News Nation Logo
Banner

भागवत के DNA वाले बयान पर सियासी घमासान क्यों ?, दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बड़ा बयान देते हुए लिंचिंग को हिंदुत्व के खिलाफ बताया है. मोहन भागवत ने 'हिंदू-मुस्लिम एकता' शब्द को भ्रामक बताया और कहा कि दोनों एक हैं. ,

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 05 Jul 2021, 09:48:55 PM
Desh ki Bahas

Desh ki Bahas : भागवत के DNA वाले बयान पर सियासी घमासान क्यों ? (Photo Credit: @NEWSNATION)

highlights

  • 'सबका DNA एक'...सियासी संग्राम तेज
  • किसका DNA 40000 साल पुराना?
  • लिंचिंग करने वालों को दो टूक 'भागवत'वाणी

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बड़ा बयान देते हुए लिंचिंग को हिंदुत्व के खिलाफ बताया है. मोहन भागवत ने 'हिंदू-मुस्लिम एकता' शब्द को भ्रामक बताया और कहा कि दोनों एक हैं. आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को ख्वाजा इफ्तार अहमद की लिखित पुस्तक 'द मीटिंग ऑफ माइंड्स' का विमोचन करते हुए कहा, हम एक हैं और इसका आधार हमारी मातृभूमि है. इसलिए यहां कभी झगड़ा करने की जरूरत नहीं पड़ती. हम समान पूर्वजों के वंशज हैं. हम भारत के सब लोगों का डीएनए समान है. चाहे वे किसी भी धर्म के हों.

वहीं, मोहन भागवत के इस बयान के बाद सियासत भी तेज हो गई है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने तंज कसते हुए कहा है, भागवत यह विचार आप अपने शिश्यों को पालन करने के लिए बाध्य कर देंगे, तो मैं उनका प्रशंसक हो जाऊंगा. साथ ही दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, मोहन भागवत जी यह विचार क्या आप अपने शिष्यों, प्रचारकों, विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल कार्यकतार्ओं को भी देंगे? क्या यह शिक्षा आप मोदी, शाह जी और भाजपा मुख्यमंत्री को भी देंगे? यदि यह विचार मोहन भागवत जी आप अपने शिष्यों को पालन करने के लिए बाध्य कर देंगे, तो मैं आपका प्रशंसक हो जाऊंगा.

बहुजन समाज पार्टी बसपा मुखिया मायावती ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के बयान हिंदू और मुसलमान दोनों का डीएनए एक है पर पलटवार किया है. कहा कि उनका यह बयान 'मुंह में राम बगल में छूरी' जैसा है. वहीं, ओवैसी ने भी ट्वीट कर सियासी माहौल को गर्म कर दिया हैं. ओवैसी ने कहा- RSS के भागवत ने कहा कि लिंचिंग करने वाले हिंदुत्व विरोधी. इन अपराधियों को गाय और भैंस में फर्क नहीं पता होगा, लेकिन कत्ल करने के लिए जुनैद, अखलाक़, पहलू, रकबर, अलीमुद्दीन के नाम ही काफी थे. ये नफरत हिंदुत्व की देन है, इन मुजरिमों को हिंदुत्ववादी सरकार की पुश्त पनाही हासिल है. ओवैसी ने कहा कि कायरता, हिंसा और कत्ल करना गोडसे की हिंदुत्व वाली सोंच का अटूट हिस्सा है. मुसलमानों की लिंचिंग भी इसी सोच का नतीजा है. 

तो सवाल उठता है कि आखिर मोहन भागवत ने जो बयान दिया हैं उस बयान का सियासीकरण करना सही. इसी मुद्दे पर भागवत के DNA वाले बयान पर सियासी घमासान क्यों ? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें मुख्य अंश.

आज मैं लड़ना नहीं चाहता, मोहन भागवत जी से कहना चाहता हूं खुद भी जीये और दूसरों को जीने दे  : माजिद हैदरी, राजनीतिक विश्लेषक
मनु जो पुत्र हैं वह मनुष्य है, जो सतरुपा की पुत्री हैं वह स्त्री है : प्रेम शुक्ला, प्रवक्ता, बीजेपी
सिंधु सभ्यता वालों का डीएनए एक है, इस देश में रहने वालों का डीएनए एक है : प्रेम शुक्ला, प्रवक्ता, बीजेपी
मैं हिंदुस्तानी और भारत का संविधान मानता हूं : विवेक श्रीवास्तव, लेफ्ट नेता
मनुस्मृति में दलितों के बारे में और महिलाओं के बारे में बहुत कुछ लिखा है : विवेक श्रीवास्तव, लेफ्ट नेता
आर्य और द्रविड़ की सभ्यता के बीच युद्ध हुआ फिर दोनों साथ रहना सीखे : विवेक श्रीवास्तव, लेफ्ट नेता
हमारे पूर्वज बाहर से आए थे, हमने मूर्ति पूजा द्रविड़ सभ्यता से सीखी : विवेक श्रीवास्तव, लेफ्ट नेता
भारत का मन हिंदू है, भारत का धर्म हिंदू है: प्रो. संगीत रागी, राजनीतिक विश्लेषक
इस्लाम भारत में जो आया आक्रांताओं के रुप में आया: प्रो. संगीत रागी, राजनीतिक विश्लेषक

हम सबका डीएनए एक है, मैं मानता हूं : दिव्य त्रिवेदी, दर्शक, गांधीनगर
लेफ्ट और कांग्रेसी कभी नहीं चाहेंगे की हिंदू-मुस्लीम एक है: दिव्य त्रिवेदी, दर्शक, गांधीनगर

हिंदू समाज की तरफ से मोहन भागवत जी ने डायलाग की बात की हैं: प्रो. संगीत रागी, राजनीतिक विश्लेषक
इस्लाम को जो इतिहास है, उसे अगर देखे तो नजरअंदाज नहीं कर सकते: प्रो. संगीत रागी, राजनीतिक विश्लेषक
गुरू जी ने कहा था, हम उनको पराया नहीं मानते वही अपनों को हमसे पराया मानते है: प्रो. संगीत रागी, राजनीतिक विश्लेषक

मदनमोहन मालवीय के घर जब जिन्ना साहब गए तो उन्होंने उनके साथ खाना से मना कर दिया, मदनमोहन मालवीय ने कहा आप मुसलमान हो. तब जिन्ना साहब ने कहा जब हम साथ खा नहीं सकते तो एक देश में कैसे रह सकते है : माजिद हैदरी, राजनीतिक विश्लेषक

नरेंद्र मोदी जी ने सुप्रीम कोर्ट की रिस्पेक्ट नहीं की: तहसीन पूनावाला,राजनीतिक विश्लेषक
अगर मोहन भागवत मानते है सबका डीएनए एक है तो मैं भी मानता हूं, लेकिन मैं जानना चाहता हूं कि आज तक दलित और ओबीसी को आरएसएस की मुखिया क्यों नहीं बना : तहसीन पूनावाला,राजनीतिक विश्लेषक

हिंदुत्व सबको सीखाता है हिंदू-मुस्लीम भाई-भाई, लेकिन किसी मुसलमान को ये कहता नहीं सुना गया: ललित गौर, दर्शक, दिल्ली
मैं हिंदुत्व के विचार धारा की निंदा करता हूं: माजिद हैदरी, राजनीतिक विश्लेषक
हिंदुत्व कभी लिंचिंग नहीं सीखाता, मोहन भागवत का बयान सही है: गिरीश श्रीवस्ताव, गाजियाबाद

First Published : 05 Jul 2021, 07:11:27 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.