News Nation Logo
Banner

डॉक्टर और योगगुरु आमने-सामने क्यों? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas

क्यों IMA और योगगुरु आमने-सामने हैं. एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति पर टिप्पणी से विवाद उठा है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने टिप्पणी पर विरोध जताया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की चिट्ठी के बाद योगगुरु ने बयान वापस लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 28 May 2021, 09:14:08 PM
dkb

देश की बहस (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

क्यों IMA और योगगुरु आमने-सामने हैं. एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति पर टिप्पणी से विवाद उठा है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने टिप्पणी पर विरोध जताया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की चिट्ठी के बाद योगगुरु ने बयान वापस लिया है. बयान वापसी के बाद भी IMA का आक्रोश नहीं थम रहा है. डॉ हर्षवर्धन के पत्र पर बयान वापस लिया है. IMA को लिखी चिट्ठी में योगगुरु ने 25 सवाल पूछे हैं. 24 मई को एलोपैथी पर 25 सवाल पूछे थे. चिट्ठी के जवाब में IMA ने खुले मंच पर बहस की चुनौती दी है. IMA उत्तराखंड की शाखा ने एक हजार करोड़ का मानहानि नोटिस भेजा है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री मोदी से दखल देने की मांग की है. डॉक्टर और योगगुरु आमने-सामने क्यों? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें मुख्य अंश.

  • फार्मेसिट को लाइसेंस कौन देता है, आयुर्वेद को सबसे बढ़ावा पीएम नरेंद्र मोदी देते हैं : डॉ राजन शर्मा, पूर्व अध्यक्ष, IMA  
  • योगी बनने के लिए क्या क्वालिफेशन होती है : डॉ राजन शर्मा, पूर्व अध्यक्ष, IMA
  • सरकार की जिम्मेदारी है, IMA डॉक्टरों की संस्था है : डॉ राजन शर्मा, पूर्व अध्यक्ष, IMA
  • वैक्सीन की कीमत सरकार निर्धारित करती है : डॉ राजन शर्मा, पूर्व अध्यक्ष, IMA
  • अगर आप वैक्सीनेशन पर सवाल उठाएंगे तो क्या ये देशद्रोह नहीं है : डॉ. डीएस राय, पूर्व महासचिव, IMA
  • हमने कभी भी आयुर्वेद के बारे में नहीं बोला है : डॉ. डीएस राय, पूर्व महासचिव, IMA
  • ये कहना गलत है कि डॉक्टरों के पास इलाज नहीं है : डॉ. डीएस राय, पूर्व महासचिव, IMA
  • आप जनता में भ्रम फैला रहे हैं कि इस दवा से आप ठीक नहीं होंगे : डॉ. डीएस राय, पूर्व महासचिव, IMA
  • समाज के अंदर जागरूकता फैलाइये : डॉ. डीएस राय, पूर्व महासचिव, IMA
  • ये आयुर्वेद और एलोपैथी का विवाद बिल्कुल नहीं है :  डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • एलोपैथी पर कुछ गंभीर आरोप लगाए गए हैं : डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • आप चाहते हैं कि बिना आक्सीजन के कोविड के मरीजों को बचाना मुश्किल है : डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • एक हजार डॉक्टरों की मौत नहीं हुई, सिर्फ 513 डॉक्टरों की मौत हुई है : डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • एलोपैथी के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है : डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • आयुर्वेद का हम सम्मान करते हैं : डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • IMA में 4 लाख डॉक्टर आते हैं : डॉ. रवि मलिक, पूर्व सचिव, IMA  
  • बिल्कुल स्पष्ट है कि इलाज के लिए प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया है : डॉ पवन सिन्हा, धर्मगुरु 
  • मैं जनता के रूप में आवाज उठाते हैं कि IMA ये कैसे कह सकता है कि ये मेरी जिम्मेदारी नहीं है : डॉ पवन सिन्हा, धर्मगुरु 
  • मैं प्रणाम करता हूं जो दिनभर इलाज में जुटे रहे : डॉ पवन सिन्हा, धर्मगुरु 
  • मेडिकल प्रोफेशन का उल्लंघन हुआ : डॉ पवन सिन्हा, धर्मगुरु 
  • प्रोटोकॉल का पालन नहीं हुआ : डॉ पवन सिन्हा, धर्मगुरु 
  • देश के डॉक्टरों का हम सम्मान करते हैं : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु 
  • रामदेव बाबा के दूसरे पत्र को लेकर विवाद हो रहा है : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु 
  • कोरोना मरीजों के लिए लाखों रुपये के बिल तैयार किए गए हैं : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु 
  • आयुर्वेद को लगातार हसिये पर खड़ा किया जाता है : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु 
  • पूरा विश्व आयुर्वेद को आगे बढ़ाने का काम कर रहा है : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु 
  • इनको ये बर्दाश्त नहीं हो रहा है कि लोग आयुर्वेद का महत्व समझ रहे हैं : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु
  • आयुर्वेद के खिलाफ साजिश : आचार्य विक्रमादित्य, योगगुरु
  • एलोपैथी और IMA को सवाल पूछना नगवार लगता है : डॉ परमेश्वर अरोड़ा, आयुर्वेदाचार्य, गंगाराम हॉस्पिटल
  • ये आयुर्वेद दोयम दर्जे का मानते हैं : डॉ परमेश्वर अरोड़ा, आयुर्वेदाचार्य, गंगाराम हॉस्पिटल
  • इनके प्रोटोकॉल की वजह से लाखों लोगों की जानें गई हैं : डॉ परमेश्वर अरोड़ा, आयुर्वेदाचार्य, गंगाराम हॉस्पिटल
  • ये प्रोटोकल कोई मंत्री या सरकार नहीं बनाती है, बल्कि डॉक्टरों के सलाह पर बनाए जाते हैं : डॉ परमेश्वर अरोड़ा, आयुर्वेदाचार्य, गंगाराम हॉस्पिटल
  • कोरोना महामारी से लड़ने के बजाए हम आपस में लड़ रहे हैं : लिली गुप्ता, जयपुर, दर्शक
  • बाबा रामदेव ने 25 सवाल पूछे हैं तो ये सबका अधिकार है : लिली गुप्ता, जयपुर, दर्शक
  • जब देश में कोरोना आया तो उसके बारे में कोई नहीं जानता था : इंद्रभूषण, वाराणसी, दर्शक

First Published : 28 May 2021, 07:50:23 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.