News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

बायो-बबल में होगा आईआईटी कानपुर का दीक्षांत समारोह, पीएम मोदी होंगे मुख्य अतिथि

बायो-बबल में होगा आईआईटी कानपुर का दीक्षांत समारोह, पीएम मोदी होंगे मुख्य अतिथि

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Dec 2021, 10:40:01 PM
The Indian

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

कानपुर (यूपी): आईआईटी कानपुर (आईआईटी-के) ने 28 दिसंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह के दौरान अपने छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों को कोविड संक्रमण से बचाने के लिए एक बायो-बबल बनाया है।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल होंगे।

जबकि आईआईटी-के के सभी उपस्थित लोग सोमवार को आरटी-पीसीआर परीक्षणों से गुजरेंगे और उन सभी को मंगलवार को कार्यक्रम स्थल में प्रवेश करने से कुछ घंटे पहले एक और रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) का भी सामना करना होगा।

दीक्षांत समारोह हाइब्रिड मोड में आयोजित किया जाएगा, जिसमें फैकल्टी और कर्मचारियों के साथ लगभग 870 छात्रों के शामिल होने की उम्मीद है। इसके अलावा 850 से अधिक वर्चुअल तरीके से शामिल होंगे।

संस्थान ने दावा किया कि यह भारत में पहली बार होगा, जहां बायो-बबल के अंदर दीक्षांत समारोह आयोजित किया जाएगा।

बायो-बबल एक अवधारणा (कंसेप्ट) है, जिसे हाल ही में खेल के क्षेत्र में विकसित किया गया है, विशेष रूप से क्रिकेट में, जहां प्रदूषण के जोखिम को कम करने के लिए एक जैव-सुरक्षित (बायो-सिक्योर) वातावरण बनाया जाता है।

आईआईटी-के की एक विज्ञप्ति के अनुसार, यह शायद पहली बार है कि किसी उच्च शिक्षण संस्थान ने अपने दीक्षांत समारोह के लिए इस तरह के उपाय अपनाए हैं। यह सभी के लिए समग्र कल्याण और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आईआईटी कानपुर के ²ष्टिकोण के अनुरूप है।

आईआईटी कानपुर के उप निदेशक एस. गणेश ने सोमवार को कहा, चूंकि हम सम्मानित आमंत्रित गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में 54वें दीक्षांत समारोह को हाइब्रिड मोड में मनाने जा रहे हैं, यह हमारा कर्तव्य है कि हम सभी की सुरक्षा सुनिश्चित करें। इसलिए, कोविड महामारी के लगातार बदलते परि²श्य को देखते हुए, हम परिसर के अंदर अतिरिक्त एहतियाती एक्ससाइज कर रहे हैं। शारीरिक रूप से कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी लोगों के स्वास्थ्य की जांच के लिए पहले परीक्षण किए जाने हैं। यह सभी उपस्थित लोगों के लिए अत्यंत सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए है, ताकि इस अवसर की खुशी में बाधा न आए।

इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे।

आईआईटी-के इस साल इंफोसिस के सह-संस्थापक सेनापति क्रिस गोपालकृष्णन, भौतिक विज्ञानी रोहिणी एम. गोडबोले और शास्त्रीय गायक पंडित अजय चक्रवर्ती को डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान करेगा। कुल 1,723 निवर्तमान छात्रों को डिग्री प्रदान की जाएगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Dec 2021, 10:40:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.