News Nation Logo

अलकायदा आतंकियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा, युवाओं को पढ़ाया जाता है 5 पाठ

लखनऊ से गिरफ्तार संदिग्ध अलकायदा आतंकियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है. जानकारी के मुताबिक गिरोह में शामिल करने से पहले युवाओं को पांच पाठ पढ़ाए जाते थे और इनमें पास होने पर ही उन्हें अलकायादा में भर्ती किया जाता था.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 14 Jul 2021, 10:31:08 AM
Al Qaeda

अलकायदा आतंकियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा, जानें क्या? (Photo Credit: @newsnation)

highlights

  • लखनऊ से गिरफ्तार संदिग्ध अलकायदा आतंकियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है
  • जानकारी के मुताबिक गिरोह में शामिल करने से पहले युवाओं को पांच पाठ पढ़ाए जाते थे
  • हैंडलर चिन्हित युवाओं को कौम पर हो रहे ज़ुल्मों को लेकर भड़काता है 

लखनऊ:

लखनऊ से गिरफ्तार संदिग्ध अलकायदा आतंकियों से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है. जानकारी के मुताबिक गिरोह में शामिल करने से पहले युवाओं को पांच पाठ पढ़ाए जाते थे और इनमें पास होने पर ही उन्हें अलकायादा में भर्ती किया जाता था. सबसे पहला पाठ है पर्सनल चैट. इनमें जिन युवाओं को उनके जवाबों के आधार पर चिन्हित किया जाता है, उनसे सोशल मीडिया प्लैटफार्म्स पर पर्सनल चैट की जाती है. इस पर हैंडलर चिन्हित युवाओं को कौम पर हो रहे ज़ुल्मों को लेकर भड़काता है और इन आरोपों के जवाबों के आधार पर उन्हें चुनता है. 

दूसरा पाठ है माइक्रो कम्युनिटी. चैट के बाद जो युवा चिन्हित होते हैं, उन्हें  हैंडलर उन लोगों की जानकारी देता है और उनसे परिचय करवाता है, जो गिरोह में पहले से ही शामिल हो चुके होते हैं. तीसरा पाठ है फिजिकल कॉन्टेक्ट. इसमें पूरी तरह से संतुष्ट होने के बाद हैंडलर के गुर्गे नए रंग रूटों को मिलने के लिए बुलाते हैं, और उन्हें टास्क देते हैं. टास्क में पास होने के बाद हैंडलर सभी को इकट्ठा करता है और फिर वीडियो कॉल से सभी से रूबरू होता है. आतंक का चौथा पाठ है कंडक्टिंग ऑपरेशन. इसमें मीटिंग के बाद हैंडलर सभी को आतंकी घटनाओं को कहां और किस तरह और कब अंजाम देना है, इसकी जानकारी देता है, हैंडलर की ओर से क्या मदद होगी, युवाओं को अपनी स्तर से क्या इंतज़ाम करना है इसे लेकर तय किया जाता है और फिर घटनाओं को अंजाम दिया जाता है.

पांचवा और आखिरी पाठ होता है AQIS अनेबल्ड. इस प्रक्रिया में जो युवा आतंकी गतिविधियों में शामिल होते हैं उन्हें AQIS अनेबल्ड कहा जाता है. पूछताछ में आरोपी मिनहाज और मशीरुद्दीन ने बताया कि पाकिस्तान में बैठे हैंडलर उमर हलमण्डी से उन दोनों की पहली मुलाकात online ही हुई थी,जिसके बाद उसने दोनों को कई स्तर पर परखा, और विश्वास होने पर ऑपरेशन को अंजाम देने का आदेश दिया. लखनऊ में ATS ने जिन 2 संदिग्धों को पकड़ा गया, उनके साथी अभी तक फरार है . लिहाजा फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जिलो में अलर्ट जारी किया हुआ है .

लखीमपुर खीरी जिले में भी एलर्ट है . भारत-नेपाल सीमा के गौरीफंटा बॉर्डर पर तैनात जवानों को एसएसबी कमांडेंट ने रेड अलर्ट किया हुआ है . जंगल और नदी घाटों के रास्तों पर जवानों की संख्या बढ़ाई गई और सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है . बता दें कि लखनऊ में एटीएस टीम ने काकोरी थाना दुबग्गा क्षेत्र में दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया था . 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 Jul 2021, 10:31:08 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो