News Nation Logo

हैवान होती जा रही 'इंसानियत', कैसे बचेंगी देश की लड़कियां ?

अगर सिर्फ एक हफ़्ते की बात करें तो हरियाणा के रेवाड़ी, देहरादून और दिल्ली में कुछ ऐसी घटनाएं सामने आयी है जो किसी भी समाज के इंसान को हिला कर रख देगा.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Kumar | Updated on: 18 Sep 2018, 08:03:26 PM
रेप की इन तीन घटनाओं ने पूरे देश को झकझोरा (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली में साल 2012 में निर्भया गैंगरेप के बाद देश के अंदर जिस तरह का ग़ुस्सा दिखा, वैसे में लगा था आने वाले समय में क़ानून से लेकर समाज तक जागेगा. हालांकि इस घटना के बाद से गैंगरेप जैसी क्रूरतम घटनाओं का सिलसिला बढ़ता ही चला गया. अगर सिर्फ एक हफ़्ते की बात करें तो हरियाणा के रेवाड़ी, देहरादून और दिल्ली में कुछ ऐसी घटनाएं सामने आयी है जो किसी भी समाज के इंसान को हिला कर रख देगा. सबसे पहले बात करते हैं देहरादून की जहां एक ऐसा मामाला सामने आया है जो आपको अंदर तक झकझोर कर रख देगा.

देहरादून में बोर्डिंग स्कूल की एक 16 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है. पुलिस ने फिलहाल इस मामले में चार नाबालिग छात्रों को गिरफ्तार किया है.

इस मामले में पुलिस ने 5 और स्कूल के प्रशासनिक सदस्यों को भी तथ्यों से छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार किया है. चारों लड़कों और स्कूल प्रशासन के 5 सदस्यों जिसमें निदेशक, प्रिंसिपल, एक प्रशासनिक अधिकारी और उनकी पत्नी और एक हॉस्टल का केयरटेकर है. पीड़ित लड़की कक्षा 10 की छात्रा है और स्कूल के ही चार बच्चों पर रेप का आरोप लगा है.

इन सभी 9 लोगों का नाम एफआईआर में दर्ज है और इन्हें सोमवार को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, 'लड़की ने चारों लड़कों द्वारा गैंगरेप के बारे में स्कूल प्रशासन को सूचित किया था लेकिन पुलिस और परिवार वालों को बताने के बदले स्कूल प्रशासन ने उसे गर्भपात के लिए कई तरह की दवाईयां दी.'

उन्होंने कहा, 'स्कूल प्रशासन ने बाद में लड़की को गर्भपात के लिए एक नर्सिंग होम भी लेकर गए. स्कूल प्रशासन ने उस पर काफी दबाव बनाया कि इस गैंगरेप की घटना के बारे में वो किसी को नहीं बताए.'

14 अगस्त को हुई गैंगरेप के इस वारदात के बाद देहराहदून की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) ने रविवार को प्राथमिक जांच के आदेश दे दिेए.

सोमवार को इस मामले में 9 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 डी (गैंगरेप), 120 बी (आपराधिक साजिश), 201 (सबूत मिटाने की कोशिश) और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया.

घटना देहरादून के ग्रामीण इलाके में स्थित एक बोर्डिंग स्कूल की है. इस बात का खुलासा तब हुआ जब छात्रा गर्भवती हो गई. दुराचार का आरोप स्कूल के कुछ सीनियर छात्रों पर लगाया जा रहा है.

मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस एसडीएम विकासनगर और बाल कल्याण समिति के साथ स्कूल पहुंची और मामले की पूरी जानकारी ली. स्कूल और हॉस्टल में प्राथमिक जांच के बाद घटना के सही होने के संकेत मिले हैं. पुलिस ने स्कूल और हॉस्टल प्रबंधन से भी पूछताछ चल रही है.

बता दें कि स्कूल में दो सगी बहनें एक ही कक्षा में पढ़ती हैं. बताया जा रहा है कि उनके माता पिता के बीच झगड़ा रहता है तो वे उनसे मिलने भी नहीं आ पाते हैं. बीते दिनों छोटी बहन की तबीयत खराब हुई तो उसने बड़ी बहन को सारी बात बताई. पता चला कि छात्रा एक माह के गर्भ से है. बताया जा रहा है कि पीड़ित छात्रा ने तीन-चार छात्रों के नाम भी बताए, जिन्होंने उसके साथ दुराचार किया था.

और पढ़ें- देहरादून के स्कूल में नाबालिग छात्रा से गैंगरेप, 4 आरोपी छात्र सहित 9 गिरफ्तार, स्कूल ने गर्भपात के लिए बनाया था दबाव

हरियाणा के रेवाड़ी में छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म

वहीं हरियाणा के रेवाड़ी में एक छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है जिसमें कथित तौर पर पांच लोगों ने गैंगरेप किया है. घटना महेंद्रगढ़ जिले के कनिना की है. आरोप है कि इन पांच लोगों ने 12 सितम्बर को पहले लड़की को नशीला पदार्थ खिलाया और किडनैप किया फिर उसका गैंगरेप कर बस स्टैंड पर छोड़कर फरार हो गए.

19 वर्षीय पीड़ित छात्रा के मुताबिक, सभी आरोपी उसके गांव के ही रहने वाले हैं. लड़की फिलहाल एक कॉलेज में सेकेंड ईयर की छात्रा है. परिवारवालों के मुताबिक जब ये हादसा हुआ, वो कोचिंग के लिए जा रही थी. लड़की ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उसकी शिकायत लिखने में काफी देरी की और उसे कई थानों के चक्कर काटने पड़े.

फिलहाल इस मामले में तीन लोग गिरफ्तार हो चुके हैं जबकि अन्य दो आरोपी अब तक फरार है. एक मुख्य आरोपी निशू और दीनदयाल व संजीव कुमार को पहले कनीना में सोमवार को एक अदालत में पेश किया गया. तीनों को 21 सितंबर को दोबारा अदालत में पेश किया जाएगा.

हरियाणा पुलिस के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने रविवार शाम निशू की गिरफ्तारी की घोषणा की थी. एसआईटी प्रमुख नाजनीन भसीन ने कहा था कि अन्य दो मुख्य आरोपियों- सैनिक पंकज और मनीष- की गिरफ्तारी के लिए छापे मारे जा रहे हैं.

तीनों मुख्य आरोपियों ने मिलकर 19 वर्षीय लड़की के साथ 12 सितंबर को दुष्कर्म किया था. दीनदयाल उस ट्यूबवेल कक्ष का मालिक है, जहां महेंद्रगढ़ जिले में अपराध को अंजाम दिया गया था. जबकि संजय कुमार मेडिकल प्रैक्टिसनर है, जिसने पीड़िता का इलाज किया था. दोनों ने अपराध की जानकारी होने के बावजूद पुलिस को सूचित नहीं किया.

पुलिस ने इसके पहले फरार आरोपियों के बारे में जानकारी मुहैया कराने के लिए एक लाख रुपये इनाम की घोषणा की थी. सभी आरोपी कनीना गांव के निवासी हैं.

दिल्ली के सीमापुरी में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

दिल्ली के सीमापुरी इलाके में एक नाबालिग लड़की के साथ हुई कथित रेप की घटना के बाद आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोप है कि व्यक्ति ने लड़की के साथ रेप किया और जबरन उसके प्राइवेट पार्ट में वस्तुएं डालने की कोशिश की. पुलिस ने आरोपी व्यक्ति के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया है. आरोपी पुलिस हिरासत में है और उससे पूछताछ की जा रही है.

और पढ़ें- रेवाड़ी गैंगरेप केस : 3 आरोपियों को 5 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया

घटना के दौरान लड़की को गंभीर चोटे आई थी जिसके बाद उसका ऑपरेशन किया गया. डॉक्टरों के मुताबिक लड़की की हालत में लगातार सुधार हो रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 Sep 2018, 06:34:12 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो