logo-image
लोकसभा चुनाव

राम मंदिर वहीं बनाएंगे पर तारीख कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बताएंगे : यूपी डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

विपक्षी दलों के नोटबंदी का मुद्दा उठाने पर उन्होंने कहा कि विपक्षी इन दिनों नोटबंदी का मुद्दा उछाल कर देश से माफी मांगने की बात कह रहे हैं.

Updated on: 12 Nov 2018, 11:34 AM

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने रविवार को यहां कहा कि रामलला (Ramlala) हम आएंगे, मंदिर (Ram temple in Ayodhya) वहीं बनाएंगे, लेकिन तारीख राहुल गांधी (Congress President Rahul Gandhi) ही बताएंगे. केशव रविवार को चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि परिसर में आयोजित भाजपा (BJP) कानपुर आईटी विभाग की बुंदेलखंड क्षेत्र की क्षेत्रीय कार्यशाला को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि आईटी जगत में जुड़ा 80 प्रतिशत से अधिक युवा भाजपा (Bhartiya Janta Party) के पक्ष में एक नई क्रांति को सृजित कर रहा है जोकि 2019 की महाविजय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.

कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए केशव ने विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा. विपक्षी दलों के नोटबंदी का मुद्दा उठाने पर उन्होंने कहा कि विपक्षी इन दिनों नोटबंदी का मुद्दा उछाल कर देश से माफी मांगने की बात कह रहे हैं.

कांग्रेस व राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल गांधी को अपने दादा फिरोज गांधी, दादी इंदिरा गाधी और पिता राजीव गांधी की शायद याद न हो लेकिन नोटबंदी की तारीख याद है, क्योंकि राहुल गांधी की चार पीढ़ियों की कमाई पीएम मोदी के एक फैसले से रद्दी में बदल गई थी.

और पढ़ें: राम मंदिर निर्माण में सबसे बड़ी बाधा है कांग्रेस, जो राम की नहीं हुई वो किस काम की होगी: योगी आदित्यनाथ

नोटबंदी से एसपी-बीएसपी (SP-BSP) भी बेचैन हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र में हमारी लड़ाई कांग्रेस से रहती है और प्रदेश में कुछ लड़ाई एसपी-बीएसपी (SP-BSP) से बची है. एसपी और बीएसपी ने प्रदेश को 20 साल, जबकि कांग्रेस ने देश को 100 साल पीछे कर दिया. इसलिए देश से इन्हें माफी मांगनी चाहिए.

राम मंदिर का मुद्दा छेड़ते हुए केशव ने जय श्रीराम के नारे लगाए और राम मंदिर का एक नया स्लोगन देते हुए कहा कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे, लेकिन तारीख राहुल गांधी ही बताएंगे.

इससे पहले केशव ने आईटी विभाग के कार्यकर्ताओं को साइबर योद्धा नाम दिया और कहा कि इस बार लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया सबसे बड़ा मंच होगा. हम सभी को आज सोशल मीडिया की दरकार है. आज अगर हम लोग सोशल मीडिया से मुंह मोड़ लेंगे तो हम पीछे रह जाएंगे. इसलिए हर राजनीतिक दल, सामाजिक संगठन और सामाजिक गतिविधियों में जुड़ा हर शख्स सोशल मीडिया को अपना माध्यम बना कर आगे बढ़ रहा है.

और पढ़ें: अमित शाह गरजे, जिस पार्टी को नक्‍सलवाद में क्रांति दिखती है, वह छत्‍तीसगढ़ का भला नहीं कर सकती

उन्होंने कहा कि आईटी जगत में जुड़ा 80 प्रतिशत से अधिक युवा भाजपा के पक्ष में एक नई क्रांति को सृजित कर रहा है जोकि 2019 की महा विजय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.

इसके बाद उन्होंने झांसी मंडल में लोक-निर्माण-विभाग की विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया.