News Nation Logo
Banner

आखिर क्या हुआ उस रात कि पत्नी अपूर्वा ने ले ली रोहित शेखर की जान, जानें उस रात का सच

एक सवाल हर किसी के मन में बार-बार चुभ रहा होगा कि शादी के महज 10 महीनों के भीतर ही ऐसा क्या हो गया कि दोनों के बीच ऐसी नफरत बढ़ गई कि अपूर्वा को रोहित की जान लेनी पड़ गई.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 27 Apr 2019, 08:52:51 AM
File Pic (रोहित शेखर तिवारी - अपूर्वा शुक्ला)

File Pic (रोहित शेखर तिवारी - अपूर्वा शुक्ला)

नई दिल्ली:

 Rohit Shekhar Tiwari Murde Case: एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी (Rohit Shekhar Tiwari) के कत्ल की कहानी थोड़ी फिल्मी जरूर लगती है लेकिन ये सच है कि रोहित की बीवी अपूर्वा ने ही रोहित का कत्ल किया. जब पुलिस ने पूछताछ की तो बीवी ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया. लेकिन एक सवाल हर किसी के मन में बार-बार चुभ रहा होगा कि शादी के महज 10 महीनों के भीतर ही ऐसा क्या हो गया कि दोनों के बीच ऐसी नफरत बढ़ गई कि अपूर्वा को रोहित की जान लेनी पड़ गई. आइये आपको हम इस फिल्मी कहानी के दुखद अंत तक की दास्तां सुनाते हैं.

ऐसे मिले थे रोहित और अपूर्वा
साल 2017 में रोहित शेखर ने अपनी शादी के लिए एक मेट्रोमोनियल साइट पर अपूर्वा शुक्ला का प्रोफाइल देखा. यह प्रोफाइल रोहित को काफी पसंद आई और उन्होंने अपनी मां उज्जवला को इसके बारे में बताया. इसके बाद रोहित ने अपूर्वा से मिलने का फैसला किया. पहली बार दोनों की मुलाकात लखनऊ में हुई जहां रोहित अपूर्वा को देखते ही मोहित हो गया. अपूर्व रोहित के मन को इतनी भा गई कि दोनों लिव इन रिलेशनशिप में एक साथ ही रहने लगे. लगभग एक साल लिव इन में रहने के बाद 12 मई 2018 को दोनों ने शादी कर ली. दोनों की शादी दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में हुई जहां देश के कई बड़े नेता और अधिकारी पहुंचे थे शादी के बाद रोहित की मां उज्जवला बहुत खुश थी.

यह भी पढ़ें - अपूर्वा को वीडियो कॉल में ऐसा क्या दिखा कि पति रोहित शेखर को मार डाला

फिर शुरू हुआ लड़ाई - झगड़ों का दौर
शादी के बाद अपूर्वा अपने पति रोहित के साथ दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में उनके घर रहने के लिए आ गई. अब दोनों की गृहस्थी जम चुकी थी और सबकुछ स्थिर था, तभी कुछ दिनों के बाद अपूर्वा को एक और महिला के बारे में पता चला जो रोहित की रिश्तेदार की पत्नी थी. यह महिला रोहित के काफी करीब थी. ऐसा माना जाता है कि कहानी में यहीं से दोनों के बीच की तल्खियां बढ़ने लगीं. शादी से पहले रोहित की जो छवि अपूर्वा के मन में बनी हुई थी अब दो धीरे-धीरे धूमिल हो रही थी. जबकि, रोहित बहुत तेजी से उस महिला की गिरफ्त में आते जा रहे थे. आए दिन रोहित उस महिला से मिलने जाता था. जो कि अपूर्वा को बिलकुल नागवार लगती थी. आए दिन दोनों के बीच इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ करता था.

यह भी पढ़ें - Rohit Shekhar Tiwari Murder: पत्नी अपूर्वा ने 90 मिनट में दिया वारदात को अंजाम, ऐसे मारा पति को

अपूर्वा ने अपने घरवालों के लिए की थी एक घर की मांग
पुलिस तफ्तीश में यह बात भी सामने आई कि अपूर्वा अक्सर रोहित से अपने घरवालों के लिए एक घर की मांग करती थी. लेकिन इस बात पर रोहित कोई प्रतिक्रिया नहीं देता था. धीरे-धीरे मामला उज्जवला तक भी पहुंच गया. दोनों के बीच मामला और बिगड़ने लगा देखते ही देखते मामला तलाक तक जा पहुंचा यह तय किया गया कि इस मामले में अब जून में बातचीत होगी. पति-पत्नी के बीच कहासुनी इतनी बढ़ गई कि अपूर्वा 3 मार्च को अपने मायके इंदौर चली गई जहां वो 29 मार्च तक रही. इसके बाद अपूर्वा 30 मार्च को वापस डिफेंस कॉलोनी में रोहित के पास वापस आ गई.

