News Nation Logo

ईरान ने आईएईए से तकनीकी सहयोग बनाए रखने का किया आग्रह

ईरान ने आईएईए से तकनीकी सहयोग बनाए रखने का किया आग्रह

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 23 Nov 2021, 01:15:01 PM
UNITED NATIONS,

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

तेहरान: ईरान के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) को ईरान के साथ तकनीकी सहयोग बनाकर रखना चाहिए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने आईआरएनए का हवाला देते हुए कहा कि मंत्रालय के प्रवक्ता सईद खतीबजादेह ने साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि संयुक्त राष्ट्र परमाणु निगरानी संस्था को कुछ देशों को एजेंसी के नाम पर अपने राजनीतिक झुकाव और इरादों को आगे बढ़ाने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।

आईएईए के महानिदेशक राफेल ग्रॉसी के सोमवार शाम को तेहरान पहुंचने की उम्मीद है। ग्रॉसी ने अपनी यात्रा से पहले ट्वीट किया, मैं सीधे संवाद के लिए एक उपयोगी और सहयोगी चैनल स्थापित करने की उम्मीद करता हूं, ताकि आईएईए देश में आवश्यक सत्यापन गतिविधियों को फिर से शुरू कर सके।

खतीबजादेह ने कहा कि यात्रा का एक विशिष्ट एजेंडा है जिसे ईरान ने तेहरान और एजेंसी के बीच मौजूदा मुद्दों पर ध्यान देते हुए निर्धारित किया है।

उन्होंने कहा, हमने हमेशा तकनीकी ढांचे के भीतर इन मुद्दों को हल करने की कोशिश की है, क्योंकि हमने एजेंसी को उसी ढांचे के भीतर काम को आगे बढ़ाने के लिए कहा है। यह यात्रा इस दिशा में एक कदम है।

खतीबजादेह ने उल्लेख किया कि ईरानी परमाणु सुविधाओं के खिलाफ कार्रवाई और आतंकवादी हमलों का कुछ तकनीकी आयामों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ा है और आईएईए इस बारे में अच्छी तरह से अवगत है।

ईरान ने जून के अंत में घोषणा की है कि उसका टीईएसए संयंत्र, तेहरान के पश्चिम में करज शहर के पास एक अपकेंद्रित्र घटक निर्माण कार्यशाला में तोड़फोड़ करने की कोशिश का लक्ष्य बनाया था। कुछ दिनों बाद, ईरानी अधिकारियों ने हमले के लिए इजराइल को दोषी ठहराया।

आईएईए में सितंबर में ईरानी राजदूत ने कहा कि तेहरान से उन निगरानी कैमरों को फिर से स्थापित करने की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए जो हमले में क्षतिग्रस्त हुए थे। बिना किसी लागत के इजराइल के लिए और एजेंसी और दावेदार देशों द्वारा किसी भी उपाय के बिना ऐसा नहीं करना चाहिए।

आईएईए ने 17 नवंबर को लिखा कि ग्रॉसी ने इस विचार को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया कि आईएईए निगरानी कैमरों का इस्तेमाल तोड़फोड़ की साजिश में किया गया हो सकता है।

पश्चिमी मीडिया द्वारा उद्धृत परमाणु निगरानी संस्था की एक रिपोर्ट के अनुसार, ईरान ने आईएईए से कहा कि वह जांच कर रहा है कि क्या आतंकवादियों ने परिसर पर हमला करने के लिए एजेंसी के कैमरों का इस्तेमाल किया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 23 Nov 2021, 01:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो