News Nation Logo

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने देशों से सभी को स्वास्थ्य, स्वच्छता देने का वादा निभाने का किया आग्रह

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने देशों से सभी को स्वास्थ्य, स्वच्छता देने का वादा निभाने का किया आग्रह

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 20 Nov 2021, 10:35:01 AM
UN Secretary-General

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

संयुक्त राष्ट्र (न्यूयॉर्क): संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने विश्व शौचालय दिवस के लिए एक संदेश में देशों से यह सुनिश्चित करने का आान किया कि हर किसी को अच्छा स्वास्थ्य और स्वच्छता की सुविधा मिले।

उन्होंने शुक्रवार को कहा, शौचालय के बिना जीवन गंदा, खतरनाक और गरिमाहीन है।

फिर भी 3.6 अरब लोग अभी सुरक्षित रूप से प्रबंधित स्वच्छता, स्वास्थ्य के लिए खतरा, पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने और आर्थिक विकास में बाधा के बिना रहते हैं।

संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के मुताबिक, उचित स्वच्छता का अभाव भी घातक हो सकता है। असुरक्षित पानी और डायरिया से हर दिन 5 साल से कम उम्र के 700 से ज्यादा बच्चों की मौत हो जाती है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, विश्व शौचालय दिवस, जो हर साल 19 नवंबर को आता है और 2013 से मनाया जा रहा है। उसका उद्देश्य स्वच्छता को वैश्विक विकास प्राथमिकता देना है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के अनुसार, शौचालय जीवन बचाते हैं और लैंगिक समानता और समाज को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।

उन्होंने कहा, इतिहास हमें सिखाता है कि तेजी से प्रगति संभव है।

कई देशों ने स्वच्छता सुविधाओं पर कम करके और सभी के पास शौचालय की पहुंच सुनिश्चित करके अपनी स्वास्थ्य प्रणालियों को बदल दिया है।

गुटेरेस ने शौचालय से लेकर मानव अपशिष्ट के परिवहन, संग्रह और उपचार तक, पूरी स्वच्छता सीरीज के साथ-साथ तत्काल और बड़े पैमाने पर निवेश के साथ-साथ नवाचार का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि पानी और स्वच्छता के बुनियादी मानव अधिकार को पहुंचाना न केवल लोगों के लिए अच्छा है, बल्कि व्यापार और ग्रह के लिए भी अच्छा है।

इस वर्ष की थीम शौचालयों के महत्व को लेकर है। अभियान इस तथ्य की ओर ध्यान आकर्षित करता है कि शौचालय और स्वच्छता प्रणालियां जो उनका समर्थन करती हैं जो दुनिया के कई हिस्सों में कम, खराब प्रबंधन या उपेक्षित स्वास्थ्य, अर्थशास्त्र और पर्यावरण के लिए विनाशकारी परिणामों के साथ, विशेष रूप से सबसे गरीब और हाशिए पर रहने वाले समुदाय हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 20 Nov 2021, 10:35:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.