News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

रामपुरी चाकू को हमने बनाया ओडीओपी, कर रहे धर्म-संस्कृति की रक्षा : मुख्यमंत्री

रामपुरी चाकू को हमने बनाया ओडीओपी, कर रहे धर्म-संस्कृति की रक्षा : मुख्यमंत्री

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 01 Jan 2022, 10:40:01 PM
Yogi Adityanath

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

रामपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा पर बिना नाम लिए हुए निशाना साधा और कहा कि रामपुरी चाकू जब उनके हाथ में होता है तो गरीब की संपत्ति पर कब्जा होता है, व्यापारी से लूट होती है, लेकिन अच्छे लोगों के पास जब यही शस्त्र हो तो वह इससे धर्म-समाज-संस्कृति की रक्षा करते हैं।

नए साल के पहले दिन जनपद रामपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिलावासियों को 95 करोड़ की विकास परियोजनाओं का उपहार दिया। भाजपा की जनविश्वास यात्रा की श्रृंखला में मिलक तहसील अंतर्गत रठौण्डा मैदान, बिलासपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी ने केंद्र व राज्य सरकार की जनहित की नीतियों को बताया, तो समाजवादी पार्टी की सरकारों पर तगड़ा वार भी किया।

रामपुरी चाकू का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने हर जिले को एक विशिष्ट पहचान दिलाने के लिए एक जनपद-एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना शुरू की। रामपुर में बहुत खोजने के बाद भी कुछ नहीं मिल रहा। आखिर में रामपूरी चाकू को ओडीओपी बनाया गया। सपा का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि यही रामपुरी चाकू जब उनके हाथ में होता है तो गरीब की संपत्ति पर कब्जा होता है, व्यापारी से लूट होती है, लेकिन अच्छे लोगों के पास जब यही शस्त्र हो तो वह इससे धर्म-समाज-संस्कृति की रक्षा करते हैं और हम गुरु परंपरा को मानने वाले लोग हैं। यही रामपुरी चाकू आज जनपद की ओडीओपी है।

उन्होंने कहा कि 2017 से पहले मुख्यमंत्री आवास पर मुजफ्फरनगर और सहारनपुर दंगों के अपराधियों को बुलाकर सम्मानित किया जाता था, लेकिन 2017 के बाद मुख्यमंत्री आवास में किसानों का सम्मान किया जाता है और गुरुबाणी का पाठ होता है।

कहा कि यह वही प्रदेश है जहां पहले किसी भी धर्मस्थल के नाम पर पैसा नहीं मिलता था, गरीब को मकान नहीं मिलता था। पिछली सरकारें गरीबों का शोषण करती थीं, दंगाइयों को प्रोत्साहित करती थीं, आतंकी घटनाओं को प्रेरित करती थीं, आतंवादियों के मुकदमे वापस लेते थीं, लेकिन आज साढ़े चार लाख नौजवानों को बिना भेदभाव सरकारी नौकरी मिली और किसानों का कर्ज माफ हुआ।

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के मुफ्त बिजली देने की चुनावी घोषणा पर चुटकी लेते हुए सीएम ने सपा काल में बिजली कटौती पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा मैं बबुआ से एक बात पूछना चाहता हूं, जब आप बिजली ही नहीं देते थे तो मुफ्त की बात कहां? उल्टा जनता से जो वसूली करते थे उसके लिए माफी तो मांग लो।

योगी ने कहा कि एक सप्ताह पहले आपने नोटों के गड्डियों के पहाड़ जेसीबी से निकालते हुए देखा होगा। यह कैसे समाजवादी पार्टी से जुड़े नेताओं के घरों से नोट की गड्डियां निकल रही हैं। यह खेत से नहीं निकल रहीं जो जनता के पैसे पर डकैती हुई वही बाहर आ रहा है।

सीएम ने कहा 2014 में प्रधानमंत्री मोदी जी के आने के बाद आपने देखा होगा कि कैसे गुरुनानक देव जी से जुड़े पवित्र करतारपुर के कॉरिडोर के खोलने का कार्य हुआ।

योगी ने कहा कि रामभक्तों पर गोलियां चलाने वाले लोग आज कहते हैं कि अगर हम भी सत्ता में होते तो हम भी राम मंदिर बना देते। वैसे भी बबुआ को कब्रिस्तान बनाने से फुरसत होती तब न बनाते राम मंदिर। आखिर ये आपकी ताकत है। आपके वोट बैंक की ताकत इनको नाक रगड़ने के लिए मजबूर कर रही है। पूर्ववर्ती सरकारों में हुए दंगों से यूपी के छवि पर पड़े बुरे असर का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि तब हर तीसरे दिन दंगा होता था। आज सब जानते हैं कि अगर दंगा किया, गरीब की संपत्ति पर कब्जा किया, सरकारी संपत्ति में तोड़फोड़ की तो सात पीढियां भरपाई करते-करते थक जाएंगी। ऐसे लोगों पर बुलडोजर चलाने पर संकोच नहीं किया जाएगा।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 01 Jan 2022, 10:40:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो