News Nation Logo
Banner

उन्नाव रेप केस: कांग्रेस ने योगी आदित्यनाथ से मांगा इस्तीफा, बताया 'रावण' सरकार

News Nation Bureau | Edited By : Saketanand Gyan | Updated on: 11 Apr 2018, 06:37:08 PM
कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला (फाइल फोटो)

highlights

  • रणदीप सिंह सुरजेवाला ने योगी आदित्यनाथ सरकार को 'रावण' की सरकार बताया
  • रेप पीड़िता के पिता की मौत सोमवार को हिरासत में हो गई थी
  • बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाईयों पर युवती से रेप का आरोप

नई दिल्ली:  

कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव में 18 साल की लड़की के साथ हुए गैंगरेप और उसके पिता की हिरासत में हुई मौत के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का इस्तीफा मांगा है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने योगी आदित्यनाथ सरकार को 'रावण' की सरकार बताया है जो कि महिला की सुरक्षा नहीं कर सकती है।

सुरजेवाला ने कहा, 'योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्हें तुरंत बर्खास्त करना चाहिए।'

बता दें कि 18 साल की लड़की के साथ उन्नाव के बांगरमऊ सीट से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके भाईयों ने कथित तौर पर बलात्कार किया था।

रेप पीड़िता के पिता की मौत सोमवार को हिरासत में हो गई थी। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी इस मामले पर योगी आदित्यनाथ से इस्तीफा मांग चुके हैं।

इससे पहले मंगलवार को गैंगरेप के मामले में पुलिस ने बीजपी विधायक को गिरफ्तार किया था। मामले की तहकीकात के लिए मंगलवार को ही एसआईटी (विशेष जांच टीम) गठित की गई।

एसआईटी के पहले दिन की जांच पर डीआईजी प्रवीण कुमार ने कहा, 'एसआईटी ने अपराध के घटनास्थल का मुआयना किया है। पीड़ित और आरोपी दोनों पक्षों के साथ बातचीत की गई है। स्थानीय अधिकारियों से भी सूचना इकट्ठा की गई है। डीजीपी के सामने प्रारंभिक जांच को सामने रखने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।'

इसके अलावा एक और ट्वीट में कांग्रेस ने कहा कि यह बहुत ही आश्चर्यजनक है कि योगी सरकार ने पूर्व बीजेपी मंत्री के खिलाफ लगे रेप के आरोप को हटा लिया। इससे राज्य में अपराधियों को बढ़ावा मिलेगा और महिला सुरक्षा खतरे में डाला जा रहा है जिससे राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले बढ़े हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने लखनऊ में कहा कि सरकार ने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ केस वापस लेने का फैसला किया है।

चिन्मयानंद के खिलाफ 30 नवंबर 2011 को एफआईआर दर्ज किया गया था जब एक लड़की ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

और पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में आतंकियों से एनकाउंटर जारी, एक जवान शहीद

First Published : 11 Apr 2018, 04:49:15 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.