News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की

राजस्थान की 2 पंचायतों की महिलाओं ने वोटिंग के जरिए कराई शराबबंदी

राजस्थान की 2 पंचायतों की महिलाओं ने वोटिंग के जरिए कराई शराबबंदी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 15 Nov 2021, 10:15:01 PM
Two panchayat

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

जयपुर: राजस्थान के राजसमंद जिले की दो पंचायतों बरार और वैर की महिलाओं ने बड़ी संख्या में एकजुट होकर एक शराब की दुकान को हटाने के लिए मतदान किया।

गांव में शराब की दुकान (ठेका) होगी या नहीं, इसके लिए मतदान कराया गया था, जिसमें महिलाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया और शराब की बिक्री न होने के पक्ष में अधिक मतदान किया गया, जिससे अब इन गांवों में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध का रास्ता साफ हो गया है।

ये दोनों पंचायतें शनिवार को गांव में शराब की दुकान हटाने के पक्ष में मतदान करने वाली जिले की चौथी और पांचवीं पंचायत बन गई हैं। इससे पहले राजसमंद के भीमा अनुमंडल के कछबली, मंडावर और थानेटा पंचायतों में इसके लिए मतदान हो चुका है।

ग्रामीणों के आंदोलन के बाद राजस्थान आबकारी अधिनियम की संबंधित धारा के तहत मतदान हुआ।

राजस्थान आबकारी (स्थानीय विकल्प द्वारा देशी शराब की दुकान को बंद करना) नियम, 1975 में पंचायत मतदान के माध्यम से शराब की दुकानों को बंद करने का प्रावधान है, यदि पर्याप्त लोग इसके खिलाफ मतदान करते हैं।

मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चला और 64 फीसदी मतदान दर्ज किया गया, जिसमें अधिकतर महिलाएं शामिल रहीं।

आवश्यक न्यूनतम वोट कुल पंजीकृत 5,632 मतदाताओं का 51 प्रतिशत होना जरूरी था।

इस कदम के पक्ष में कुल 3,326 मत पड़े, जबकि 175 ने प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 15 Nov 2021, 10:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.