News Nation Logo

कोरोना वायरस से बचने डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी से मांगी खास दवा, कहा- मैं खाऊंगा

ट्रंप (Donald Trump) ने पीएम मोदी से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) टेबलेट्स की सप्लाई की गुजारिश की है. उन्होंने कहा कि मैं भी इसे (दवा को) ले सकता हूं, मुझे डॉक्टरों से इस बारे में बात करनी होगी.

By : Nihar Saxena | Updated on: 05 Apr 2020, 09:01:57 AM
Donald Trumo Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत में डोनाल्ड ट्रंप ने मांगी खास दवा (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी से पैदा हुई स्थिति से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ शनिवार को विस्तृत बातचीत की. दोनों नेताओं ने कोविड-19 संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका साझेदारी की पूरी ताकत का उपयोग करने का संकल्प लिया. इस दौरान ट्रंप (Donald Trump) ने पीएम मोदी से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) टेबलेट्स की सप्लाई की गुजारिश की है. उन्होंने कहा कि मैं भी इसे (दवा को) ले सकता हूं, मुझे डॉक्टरों से इस बारे में बात करनी होगी. इस बीच अमेरिका में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 3,00,000 हो गई है और देश में 8,100 से ज्यादा लोग इस संक्रमण (Infection) के कारण जान गंवा चुके हैं.

यह भी पढ़ेंः इमरान खान जरा अपनी गिरेबां में झांकें, कोरोना फंड के नाम पर डॉक्टरों के वेतन में कर दी कटौती

फिलहाल भारत ने निर्यात पर लगा रखी है रोक
दरअसल, कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करने वाली मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन के निर्यात पर भारत सरकार ने रोक लगा दी है. सरकार का कहना है कि इस दवा की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए तत्काल प्रभाव से इस पर रोक लगाना जरूरी है. ऐसे में अमेरिका समेत अन्य देशों में इस टेबलेट की मांग बढ़ गई है. ये दवा एंटी मलेरिया ड्रग क्लोरोक्वीन से अलग दवा है. यह एक टेबलेट है जिसका उपयोग ऑटोइम्यून रोगों जैसे कि जोड़ों के दर्द के इलाज में किया जाता है, लेकिन इसे कोरोना से बचाव में इस्तेमाल किये जाने की बात भी सामने आई है.

यह भी पढ़ेंः जमातियों के चलते फैले कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लखनऊ में 48 घंटे का कर्फ्यू

सार्स-सीओवी-2 में भी प्रभावी
इस दवा का खास असर सार्स-सीओवी-2 पर पड़ता है. यह वही वायरस है जो कोविड-2 का कारण बनता है. ये भी बता दें कि इसी आर्टिकल के हवाले से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 21 मार्च वाला ट्विट किया था. इस बात की शुरुआत तब हुई जब 19 मार्च को द लैंसेट ग्लोबल हेल्थ में लिखे एक आर्टिकल में इस दवा के फायदे और बीमारियों से लड़ने की क्षमता के बारे में बताया गया. इस आर्टिकल मे इस बता पर जोर दिया गया कि यह दवा कोरोनो वायरस के खिलाफ एंटी-वायरल तरीके से काम करती है.

यह भी पढ़ेंः नहीं रुक रहा जमातियों का ड्रामा और नर्सिंग स्टाफ से अश्लीलता, अब दिल्ली में किया 'कांड'

कोरोना से मिलकर लड़ेंगे भारत-अमेरिका
कोरोना वायरस महामारी से पैदा हुई स्थिति से निपटने के लिए पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका साझेदारी की पूरी ताकत का उपयोग करने का संकल्प लिया. मोदी ने इस बातचीत के बारे में ट्वीट कर कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ टेलीफोन पर विस्तृत चर्चा हुई. हमारी चर्चा काफी अच्छी रही और हमने कोविड-19 से निपटने में भारत-अमेरिका साझेदारी की पूरी ताकत का उपयोग करने पर सहमति व्यक्त की. इस दौरान ट्रंप ने पीएम मोदी से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टेबलेट्स की सप्लाई की गुजारिश की है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं भी इसे (दवा को) ले सकता हूं, मुझे डॉक्टरों से इस बारे में बात करनी होगी.

  • HIGHLIGHTS
  • कोरोना संक्रमण से लड़ने नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप में हुई बातचीत.
  • कोविड-19 संक्रमण के खिलाफ रणनीति के तहत उठाए जाएंगे कदम.
  • इस दौरान ट्रंप ने पीएम मोदी से मांगी खास दवा और कहा मैं भी खाऊंगा.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 05 Apr 2020, 09:01:57 AM