल्ली क्राइम ब्रांच (Crime Branch) के दो-दो नोटिस के बाद निजामुद्दीन मरकज (Nijamudin Markaz) के सर्वेसर्वा मौलाना मोहम्मद साद (Maulana Saad) अभी तक सामने नहीं आए हैं. ऐसे में दिल्ली पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी के लिए जाल बिछा दिया है. खुफिया सूत्रों को जानकारी मिली है कि तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के मौलाना साद दिल्ली के ओखला इलाके के जाकिर नगर में छिपे हुए हैं. हालांकि क्राइम ब्रांच फिलहाल मौलाना साद का क्वारंटीन पीरियड खत्म होने का इंतजार कर रही है. इसके बाद ही उनसे पूछताछ की जाएगी. हालांकि ऐहितियात बरतते हुए मौलाना विदेश न भाग जाए इसके लिए दिल्ली पुलिस ने लुकआउट (Lookout Notice) सर्कुलर जारी कर दिया है. मौलाना ने लॉकडाउन को धता बताते हुए कोरोना वायरस (Corona Virus) के खिलाफ तकरीरें की थीं, जिसके ऑडियो वायरल हो गए थे. 

यह भी पढ़ेंः ट्रंप ने फिर कहा पीएम मोदी शानदार शख्स हैं, दवा के निर्यात का भारत का फैसला याद रखेंगे

जाकिर नगर में छिपा है मौलाना साद
प्राप्त जानकारी के मुताबिक तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना मोहम्मद साद की लोकेशन ओखला इलाके के जाकिर नगर बताई जा रही है. क्राइम ब्रांच का कहना है कि उसके पास भी यह सूचना आई है और वह इसकी तस्दीक करा रही है. अगर मौलाना वहां मिल गए तो उन पर निगरानी रखी जाएगी. क्वारंटीन पीरियड पूरा होने के बाद पूछताछ शुरू कर दी जाएगी. जांच एजेंसी की टीम बुधवार को एक बार फिर मरकज के भीतर गई, जिसमें महिला कर्मचारी भी शामिल थीं. टीम ने मरकज के भीतर काफी देर तक छानबीन की. इस दौरान लोकल पुलिस की भी मदद ली गई.

यह भी पढ़ेंः पिछले 24 घंटों में कोरोना के 540 नए मामले, 17 की मौत, कुल आंकड़ा 5700 के पार

31 मार्च से पुलिस कर रही तलाश
निजामुद्दीन स्थित मरकज के मौलाना 31 मार्च को मुकदमा दर्ज होने के बाद से दिल्ली पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहे हैं. उत्तर प्रदेश के शामली स्थित उनके पैतृक निवास कांघला से लेकर सहारनपुर स्थित उनके ससुराल तक पुलिस ने दबिश दी थी. दिल्ली में निजामुद्दीन और जाकिर नगर के घर पर भी उन्हें तलाशा गया था, लेकिन वह जांच एजेंसी के हाथ नहीं लगे. इस मामले में आरोपी बनाए गए उनके छह साथियों के बारे में भी पुलिस को कुछ पता नहीं लग सका है. मौलाना साद की लोकेशन अब जाकिर नगर में किसी रिश्तेदार के घर बताई जा रही है.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में जमाती गार्ड 3 लोगों को कोरोना संक्रमण देकर फरार, मुकदमा दर्ज

क्वारंटीन पूरा होते ही धर-दबोचेगी क्राइम ब्रांच
क्राइम ब्रांच के अफसरों का कहना है कि वह इसे पुख्ता कर रहे हैं, जिसके बाद उन पर निगरानी रखी जाएगी. फिलहाल वह क्वारंटीन हैं, जिसकी अवधि पूरी होते ही उनसे पूछताछ शुरू की जाएगी. क्राइम ब्रांच ने रविवार को मरकज में फरेंसिक टीम के साथ छानबीन की थी. बुधवार को दोबारा से जांच टीम के मेंबर मरकज के भीतर गए, जिनकी तादाद 10 से ज्यादा थी और महिला पुलिसकर्मी टीम में थीं. जांच टीम को पिछली बार कुछ दस्तावेज मिले थे, जिनमें कुछ एंट्री रजिस्टर बताए जा रहे हैं. मरकज की बैंक डिटेल और इनकम रिटर्न समेत आर्थिक स्रोत से जुड़े डॉक्युमेंट जांच एजेंसी हासिल करना चाहती है.

यह भी पढ़ेंः वरुण धवन ने बढ़ाया मदद का हाथ, डॉक्टर्स और बेघरों के लिए करेंगे ये काम

दो-दो नाटिस हो चुके हैं जारी
इसके लिए उसने मौलाना को दो नोटिस भेजे हैं. पहले नोटिस के जवाब में मौलाना ने कहा था कि वह फिलहाल क्वारंटीन हैं और मरकज भी बंद हैं. इसलिए वह मांगे गए सभी दस्तावेज इस समय उपलब्ध नहीं करवा सकते हैं. बहरहाल, जांच एजेंसी छानबीन, पूछताछ और टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर मरकज से जुड़े मामलों की छानबीन करने में जुटी है. मौलाना के विदेश भागने की आशंका के मद्देनजर पुलिस ने लुकआउट सर्कुलर जारी कर दिया है.

For all the Latest Sarkari Naukri News, Other Jobs News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 09 Apr 2020, 10:23:24 AM