News Nation Logo
Banner

उद्धव ठाकरे होंगे महाराष्ट्र के सीएम, तो अजीत पवार होंगे गृह मंत्री

सूत्रों के मुताबिक उद्धव ठाकरे राज्य के मुख्यमंत्री तो अजित पवार गृह मंत्री हो सकते हैं. राजस्व मंत्री का पद कांग्रेस के खाते में जा सकता है. इस कड़ी में शिवसेना और कांग्रेस ने शुक्रवार को अपने-अपने विधायकों की बैठक मुंबई में बुलाई है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 21 Nov 2019, 11:47:13 PM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: (फाइल फोटो))

highlights

  • विधायकों की संख्या के आधार पर गठबंधन सरकार का रूप-स्वरूप तय.
  • उद्धव ठाकरे होंगे मुख्यमंत्री. रोटेशनल सीएम पर नहीं हुई चर्चा.
  • कांग्रेस को राजस्व तो गृह मंत्री का पद एनसीपी को मिलना तय.

New Delhi:

महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार बनाने को लेकर पिछले कई दिनों से जारी ऊहापोह पर गुरुवार शाम राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण के बयान ने पूर्णविराम लगाने का काम किया है. उनके बयान से साफ हो गया कि अगले 24 घंटों में महाराष्ट्र में जारी अनिश्चितता खत्म हो सकती है. शिवसेना के अलग राह पकड़ने से बीजेपी फिलहाल चुप्पी साधे है. हालांकि महाराष्ट्र में गठबंधन का नाम तक तय हो गया है, जिसे 'महाविकास अघाड़ी' के नाम से जाना जाएगा. सूत्रों के मुताबिक उद्धव ठाकरे राज्य के मुख्यमंत्री तो अजित पवार गृह मंत्री हो सकते हैं. राजस्व मंत्री का पद कांग्रेस के खाते में जा सकता है. इस कड़ी में शिवसेना और कांग्रेस ने शुक्रवार को अपने-अपने विधायकों की बैठक मुंबई में बुलाई है.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर पृथ्वीराज चव्हाण का बयान, बोले- कांग्रेस-NCP के बीच बनी सहमति, अब...

विधायकों की संख्या के आधार पर बंटवारा
इसके पहले गुरुवार को मुंबई से लेकर दिल्ली तक कांग्रेस और एनसीपी नेताओं की बैठकों का दौर जारी है. गुरुवार शाम जब कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण मीडिया के सामने आए तो उन्होंने साफ कहा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के तौर-तरीकों पर कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के बीच सहमति बन चुकी है. सूत्रों के मुताबिक तीनों ही पार्टियां विधानसभा में अपने सीटों के हिसाब से मंत्रालयों के बंटवारे पर भी सैद्धांतिक तौर पर एकमत हो चुकी हैं.

यह भी पढ़ेंः MEA: पाकिस्तान में गिरफ्तार 2 भारतीय नागरिकों के लिए मांगा काउंसलर एक्सेस, आतंकी कहकर पाक प्रोपेगेंडा न फैलाए

गठबंधन के संयोजक पर फैसला शुक्रवार को
रिपोर्टों की मानें तो गठबंधन का नाम 'महाविकास अघाड़ी' हो सकता है. इस नए गठबंधन का एक संयोजक भी बनाया जाएगा जिस पर अंतिम सहमति शुक्रवार को मुंबई में बन सकती है. इससे पहले गुरुवार को दिन में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर 10 जनपथ पर कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक हुई. मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल, एके एंटनी और अधीर रंजन चौधरी समेत कई वरिष्ठ नेताओं ने इस बैठक में हिस्सा लिया. मीटिंग के बाद कांग्रेस के नेता केसी वेणुगोपाल ने बताया, 'लगातार कांग्रेस और एनसीपी के बीच चर्चा जारी रही. मुझे लगता है कि कल मुंबई में फैसला हो सकता है.'

यह भी पढ़ेंः पीएम मोदी बोले- भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में CAG की भूमिका अहम

मुंबई में कल होगा बैठकों का दौर
महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार की दशा-दिशा तय करने के लिए शिवसेना पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को शिवसेना विधायकों की सुबह 10 बजे बैठक बुलाई. मातोश्री पर होने वाली बैठक में सरकार गठन पर चर्चा होगी. पहले यह बैठक 12 बजे होनी थी, लेकिन उद्धव ठाकरे कल 12 बजे बीएमसी जाएंगे. इस कारण अब 10 बजे होगी बैठक. उधर कांग्रेस के विधायकों की भी शाम 4 बजे बैठक होगी. बैठक में विधायक दल का नेता चुना जाएगा. सभी कांग्रेस के विधायकों को मुंबई में हाजिर रहने का आदेश दिया है. दादर के तिलक भवन में बैठक बुलाई गई है. फिलहाल सूत्रों के मुताबिक शिवसेना-एनसीपी औऱ कांग्रेस के बीच मंत्रियों के नामों पर सहमति बन चुकी है.

यह भी पढ़ेंः Madhya Pradesh: व्यापमं घोटाले में सभी 31 आरोपी दोषी करार, 25 को सुनाई जाएगी सजा

मंत्रिमंडल में ये हो सकते हैं शामिल
शिवसेना
एकनाथ शिंदे, सुभाष देसाई, दिवाकर रावते, सुनील प्रभू, दीपक केसरकर, संजय राठोड़, आशिष जैसवाल, गुलाबराव देवकर, उदय सामंत, प्रदीप जैसवाल, तानाजी सावंत

एनसीपी
अजित पवार, छगन भुजबल, दिलीप वलसे पाटील, अनिल देशमुख, धर्मराव आत्राम, राजेश टोप

कांग्रेस
पृथ्वीराज चव्हाण, बालासाहब थोरात, वर्षा गायकवाड, यशोमति ठाकूर, नाना पटोले, विजय वडेट्टीवार, असलम शेख

First Published : 21 Nov 2019, 07:13:29 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.