News Nation Logo
कोरोना के नए वैरिएंट ओमीक्रॉम का खतरा बढ़ा, 30 देशों तक फैला वायरस ओमिक्रॉन पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी 66 और 46 साल के दो मरीज आइसोलेशन में रखे गए भारत में ओमीक्रॉन वायरस की पुष्टि कर्नाटक में मिले ओमीक्रॉन के 2 मरीज सीएम योगी आदित्यनाथ ने प. यूपी को गुंडे-माफियाओं से मुक्त कराकर उसका सम्मान लौटाया है: अमित शाह जहां जातिवाद, वंशवाद और परिवारवाद हावी होगा, वहां विकास के लिए जगह नहीं होगी: योगी आदित्यनाथ पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर हुई समीक्षा बैठक प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है: सत्येंद्र जैन दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से कोविड मामले और पॉजिटिविटी रेट काफी कम है: सत्येंद्र जैन आंदोलनकारी किसानों की मौत और बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में नारेबाजी की दिल्ली में आज भी प्रदूषण का स्तर काफी खराब, AQI 342 पर पहुंचा बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठकर गाया राष्ट्रगान, मुंबई BJP के एक नेता ने दर्ज कराई FIR यूपी सरकार ने भी ओमीक्रॉन को लेकर कसी कमर, बस स्टेशन- रेलवे स्टेशन पर होगी RT-PCR जांच

तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान ने इस्लामाबाद तक लंबे मार्च की घोषणा की, स्थिति तनावपूर्ण

तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान ने इस्लामाबाद तक लंबे मार्च की घोषणा की, स्थिति तनावपूर्ण

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 22 Oct 2021, 12:40:01 PM
Tenion immer

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

लाहौर/नई दिल्ली: लाहौर पुलिस ने प्रतिबंधित तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के 1,000 से अधिक कार्यकर्ताओं को कथित तौर पर हिरासत में लिया है। दरअससल समूह ने शुक्रवार की नमाज के बाद इस्लामाबाद तक लंबे मार्च की घोषणा की है, जिसके बाद पुलिस की कार्रवाई के मद्देनजर पूरे पंजाब प्रांत में तनाव की स्थिति पैदा हो गई। डॉन न्यूज की रिपोर्ट से यह जानकारी मिली।

एक अधिकारी ने कहा कि प्रांत के अन्य हिस्सों में स्थिति उतनी खतरनाक नहीं है जितनी लाहौर में है, जहां लगभग 900 कार्यकर्ता और टीएलपी के दूसरे स्तर के नेतृत्व मुल्तान रोड पर जामिया मस्जिद रहमतुल लील आलमीन के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

गुरुवार को आरोपित कार्यकर्ताओं के एक समूह द्वारा विरोध स्थल के पास मुल्तान रोड ऑरेंज लाइन ट्रेन स्टेशन में तोड़फोड़ करने, सीसीटीवी कैमरों और वहां के बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचाने के बाद शहर में तनाव बढ़ गया। डॉन न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्होंने एक सरकारी शिक्षण संस्थान की बस भी छीन ली और दो पुलिस कांस्टेबलों को प्रताड़ित किया।

ऐसी भी खबरें थीं कि टीएलपी कार्यकर्ताओं ने शहर के कुछ हिस्सों में कंटेनरों और अन्य वाहनों से सड़कों को अवरुद्ध कर दिया और नाकाबंदी हटाने की मांग को लेकर यात्रियों के साथ तीखी बहस हो गई।

इस स्थिति के मद्देनजर, लाहौर पुलिस ने टीएलपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ पांच मामले दर्ज किए, अधिकारी ने कहा, सरकार ने टीएलपी के गढ़ समानाबाद, शेराकोट, नवांकोट, गुलशन-ए-रवि, सबजाजार और इकबाल टाउन में इंटरनेट और मोबाइल फोन सेवाओं को भी निलंबित कर दिया।

इस्लामाबाद पर लंबे मार्च की घोषणा करते हुए टीएलपी नेता पीर अजमल कादरी ने कहा कि शांतिपूर्ण जुलूस जुमे की नमाज के बाद शुरू होगा।

उन्होंने धरना स्थल पर एक भीड़ से कहा, यदि कोई बाधा उत्पन्न होती है, तो पार्टी के पास किसी भी आधिकारिक प्रयास को विफल करने के लिए एक योजना बी भी है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 22 Oct 2021, 12:40:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो