News Nation Logo
Banner

कांग्रेस में गांधी परिवार क्या करे? प्रशांत किशोर ने दी ये बड़ी सलाह

देश की सबसे पुरानी पार्टी को दोबारा पटरी पर लाने के लिए उन्होंने बतौर सलाह सैकड़ों स्लाइड वाले पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन से लंबा चौड़ा प्लान तैयार किया है. इस प्लान में सबसे अहम कांग्रेस में गांधी परिवार की भूमिका तय किया जाना है.

News Nation Bureau | Edited By : Keshav Kumar | Updated on: 22 Apr 2022, 02:32:26 PM
prashant kishore

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को वाइस प्रेसिडेंट का एक और पद गठित करने कहा
  • वाइस प्रेसिंडेंट के इस पद पर गांधी परिवार का कोई भी सदस्य नहीं रहेगा
  • सलाह के मुताबिक कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर गांधी परिवार का ही कब्जा रहेगा

New Delhi:  

कांग्रेस ( Congress ) की लगातार खराब हो रही हालत को ठीक करने के लिए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ( Prashant Kishore ) की सलाह ली जा रही है. बीते कई दिनों से राजधानी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ( Congress President Sonia Gandhi ) के सरकारी आवास 10 जनपथ पर आयोजित वरिष्ठ नेताओं की मैराथन बैठकों में प्रशांत किशोर प्रेजेंटेशन दे रहे हैं. देश की सबसे पुरानी पार्टी को दोबारा पटरी पर लाने के लिए उन्होंने बतौर सलाह सैकड़ों स्लाइड वाले पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन से लंबा चौड़ा प्लान तैयार किया है. इस प्लान में सबसे अहम कांग्रेस में गांधी परिवार की भूमिका तय किया जाना है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को वाइस प्रेसिडेंट का एक और पद गठित करने के लिए कहा है. उन्होंने सलाह दी है कि इस पद पर बैठा नेता इलेक्शन टास्क फोर्स की निगरानी करेगा. इसका मतलब कि वो देश भर में चुनाव को लेकर रणनीतियां तैयार करेगा. प्रशांत किशोर की सलाह में शर्त शामिल है कि वाइस प्रेसिंडेंट के इस पद पर गांधी परिवार का कोई भी सदस्य नहीं रहेगा. हालांकि अध्यक्ष पद पर गांधी परिवार का ही कब्जा बरकरार रहेगा. 

जी-23 के असंतुष्ट नेताओं जैसी सलाह

प्रशांत किशोर की सलाह के मुताबिक कांग्रेस के संगठन और संचार के प्रभारी एआईसीसी महासचिव इस नए वाइस प्रेसिडेंट के साथ मिलकर काम करेंगे. इस नई रणनीति के तहत कांग्रेस देश में होने वाले आगामी चुनाव को सही तरीके से नियंत्रित कर सकेगा. रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को एक पार्लियामेंट्री बोर्ड बनाने की भी सलाह दी है. जी-23 के असंतुष्ट नेताओं ने इससे पहले ऐसा ही प्रस्ताव दिया था. इसको लेकर प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को नेतृत्व के मसले को तुरंत सुलझाने के लिए कहा है. ताकि इस मसले पर किसी भी कंफ्यूजन को दूर किया सके.

इन राज्यों में गठबंधन की सलाह

बीते कई दिनों से सामने आ रही खबरों के मुताबिक जनता दल यूनाइडेट के नेता रह चुके प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को 17 राज्यों की 358 लोकसभा सीटों पर ही फोकस करने के लिए कहा है. वहीं कांग्रेस को 5 राज्यों की 168 सीटों पर दूसरे दलों के साथ गठबंधन की सलाह दी है. प्रशांत किशोर ने कांग्रेस नेतृत्व को महाराष्ट्र, झारखंड, बंगाल और तमिलनाडु में दूसरे दलों के साथ गठबंधन करने के लिए कहा है. वहीं आंध्र प्रदेश में YSRCP के साथ गठबंधन बनाने की सलाह दी है.

ये भी पढ़ें - Congress में प्रशांत किशोर को लेकर जी-23 अनदेखी से खफा, अंतर्कलह हुई तेज

30 करोड़ वोटर पर फोकस करे कांग्रेस

कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से उन्होंने 30 करोड़ वोटर पर फोकस करने के लिए कहा है. इसके अलावा साथ ही SC, ST, भूमिहीन, मिडिल क्लास, शहर के गरीब लोग, महिलाएं, किसान और युवा जैसे 8 सोशल ग्रुप पर ध्यान लगाने की सलाह दी है. प्रशांत की इन सलाहों के बीच कांग्रेस को लोकसभा चुनाव 2024 से पहले इस साल गुजरात और हिमाचल प्रदेश में प्रमुख परीक्षा का सामना करना होगा. वहीं अगले साल कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में चुनाव मैदान में उतरना होगा. 

First Published : 22 Apr 2022, 02:32:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.