News Nation Logo
Banner

एक बार फिर आसमां में गूजेंगी राफेल की दहाड़, वायु सेना की परेड में लेगा हिस्सा

राफेल फाइटर जेट (Rafale fighter jet ) एक बार फिर लोगों के सामने उड़ान भरने वाले हैं. 8 अक्टूबर को वायु दिवस के मौके पर राफेल वायुसेना की परेड में हिस्सा लेगा.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 03 Oct 2020, 05:01:43 PM
rafale

Rafale (Photo Credit: (फोटो-ANI))

नई दिल्ली:

राफेल फाइटर जेट (Rafale fighter jet ) एक बार फिर लोगों के सामने उड़ान भरने वाले हैं. 8 अक्टूबर को वायु दिवस के मौके पर राफेल वायुसेना की परेड में हिस्सा लेगा. मालूम हो कि पांच राफेल लड़ाकू विमानों को आधिकारिक रूप से 10 सिंतबर को अंबाला (हरियाणा) में भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया था.राफेल की तैनाती अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर की गई है.

राफेल को भारत की रक्षा में मील का पत्थर माना जा रहा है. राफेल वायु सेना की 17वीं स्क्वाड्रन में शामिल हो रहा है. राफेल 4.5 जनरेशन का विमान है, जिसमें आधुनिक हथियारों के प्रयोग के साथ ही बेहतर सेंसर की भी अत्याधुनिक सुविधा है. अंबाला में कार्यक्रम की शुरूआत राफेल विमान की एक पारंपरिक 'सर्व धर्म पूजा' के साथ हुई. एयर डिस्प्ले के बाद राफेल विमान को पारंपरिक जल तोप की सलामी दी गई.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबरः लेह के ऊपर मिसाइलों से लोडेड राफेल भर रहे उड़ान

राफेल एक ओमनी-रोल विमान है, जिसका मतलब है कि यह एक बार में कम से कम चार मिशन कर सकता है. इस लड़ाकू विमान में हैमर मिसाइलें होती हैं. इस अवसर पर राफेल, सुखोई और भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टरों की कलाबाजी भी देखी गई.

बता दें कि पांच राफेल विमानों का पहला जत्था 29 जुलाई को भारत पहुंचा था. इससे करीब चार साल पहले भारत ने फ्रांस के साथ 59,000 करोड़ रुपये की लागत से ऐसे 36 विमानों की खरीद के लिए अंतर सरकारी समझौते पर हस्ताक्षर किए थे

First Published : 03 Oct 2020, 04:41:32 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो