News Nation Logo
Banner

तेलंगाना सीएम के चंद्रशेखर राव का चुनावी हुंकार, कहा- दिल्ली की सत्ता के आगे नहीं झुकाएंगे अपना सिर

केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि तमिलनाडु में लोग अपने नेताओं के साथ राज्य पर शासन करते हैं। इसी तरह हम फिर सत्ता में आएंगे लेकिन दिल्ली के नेतृत्व के आगे समर्पण नहीं करेंगे।

News Nation Bureau | Edited By : Saketanand Gyan | Updated on: 02 Sep 2018, 09:31:26 PM
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (फोटो : @trspartyonline)

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (फोटो : @trspartyonline)

हैदराबाद:

तेलंगाना के मुख्यमंत्री और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) प्रमुख के चंद्रशेखर राव ने आगामी विधानसभा चुनाव की चर्चाओं के बीच रंगा रेड्डी जिले के कोंगारा कलां में आयोजित एक जनसभा में दिल्ली की केंद्रीय सत्ता को सीधे तौर पर चुनौती दी। केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए केसीआर ने कहा कि तमिलनाडु में लोग अपने नेताओं के साथ राज्य पर शासन करते हैं। इसी तरह हम फिर सत्ता में आएंगे लेकिन दिल्ली के नेतृत्व के आगे समर्पण नहीं करेंगे। केसीआर की इस सभा में रविवार को राज्यभर से हजारों लोग पहुंचे।

समय पूर्व चुनाव के लिए राज्य विधानसभा भंग करने की अटकलों को खारिज करते हुए जनसभा में मुख्यमंत्री ने कहा, 'कुछ मीडिया चैनल कह रहे हैं कि केसीआर सरकार को भंग कर देगी। सभी टीआरएस सदस्यों ने मुझे तेलंगाना के भविष्य पर फैसले लेने के लिए मौका दिया है। जब मैं निर्णय लूंगा तो आपको बता दूंगा।'

केसीआर ने कहा, 'मैंने वादा किया है कि अगर अगले चुनाव से पहले तक मिशन भागीरथ के तहत मैं हर घरों तक पीने का पानी नहीं पहुंचा पाऊंगा तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा। इस देश में कोई दूसरा मुख्यमंत्री इस तरह कहने का हिम्मत नहीं करेगा।'

चंद्रशेखर राव ने पहली बार प्रगति निवेदना (प्रगति रिपोर्ट) जनसभा को संबोधित किया। जनसभा में केसीआर ने राज्य सरकार की पिछले चार साल की उपलब्धियां जनता को गिनाई।

इससे पहले रविवार को समय पूर्व चुनाव के लिए राज्य विधानसभा भंग करने की अटकलों के बीच मंत्रिमंडल की बैठक हुई। लेकिन यह बैठक समय पूर्व चुनाव के मुद्दे पर बिना फैसला लिए समाप्त हो गई। मुख्यमंत्री राव के आधिकारिक निवास प्रगति भवन में घंटे भर चली बैठक के बाद वित्तमंत्री एटेला राजेंदर ने कुछ अन्य मंत्रियों के साथ संवाददाताओं को जानकारी दी।

मंत्रिमंडल ने विभिन्न तबकों के लिए कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए। इसमें से एक प्रमुख फैसला पिछड़े वर्गों के लिए एक सामुदायिक भवन बनाने का है। यह हैदराबाद में 75 एकड़ भूमि पर 70 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा।

यह पूछे जाने पर कि क्या विधानसभा भंग करने पर भी चर्चा हुई? उप मुख्यमंत्री काडियम श्रीहरि ने कहा कि उन्होंने मीडिया को बैठक के एजेंडे के अनुसार लिए गए फैसले के बारे बताया है। उन्होंने कहा, 'जल्द ही मंत्रिमंडल की एक अन्य बैठक होगी।'

और पढ़ें : पीएम नरेन्द्र मोदी ने आलोचनाओं का दिया जवाब, कहा- अनुशासन की बात करने पर बोला जाता है 'निरंकुश'

हालांकि चंद्रशेखर राव पहले ही जल्द चुनाव कराने का मजबूत संकेत दे चुके हैं। उनके इस हफ्ते के अंत तक इस पर फैसला लेने की उम्मीद है।

First Published : 02 Sep 2018, 09:23:41 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.