News Nation Logo
Banner

VIDEO: हैदराबाद के हैवान जिस थाने में बंद थे, सैकड़ों लोगों ने घेरा, पुलिस ने खदेड़कर किया लाठीचार्ज

शादनगर कस्बे में पुलिस थाने के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे

By : Sushil Kumar | Updated on: 30 Nov 2019, 08:30:53 PM
थाने के बाहर प्रदर्शन करते प्रदर्शनकारी

थाने के बाहर प्रदर्शन करते प्रदर्शनकारी (Photo Credit: ANI)

हैदराबाद:

हैदराबाद की वीभत्स घटना को लेकर पूरे देश में रोष है. महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म और फिर गला घोंटकर जिंदा जला दिया. इसके बाद पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने जिस थाने में आरोपियों को रखा है, उसकी भनक लोगों को लग गई. इसके बाद कुछ ही देर में सैकड़ों लोगों ने थाना घेर लिया. लोग थाने में घुसने की कोशिश करने लगे. पुलिस ने बमुश्किल लोगों को समझाकर वापस लौटाया. शादनगर कस्बे में पुलिस थाने के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे.

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान की अदालत में आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ इस मामले में चलेगा मुकदमा

थाने हैदराबाद से 50 किलोमीटर दूर है. पुलिस थाने के सामने 'हमें न्याय चाहिए' का नारा लगाते हुए स्थानीय लोगों ने धरना दिया. जिसमें महिलाएं और छात्र भी शामिल थे. वे आरोपियों को बिना पूछताछ और बिना सुनवाई के जल्द से जल्द फांसी पर लटकाने की मांग कर रहे थे.इसी दौरान प्रदर्शकारियों और पुलिस के बीच भिड़ंत भी हुई. प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों पर चप्पल फेंके. भीड़ को देखते हुए पुलिस ने आरोपियों को चंचलगुडा सेंट्रल जेल में शिफ्ट कर दिया है. कुछ प्रदर्शनकारियों ने कहा कि इन जैसे अपराधियों के लिए समाज में कोई जगह नहीं है और इन्हें एनकाउंटर में मार देना चाहिए.

यह भी पढ़ें- हैदराबाद: साजिश के तहत आरोपियों ने की थी स्कूटी पंक्चर, ऐसे हुआ था हैवानियत का खेल

इस दौरान प्रदर्शनकारी काफी उग्र हो गए. इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शकारियों पर लाठीचार्ज कर दिया. लाठीचार्ज के बाद स्थानीय लोग थाने के आस पास के इलाके से हट गए. पुलिस को प्रदर्शनकारियों को हटाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. वहीं पुलिस ने थाने के आसपास सुरक्षा बलों की तैनाती कर सुरक्षा कड़ी कर दी है. आरोपियों को आज महबूबनगर स्थित फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा और मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा.

यह भी पढ़ें- झारखंड चुनाव : प्रथम चरण में 52 प्रतिशत से ज्यादा मतदान 

बता दें कि महिला पशु चिकित्सक की शमशाबाद स्थित आउटर रिंग रोड (ओआरआर) के टोल प्लाजा पर दो ट्रक चालकों और दो क्लीनरों ने गैंगरेप किया था. इसके बाद गला घोंट कर शव को जला दिया. इस दिला दहला देने वाली घटना से पूरे देश में रोष है. सभी लोग आरोपियों को फांसी की सजा मांग कर रहे हैं. शुक्रवार को स्थानीय लोगों ने पीड़िता की अधजली लाश देख पुलिस को सूचना दी थी. साइबराबाद पुलिस ने शुक्रवार रात चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस विधायक को प्रज्ञा ठाकुर का करारा जवाब कहा- आ रही हूं, जला देना

आरोपियों की पहचान ट्रक चालक मोहम्मद आरिफ, ट्रक चालक चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू, क्लीनर जोलु शिवा और जोलु नवीन के तौर पर हुई है. आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी तीनों आरोपियों की उम्र 20 साल है. इन सभी को तेलंगाना के नारायणपेट जिले से गिरफ्तार किया गया है. महिला डॉक्टर की उम्र 27 साल थी और बुधवार को वह कोल्लुरु के अस्पताल गई थी. शादनगर के टोल प्लाजा के पास ही डॉक्टर ने अपनी स्कूटी को पार्क की थी. रात में जब वह वापस लौटीं तो उनकी स्कूटी पंक्चर थी. इसके बाद महिला डॉक्टर ने अपनी बहन को फोन किया और इसकी जानकारी दी.

First Published : 30 Nov 2019, 08:21:34 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो