logo-image
लोकसभा चुनाव

विमान में था 2 मिनट का फ्यूल, अयोध्या से दिल्ली आ रही फ्लाइट को चंडीगढ़ डाइवर्ट किया

मौसम खराब होने की वजह से विमान दिल्ली में लैंड नहीं कर पा रहा था. इस दौरान विमान के पायलट ने कम ईंधन के बावजूद फ्लाइट को चंड़ीगढ़ उतारा.

Updated on: 15 Apr 2024, 04:37 PM

नई दिल्ली:

इंडिगो विमान की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. विमान में सवार एक यात्री ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर जानकारी दी कि विमान को दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड कराने की दो बार कोशिश हुई. मगर इसमें सफलता नहीं मिली. बाद में विमान को चंडीगढ़ की ओर डाइवर्ट कर दिया गया. ऐसे में इंडिगो पर मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का उल्लंघन का आरोप लगा है. दरअसल, शनिवार को अयोध्या से दिल्ली आ रही फ्लाइट मौसम खराब होने के कारण दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड नहीं कर  सकी. मगर हैरानी बात यह है कि विमान में सिर्फ दो मिनट का ईधन ही बचा था.  

ये भी पढ़ें: अरविंद केजरीवाल की याचिका पर जल्द सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, ईडी से 24 अप्रैल तक जवाब मांगा

भयानक अनुभव का साझा किया

इस विमान में सवार एक यात्री ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके इस भयानक अनुभव का साझा किया. उन्होंने बताया कि विमान को दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड कराने का प्रयास किया गया. मगर सफलता हासिल नहीं हुई. इसके बाद विमान को चंडीगढ़ की ओर डाइवर्ट कर दिया गया. ऐसे में इंडिगो पर मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के उल्लंघन का आरोप है. इसी विमान में डिप्टी कमिश्नर (क्राइम) पुलिस सतीश कुमार भी सवार थे.

खराब मौसम के कारण फ्लाइट को लैंड नहीं कराया जा सका

उन्होंने बताया कि इंडिगो की ये फ्लाइट 13 अप्रैल की शाम 3.25 बजे अयोध्या से चली थी. ये शाम को 4.30 बजे दिल्ली पहुंचने वाली थी. मगर लैंडिंग से करीब 15 मिनट पहले पायलट ने घोषणा की कि दिल्ली में खराब मौसम के कारण फ्लाइट को लैंड नहीं कराया जा सकता है. विमान दिल्ली के आसमान में चक्कर लगाता रहा. 

विमान में 45 मिनट का ही फ्यूल बचा

कुमार के अनुसार, पायलट ने यात्रियों को शाम 4.15 बजे ये सूचना दी कि विमान में 45 मिनट का ही फ्यूल बचा है. इस दौरान यात्रियों की धड़कने तेज हो गईं. विमान दो बार लैंड करने में सफल नहीं हुआ. बाद में पायलट ने शाम 5.30 मिनट पर जानकारी दी कि वह विमान को चंडीगढ़ की ओर मोड़ रहा है. इस दौरान कई यात्रियों में दहशत फैल गई. लोगों की तबियत बिगड़ने लगी. क्रू के सदस्यों में एक की हालत खराब हो गई.