अपूर्वा को रोहित की सच्चाई पता चली
11 अप्रैल को उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव था. रोहित और उज्जवला को वोट डालने के लिए वहां जाना था. यहां पर रोहित और उज्जवला के साथ वो महिला भी साथ गई जिसकी वजह से अपूर्वा रोहित से नाराज रहती थी. यहां घटनाक्रम कुछ ऐसा चला कि अपूर्वा ने रोहित रंगे हाथों पकड़ लिया. हुआ यूं कि जब रोहित काठगोदाम, उत्तराखंड में था. तभी उसकी पत्नी अपूर्वा ने उसके फोन पर वीडियो कॉल कर दी रोहित नशे में था और उस वीडियो कॉल में अपूर्वा ने उस महिला को रोहित के साथ देख लिया सूत्रों की माने तो रोहित उस समय महिला के साथ आपत्तिजनक अवस्था में था रोहित ने उसे छुपाने की कोशिश की लेकिन अपूर्वा ने उसे देख लिया था.

यह भी पढ़ें -  रोहित शेखर मर्डर केस : क्राइम ब्रांच ने पत्नी अपूर्वा तिवारी को किया गिरफ्तार, जानें क्या कहती है रिपोर्ट

15 अप्रैल को सब वापस दिल्ली लौट आए
उत्तराखंड में वोटिंग के बाद 15 अप्रैल को रोहित अपनी मां और भाई के साथ लौटकर दिल्ली वापस आ गए. रोहित के डिफेंस कालोनी वाले घर में रोहित की पत्नी अपूर्वा, बड़ा भाई सिद्धार्थ शर्मा, नौकरानी मार्था, नौकर गोलू और ड्राइवर अखिलेश मौजूद थे. रोहित की मां उज्जवला रात का खाना खाकर तिलक लेन वाले सरकारी आवास पर चली गईं उनके मुताबिक रोहित उस रात तो बिलकुल ठीक था.

अपूर्वा ने ऐसे किया रोहित का कत्ल
15 अप्रैल की ही रात जब रोहित की मां उज्जवला वहां से जा चुकी थी, वहां मौजूद बाकी लोग भी अपने कमरों में जा चुके थे. रात के करीब एक बजे थे तभी अपूर्वा रोहित के कमरे में पहुंची. उसने रोहित को जगाया और उस महिला के बारे में पूछने लगी. इसी बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा होने लगा. बात हाथापाई तक जा पहुंची. रोहित नशे में धुत था. गुस्से में अपूर्वा उस पर भारी पड़ गई. ना चाहते हुए भी उसने रोहित का मुंह और गला तकिए से दबा दिया. रोहित अब मर चुका था उसका शरीर बेड पर बेजान पड़ा था शरीर ठंडा हो चुका था, दिल की धड़कनें थम चुकीं थी. अपूर्वा वहीं बेड पर बैठ गई उसकी सांसे तेज थी और धड़कन बहुत तेज हो गई थी. सबकुछ खत्म हो चुका था.

यह भी पढ़ें - रोहित शेखर मर्डर केस : कहीं पत्नी अपूर्वा ने तो नहीं किया कत्ल, जानें क्या कहती है रिपोर्ट


क्राइम ब्रांच ने किया मामले का खुलासा
क्राइम ब्रांच के मुताबिक पूछताछ के दौरान अपूर्वा का व्यवहार काफी अजीब है कभी वो अपनी हरकत पर पछतावा जताती हैं और कभी घटना के बारे में एकदम उदासीन हो जाती है रोहित तिवारी का गला घोंटने को लेकर वो अब पछतावे में हैं अपूर्वा ने पूछताछ में बताया कि रोहित की मां उज्ज्वला अक्सर उनके बीच दखल देती थी और इससे पति पत्नी के रिश्ते पर असर पड़ा. हत्या के दिन रोहित और अपूर्वा अपने घर के कमरे में थे उस दौरान रोहित की उसकी भाभी से निकटता को लेकर उनके बीच झगड़ा हुआ उसने अपने पति से कहा कि उसे उसकी भाभी के साथ उसकी नजदीकी और उनका साथ शराब पीना पसंद नहीं है रोहित ने ये कहते हुए उसे चिढ़ाया कि जब वह उत्तराखंड से लौट रहा था तो उसने और उसकी भाभी ने एक ही गिलास में शराब पी इससे अपूर्वा को गुस्सा आ गया उसने उसकी गर्दन पकड़ ली और जब उसने चिल्लाने की कोशिश की तो उसने तकिये से उसका मुह दबा दिया.

First Published : 26 Apr 2019, 02:35:37 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो