News Nation Logo
Banner

UP Board 10th & 12th Results 2019: क्या लड़कियां कायम रख पाएंगी सालों से चली आ रही परंपरा

लड़कों के मुकाबले लड़कियों के पास होने की प्रतिशत न सिर्फ ज्यादा है, बल्कि फर्स्ट क्लास पास होने के मामले में भी लड़कियां फर्स्ट बनी हुई हैं. यह बात 10वीं और 12वीं क्लास दोनों पर लागू हो रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 27 Apr 2019, 06:49:49 PM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र

नई दिल्ली.:

यूपी बोर्ड परिणामों में पिछले कई सालों से लड़कियों का दबदबा बना हुआ है. लड़कों के मुकाबले लड़कियों के पास होने की प्रतिशत न सिर्फ ज्यादा है, बल्कि फर्स्ट क्लास पास होने के मामले में भी लड़कियां फर्स्ट बनी हुई हैं. यह बात 10वीं और 12वीं क्लास दोनों पर लागू हो रही है. 2019 का 10वीं और 12वीं का UP Board Result पिछले साल यानी 2018 के मुकाबले दो दिन पहले आ रहा है. हालांकि 2017 में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर यूपी बोर्ड परिणाम जून में आए थे. उस साल भी चुनावी गहमागहमी के बावजूद लड़कियों ने अपना ध्यान भंग नहीं होने दिया और लड़कों को कहीं पीछे छोड़ा था.

यह भी पढ़ेंः UP Board 10th 12th Results 2019 Live Updates: यूपी बोर्ड का रिजल्ट कुछ ही देर में होगा घोषित

पिछले साल यानी 2018 में यूपी बोर्ड के 10वीं पास करने वाले स्टूडेंट्स का प्रतिशत 71.16 रहा था, जबकि 72.43 प्रतिशत छात्र-छात्राएं 12वीं पास करने वाले थे. बीते साल भी 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में लड़कियों ने लड़कों को पास होने के मामले में पीछे छोड़ा था. इलाहाबाद की अंजली वर्मा ने 96.35 फीसदी अंकों के साथ 10वीं में पूरे प्रदेश में टॉप किया था. 12वीं में फतेहपुर के रजनीश शुक्ला और बाराबंकी के आकाश मोर्या संयुक्त रूप से 96.35 फीसदी अंक हासिल कर शीर्ष पर रहे थे.

2018 में 10वीं की परीक्षा पास करने वाली लड़कियों की संख्या लड़कों के मुकाबले 6.54 प्रतिशत अधिक थी, जबकि 12वीं की परीक्षा में यह अंतर 11.08 फीसदी अधिक था. 10वीं की परीक्षा पास करने वाली लड़कियों की प्रतिशत 78.81 था, जबकि 72.27 फीसदी लड़के ही 10वीं पास करने में सफल हुए थे. 12वीं में जहां 67.36 फीसदी लड़के ही पास हो सके थे. वहीं लड़कियों की हिस्सेदारी 78.44 फीसदी थी.

यह भी पढ़ेंः UP Board Class 12th Result 2019 LIVE UPDATES: यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट का रिजल्ट आज, यहां से करें चेक

2017 में भी लड़कियां आगे रहीं. फतेहपुर की तेजस्वी देवी और प्रियांशी तिवारी ने 10वीं और 12वीं में टॉप किया था. तेजस्वी देवी ने 10वीं 95.83 फीसदी अंक तो प्रियांशी तिवारी ने 12वीं में 96.20 फीसदी अंक हासिल किए थे. 2017 में 10वीं के 81.6 फीसदी और 12वीं के 82.5 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे. इनमें भी फर्स्ट क्लास पास होने वालों में लड़कियों की संख्या अच्छी-खासी थी.

2017 में लड़कियों का दबदबा और उभर कर सामने आया था. 10वीं में जहां 76.75 फीसदी लड़के ही पास हुए थे, वहीं 86.50 लड़कियों ने पास होने में सफलता हासिल की थी. 12वीं में तो यह अंतर 10 फीसदी से अधिक का हो गया था. 77.16 लड़कों की तुलना में 88.80 प्रतिशत लड़कियां पास हुई थीं. गौर करने वाली बात यह भी थी कि इस साल 10वीं और 12वीं के टॉपर फतेहपुर से थे और दोनों ही लड़कियां थीं.

यह भी पढ़ेंः UP Board 10th 12th result 2019: यूपी बोर्ड में पास होने के लिए चाहिए इतने नंबर, पढ़ें पूरी डिटेल



इसके पहले के कई सालों से लड़कियों ने अपना दबदबा बनाए रखा था. 2016 में 10वीं के 87.66 प्रतिशत और 12वीं के 87.99 स्टूडेंट्स पास हुए थे. उस साल यूपी बोर्ड की 10वीं औऱ 12वीं की परीक्षाओं में 68 लाख 21 हजार 869 विद्यार्थी पास हुए थे. हालांकि 10वीं की तुलना में 12वीं परीक्षा में बैठने वाले स्टूडेंट्स की संख्या में 7 लाख का अंतर था.

First Published : 27 Apr 2019, 12:15:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो