News Nation Logo
Banner

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने बताया किस वजह से देश में बढ़े प्याज के दाम

तोमर ने कहा, मैंने मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर इस समस्या का समाधान करने को लेकर कदम उठाने को कहा है.

By : Ravindra Singh | Updated on: 12 Dec 2019, 08:53:47 PM
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Photo Credit: ट्वीटर)

नई दिल्‍ली:

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमार ने गुरुवार को संसद में कहा कि चालू सीजन में प्याज का उत्पादन कम होने की वजह से कीमतों में वृद्धि हुई है. लोकसभा में फसल की क्षति और किसानों पर इसके प्रभाव विषय पर चर्चा के दौरान कृषि मंत्री ने कहा कि चालू सीजन में प्याज का उत्पादन कम होने के कारण आपूर्ति कम हो रही है जिसके चलते कीमतों में इजाफा हुआ है. उन्होंने बताया कि नवंबर में 69.9 लाख टन प्याज का उत्पादन होने की उम्मीद की जा रही थी लेकिन उत्पादन घटकर तकरीबन 53.73 लाख टन रहने का अनुमान है.

उन्होंने कहा कि प्याज की आपूर्ति में कमी की समस्या का समाधान करने के लिए सरकार ने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है और आयात करने का आदेश दिया है. तोमर ने कहा, मैंने मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर इस समस्या का समाधान करने को लेकर कदम उठाने को कहा है. उन्होंने बताया कि भारत में तीन सीजन में प्याज का उत्पादन होता है जिसमें 70 फीसदी प्याज का उत्पादन रबी सीजन में होता है जबकि 20 फीसदी खरीफ सीजन में और 10 फीसदी खरीफ के बाद के सीजन (जायद सीजन) में होता है.

पिछले सप्ताह से दिल्ली में प्याज के दामों में 23 फीसदी गिरावट आई
देश में प्याज के प्रमुख उत्पादक प्रदेश महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, गुजरात और राजस्थान हैं. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह गृहमंत्री अमित शाह ने प्याज के बढ़ते दाम को थामने के लिए सरकार द्वारा किए गए उपायों का जायजा लिया था. देश की राजधानी दिल्ली में पिछले सप्ताह के मुकाबले प्याज के थोक दाम में 23 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है, लेकिन खुदरा प्याज अभी भी 70-120 रुपये किलो बिक रहा है. अफगानिस्तान से प्याज की आपूर्ति बढ़ने से दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में प्याज के दाम में गिरावट आई है.

यह भी पढ़ें-इस केंद्रीय मंत्री का दावा एयर इंडिया की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी सरकार

दिल्ली की आजादपुर मंडी में बुधवार को प्याज का थोक भाव गिरकर 20-65 रुपये प्रति किलो पर आ गया, जबकि पिछले सप्ताह पांच दिसंबर को आजादपुर मंडी में प्याज का थोक दाम 25-85 रुपये प्रति किलो था, इस प्रकार प्याज के दाम में पिछले सप्ताह के मुकाबले 20 रुपये यानी 23.52 फीसदी की गिरावट आई है. आजादपुर मंडी एपीएमसी की कीमत सूची के अनुसार, बुधवार को राज्यस्थान और हरियाणा से आए प्याज का भाव 20-65 रुपये प्रति किलो जबकि आयातित प्याज का भाव 37.50-62.50 रुपये प्रति किलो था. वहीं, आवक 854.1 टन थी जिसमें 186 टन विदेशी प्याज था.

यह भी पढ़ें-भारतीय इंजीनियरों के योगदान से सिस्को ने पेश किया 'भविष्य का इंटरनेट'

अफगानिस्तान और मिस्र से भी हो रही प्याज की आपूर्ति
आजादपुर मंडी के कारोबारी और ऑनियन मर्चेट एसोसिएशन के प्रेसीडेंट राजेंद्र शर्मा ने बताया कि अफगानिस्तान के अलावा तुर्की और मिस्र से भी व्यापारिक स्रोत से प्याज की आपूर्ति हो रही है, जिससे कीमतों में नरमी आई है. महाराष्ट्र और गुजरात में प्याज की नई फसल की आवक तेज हो गई है. कारोबारी सूत्रों ने बताया कि दाम ऊंचा होने की वजह से किसान समय से पहले ही अपने खेतों से प्याज निकालने लगे हैं.

First Published : 12 Dec 2019, 08:53:47 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो