News Nation Logo
Banner

एक दिन बाद तालिबान का आतंक क्या चरम पर होगा? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas

अफगानिस्तान में एक बार फिर तालिबानी राज की वापसी हो गई है. तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान में अफरातफरी का माहौल है. काबुल एयरपोर्ट के बाहर तालिबान के कब्जे के बाद से लगातार आत्मघाती हमले हो रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 30 Aug 2021, 09:15:53 PM
dkb3

देश की बहस (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

अफगानिस्तान में एक बार फिर तालिबानी राज की वापसी हो गई है. तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान में अफरातफरी का माहौल है. काबुल एयरपोर्ट के बाहर तालिबान के कब्जे के बाद से लगातार आत्मघाती हमले हो रहे हैं. काबुल एयरपोर्ट पर सोमवार हुए एक रॉकेट हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, ग्रुप के नाशर न्यूज ने अपने टेलीग्राम चैनल पर इसकी जानकारी दी. एक बार फिर एयरपोर्ट के बाद रॉकेट दागे गए. अमेरिका के अधिकारियों का कहना है कि काबुल हवाई अड्डे पर पांच रॉकेट दागे गए, लेकिन एक मिसाइल डिफेंस सिस्टम ने उन्हें रोक दिया. काबुल के ऊपर से लोगों ने सुबह कई रॉकेटों को उड़ते हुए सुना गया. तालिबान प्रेम में कैसे पाकिस्तान की रेस? कैसे तालिबान पर ब्लैकमेल करने लगा पाकिस्तान? आतंक के 'अज़हर' के साथ तालिबानी बाबर, 'कश्मीर' को काबुल न समझना इमरान, क्या आतंकीराज का काउंटडाउन शुरू? एक दिन बाद तालिबान का आतंक क्या चरम पर होगा? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें मुख्य अंश.

  • अमेरिका की गलती और फ्लेरियर है : ले.जनरल गुरमीत सिंह (रिटा.), पूर्व डिप्टी आर्मी चीफ
  • अमेरिका ने अफगानिस्तान में एक इलेक्ट्रेट सरकार को हटाया : ले.जनरल गुरमीत सिंह (रिटा.), पूर्व डिप्टी आर्मी चीफ
  • पाकिस्तान आतंकवादी का गढ़ है : ले.जनरल गुरमीत सिंह (रिटा.), पूर्व डिप्टी आर्मी चीफ
  • समझ में नहीं आ रहा है कि अफगानिस्तान में 20 साल में अमेरिका का क्या इरादा था : ले.जनरल गुरमीत सिंह (रिटा.), पूर्व डिप्टी आर्मी चीफ
  • पाकिस्तान और चाइना का नापाक गठबंधन था : ले.जनरल गुरमीत सिंह (रिटा.), पूर्व डिप्टी आर्मी चीफ
  • अमेरिका जो हथियार और हेलीकॉप्टर छोड़कर जा रहा है उसका अब क्या होगा : ले.जनरल गुरमीत सिंह (रिटा.), पूर्व डिप्टी आर्मी चीफ
  • किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था, अमेरिका की कमान एक कमजोर नेता के हाथ में है : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, US  
  • अमेरिका के पास हथियार और पैसा है, लेकिन अभी उनके पास लीडरशिप नहीं है : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, US  
  • अमेरिका ने अफगानिस्तान से सबसे पहले एयरफोर्ट हटाई थी : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, US  
  • चाइना, रूस और ईरान को सिर्फ काउंटर करने के लिए अफगान में अमेरिकी सेना नहीं थी : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, US  
  • अमेरिका का राष्ट्रपति जो बाइडेन एक कमजोर लीडर है  : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, अमेरिका  
  • अमेरिका को तो निकलना था, लेकिन ऐसे नहीं निकलना चाहिए था : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, अमेरिका  
  • जो बाइडेन के आते ही तालिबान शेर बन गया : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, अमेरिका  
  • अमेरिका की पूरी दुनिया में बदनामी हुई है : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, अमेरिका  
  • अमेरिका को चाहिए था कि शराणर्थियों को मुस्लिम कंट्री में रखना चाहिए था : जसदीप सिंह, राजनीतिक विश्लेषक, अमेरिका  
  • जब ट्रंप ने दोहा से समझौता किया था तब तालिबान नहीं था : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • समझौता के तहत एक साल तक यूएस सेना पर हमला नहीं करेंगे : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • अमेरिका वो वार क्यों लड़े जो हमारा नहीं है : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • तालिबान से अफगानिस्तानियों को वार लड़ना है : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • तालिबानी को ह्यून राइट्स का पालन करना है : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • अमेरिका का मिशन तालिबान नहीं है : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • अगर 2 साल बाद तालिबानी अमेरिका पर अटैक करेगा तो फिर हमारी प्रॉयरिटी बदल जाएगी : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • 20 साल में एक भी मुस्लिम देश ने अफगानिस्तान में निवेश नहीं किया है : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • अगर शराणर्थियों में 4 भी तालिबानी निकल जाए तो वे गृह युद्ध शुरू कर दो इसकी जिम्मेदारी कौन लेना : अजय जैन भूटोरिया, बाइडेन टीम के सदस्य
  • जब भारत आजाद हुआ था तब भी काफी कत्ल हुआ था : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI
  • पाकिस्तान का बार्डर सुरक्षित हुआ और हम दहशतगर्दी से बच गए : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI
  • सिर्फ पाक की दुश्मनी में भारत ने अफगानिस्तान में निवेश किया : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI
  • पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पर काम हो रहा है : आरजू काजमी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • पाकिस्तान हर वक्त भारत से तुलना करता रहता है : आरजू काजमी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • पाकिस्तान ने तालिबान को सपोर्ट करके गलती की : आरजू काजमी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • तालिबान कभी भी इंसान नहीं बन सकता है : आरजू काजमी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • दुनिया की मजबूरी है कि अब तालिबान को स्वीकार करना पड़ रहा है : आरजू काजमी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • क्या भारत में सोशल मुद्दे खत्म हो गए हैं? : जावेद गफ्फारी, पाकिस्तानी पत्रकार  
  • दोहा में अमेरिका ने तालिबान से एक समझौता किया था : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • दोहा समझौते के तहत तालिबान जबरदस्ती कब्जा नहीं करेगा : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • पाकिस्तान ना चैन से जीते हैं और ना ही किसी को चैन से जीने देते हैं : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • पाकिस्तान ने अफगानिस्तान का खात्मा कर दिया है : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • क्या कोई व्यक्ति अपनी बहन-बेटियां को काबुल भेजना चाहता है : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • पाक और तालिबान ने अमेरिका को धोखा दिया है : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • आनेवाले समय में अमेरिका जरूर पाक के खिलाफ एक्शन लेगा : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • अमेरिका को आखिरी टाइम में ऐसा करना था : इंशा सिद्दीकी, नोएडा, दर्शक
  • अफगानिस्तान में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं : डॉ. सुरभि सिंह, गाजियाबाद, दर्शक
  • तालिबान से अफगानिस्तान का भला नहीं हो सकता है : डॉ. सुरभि सिंह, गाजियाबाद, दर्शक

First Published : 30 Aug 2021, 07:36:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×