News Nation Logo
Banner

टेरर फंडिंग मामले में जम्मू-कश्मीर के 12 जगहों पर NIA की छापेमारी

टेरर फंडिंग के खिलाफ राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA की कार्रवाई जारी 7 लोगों को किया गिरफ़्तार।

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Kumar | Updated on: 16 Aug 2017, 11:36:52 AM

नई दिल्ली:

नेश्नल इंवेस्टिंग एजेंसी (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) ने टेरर फंडिंग मामले में बुधवार को बारामूला, हंदवाड़ा समेत जम्मू-कश्मीर के 12 इलाक़ों में छापेमारी की है। फिलहाल ये छापेमारी जारी है।

जांच एजेंसी ने पाकिस्तान और वहां से संचालित आतंकी संगठन से टेरर फंडिंग के मामले में सात लोगों को गिरफ़्तार भी किया है। एनआईए (जांच एजेंसी) ने 30 मई को अलगाववादी नेताओं पर आतंकी संगठन से जुड़े होने के आरोप में केस दर्ज़ किया था।

नईम ख़ान, फ़ारुक़ अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे, अल्ताफ़ अहमद शाह, शाहिद-उल-इस्लाम, अयाज़ अकबर, पीर सैफ़ुल्लाह और राजा मेहराज़ुद्दीन कलवल पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान से मदद लेने का आरोप लगा है।

मुंबई जैसे हमले रोकने के लिये कोस्टगार्ड को मिलेंगे 32 हज़ार करोड़ रुपये, बढ़ेगी जहाज़ों की संख्या

इन सभी नेताओं को जम्मू-कश्मीर में फैली कई अनौपचारिक संस्थानों से आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए फंड लेने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है।

कौन हैं गिरफ़्तार सातों आरोपी?

नईम अहमद ख़ान
नईम जम्मू कश्मीर नेशनल फ्रंट के अध्यक्ष हैं और उनकी पार्टी हुर्रियत संगठन का समर्थन करती है। एक टीवी चैनल पर स्टिंग ऑपरेशन दिखाए जाने के बाद से उनकी सदस्यता रद्द कर दी गई है।

फारूक़ अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे
फारूक़ अहमद डार उर्फ़ बिट्टा कराटे एक कट्टर चरमपंथी कमांडर और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (आर) का अध्यक्ष है। बिट्टा कश्मीरी हिंदुओं की हत्या करने के आरोप में 16 साल जेल की सज़ा काट चुका है।

अल्ताफ़ अहमद शाह
अल्ताफ़ अहमद शाह हुर्रियत के सदस्य होने के साथ-साथ अली शाह गिलानी के दामाद भी हैं। अल्ताफ़ ने गिलानी के साथ काफी लंबा समय बिताया है।

शाहिद-उल-इस्लाम

शाहिद को सलाहुद्दीन के सबसे क़रीबी लोगों में एक माना जाता है। शाहिद उल इस्लाम की एक तस्‍वीर सामने आई थी जिसमें शाहिद हिज़्बुल मुजाहिदीन के सुप्रीम कमांडर सैयद सलाहुद्दीन के साथ खड़ा दिख रहा था।

अयाज़ अकबर
अयाज़ अकबर हुर्रियत (गिलानी धड़े) के प्रवक्ता हैं। वो घाटी की सड़कों पर कई बार विरोध प्रदर्शन का आयोजन करते रहे हैं।

पीर सैफुल्लाह
पीर सैफ़ुल्लाह, हुर्रियत के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी के निजी सचिव हैं। वे गिलानी के करीबी सहयोगी रहे हैं।

राजा मेहराजुद्दीन कलवल
राजा मेहराजुद्दीन कलवल गिलानी के नेतृत्व वाली तहरीक-ए-हुर्रियत के श्रीनगर ज़िला प्रमुख हैं।

डाकोला विवाद सुलझाने के लिए भारत-चीन बैठकर करे बात: अमेरिका

First Published : 16 Aug 2017, 10:14:42 AM

For all the Latest States News, Jammu & Kashmir News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो