News Nation Logo
Banner
Banner

जाति आधारित जनगणना पर केंद्रीय इनकार के बाद तेजस्वी ने 33 नेताओं को लिखा पत्र

जाति आधारित जनगणना पर केंद्रीय इनकार के बाद तेजस्वी ने 33 नेताओं को लिखा पत्र

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 25 Sep 2021, 07:45:01 PM
Tejahwi write

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

पटना: बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा नकारे जाने के बाद जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर देश के 33 शीर्ष नेताओं को पत्र लिखा है।

ये नेता हैं सोनिया गांधी, प्रकाश सिंह बादल, अरविंद केजरीवाल, शरद पवार, ओम प्रकाश चौटाला, वाईएस जगन मोहन रेड्डी, एमके स्टालिन, फारूक अब्दुल्ला, दीपांकर भट्टाचार्य, हेमंत सोरेन, ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे, के चंद्रशेखर राव, अशोक गहलोत, चरणजीत सिंह चन्नी, ओ पनीरसेल्वम, चंद्रशेखर आजाद, अखिलेश यादव, मायावती, सीताराम येचुरी, डी राजा, नवीन पटनायक, नीतीश कुमार, जीतन राम मांझी, मुकेश सहनी, चिराग पासवान, ओम प्रकाश राजभर, अख्तरुल इमाम, जयंत चौधरी, मौलाना बदरुद्दीन, पी विजयन, भूपेश बघेल और महबूबा मुफ्ती हैं।

तेजस्वी यादव ने पत्र का हवाला देते हुए कहा, केंद्र सरकार ने जाति आधारित जनगणना पर नकारात्मक रुख अपनाया है। देश में समाज की अंतिम पंक्ति में बैठे व्यक्ति के समग्र विकास के लिए यह आवश्यक है। भाजपा के पास एक नहीं है। यह जाति आधारित जनगणना के खिलाफ क्यों है, इसका एक ही ता*++++++++++++++++++++++++++++र्*क कारण है।

इस मुद्दे ने बिहार में एनडीए गठबंधन सहयोगियों के बीच मतभेद पैदा कर दिया है। हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा, हम जाति आधारित जनगणना के पक्ष में हैं और केंद्र को अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए।

विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के अध्यक्ष मुकेश साहनी ने बिहार में जाति आधारित जनगणना कराने के लिए 5 करोड़ रुपये दान करने की घोषणा की।

साहनी ने कहा, अगर बिहार सरकार अपने खर्च पर राज्य में जाति आधारित जनगणना कराने का निर्णय ले रही है, तो हम बिहार सरकार को 5 करोड़ रुपये दान करेंगे। पार्टी के खाते से 4 करोड़ रुपये और 1 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। मेरे व्यक्तिगत बैंक खाते से दिया जा सकता है।

--आईएाएनएस

एचके/एएनएम

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 25 Sep 2021, 07:45:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो