News Nation Logo

प्रियंका गांधी की पेंटिंग पर लोकसभा में हंगामा, राहुल गांधी- अनुराग ठाकुर आमने-सामने

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 16 Mar 2020, 12:28:49 PM
प्रियंका गांधी

सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

लोकसभा में सोमवार को एक बार फिर हंगामा हो गया. ये हंगामा उस वक्त हुआ जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर प्रियंका गांधी की पेंटिंग के मसले पर आमने सामने आ गए. दरअसल राहुल गांधी बैंकों की स्थिति पर बात करते हुए सरकार से जवाब मांग रहे थे. इस पर अनुराग ठाकुर ने प्रियंका गांधी का नाम लिए बगैर उन पर निशाना साधा. अनुराग ठाकुर ने कहा, जनता जानती है कि कांग्रेस के किस नेता की पेंटिंग यस बैंक को डुबाने वाले राणा कपूर ने खरीदी. अनु राग ठाकुर ने कहा, मैं कहना नहीं चाहता हूं किसकी पेंटिंग बेची गई है और किसके खाते में पैसा गया है.

क्या है पूरा मामला?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय (ED) से पूछताछ के दौरान राणा कपूर ने स्वीकार किया था कि दक्षिण मुंबई से कांग्रेस के पूर्व सांसद मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) ने राणा पर प्रियंका गांधी से पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पेंटिंग दो करोड़ रुपए में खरीदने का दबाव बनाया था. हालांकि इस आरोप पर कांग्रेस अपनी सफाई पेश कर चुकी है. कांग्रेस पार्टी का कहना है कि प्रियंका गांधी ने मशहूर चित्रकार एमएफ हुसैन की बनाई राजीव गांधी की पेंटिंग राणा कपूर को बेची, तो इसमें कोई बुराई नहीं है. पार्टी ने रविवार को कहा कि प्रियंका ने पेंटिंग से प्राप्त राशि का अपने इनकम टैक्स रिटर्न्स में भी जिक्र किया है.

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश : विधानसभा में नहीं हुआ फ्लोर टेस्ट, कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी BJP

राणा कपूर के स्मार्टफोन से हुआ खुलासा

ईडी के सूत्रों के मुताबिक राणा कपूर ने ईमेल और देवड़ा के ब्लैक बेरी फोन से प्राप्त टेक्स्ट मैसेज को एक दशक तक सहेज कर रखा. इन्हीं ईमेल और मैसेज के हवाले से बताया कि देवड़ा ने ही लेन-देन शुरू किया. देवड़ा ने पहली बार 1 मई 2010 को राणा कपूर को निर्देश दिया था. उन्होंने कपूर को कहा था कि वह 'मिसेज गांधी' को पत्र लिख राजीव गांधी का चित्र खरीदने की इच्छा जताएं. इसके बाद देवड़ा कई टेक्स्ट मैसेज भेजकर कपूर पर दबाव बनाते रहे. हालांकि कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा यस बैंक के संस्थापक को पेंटिंग बेचे जाने के मसले पर विवाद को बढ़ावा दे रही है ताकि असली मुद्दों से ध्यान भटकाया जा सके.

यह भी पढ़ें: गर खांसी-जुकाम भी है, तो नहीं मिलेगा सुप्रीम कोर्ट में प्रवेश, जस्टिस मिश्रा की कड़ी टिप्पणी

देवड़ा ने लिया था सोनिया का भी नाम

देवड़ा ने 29 मई 2010 को लिखा, 'राणा अंकल, मैंने 28 मई का आपका पत्र पाया और उसे पीजी (प्रियंका गांधी) के पास भेज दिया. उनके या उनके परिवार के साथ मीटिंग तो संभव नहीं है. फिर भी मैं प्रयास करूंगा और बाद में इसकी व्यवस्था करूंगा. उनकी मां (सोनिया गांधी) और वह (प्रियंका गांधी) अगले हफ्ते की शुरुआत में ही चेक चाहते हैं. उन्होंने मेरे पिताजी को भी यही बात कही है. देवड़ा ने 2 जून, 2010 को भी कपूर को मैसेज किया. उन्होंने लिखा, 'राणा अंकल, कृपया बताएं कि मैं आपसे चेक कब ले सकता हूं? मैं उन्हें (प्रियंका और सोनिया गांधी को) पिछले कुछ हफ्तों से आश्वासन ही दे रहा हूं, लेकिन अब उनका धैर्य जवाब दे रहा है. कृपया मुझपर विश्वास कीजिए और अब देर मत कीजिए. धन्यवाद. मिलिंद.'

First Published : 16 Mar 2020, 12:07:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.