News Nation Logo
Breaking
उत्तराखंड : बारिश के दौरान चारधाम यात्रा बड़ी चुनौती बनी, संवेदनशील क्षेत्रों में SDRF तैनात आंधी-बारिश को लेकर मौसम विभाग ने दिल्ली-NCR के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया राजस्थान : 11 जिलों में आज आंधी-बारिश का ऑरेंज अलर्ट, ओला गिरने की भी आशंका बिहार : पूर्णिया में त्रिपुरा से जम्मू जा रहा पाइप लदा ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, 8 घायल पर्यटन बढ़ाने के लिए यूपी सरकार की नई पहल, आगरा मथुरा के बीच हेली टैक्सी सेवा जल्द महाराष्ट्र के पंढरपुर-मोहोल रोड पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत- 3 की हालत गंभीर बारिश के कारण रोकी गई केदारनाथ धाम की यात्रा, जिला प्रशासन के सख्त निर्देश आंधी-बारिश के कारण दिल्ली एयरपोर्ट से 19 फ्लाइट्स डाइवर्ट
Banner

तमिलनाडु : बोरवेल में फंसे 2 वर्षीय सुजीत की मौत पर CM, डिप्टी CM और राहुल गांधी ने जताया शोक

सुजीत तिरुचिरापल्ली के नादुकट्टुपति में बोरवेल में गिरने से उसकी जान चली गई

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 29 Oct 2019, 11:37:13 PM
के पलानीस्वामी और ओ पनीरसेल्वम

तमिलनाडु:  

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने दो वर्षीय सुजीत विलसम के प्रति उसके आवास पर शोक व्यक्त किया है. सुजीत की मंगलवार को मौत हो गई. सुजीत 25 अक्टूबर को बोरवेल में गिर गया था. उसे बचाने की काफी कोशिश की गई. लेकिन उसे सही सलामत वापस नहीं निकाल पाया. सुजीत तिरुचिरापल्ली के नादुकट्टुपति में बोरवेल में गिरने से उसकी जान चली गई. सुजीत को पिछले 5 दिनों से बचाने का प्रयास किया जा रहा था. लेकिन उसे बचा पाने में सफलता नहीं मिली.

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान के एक और मंत्री ने दिया शर्मनाक बयान, कहा- एक मिसाइल भारत पर गिरेगी, दूसरी उसके समर्थक पर 

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बच्चे सुजीत की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि यह सुनकर बहुत दुख हुआ. मेरी संवेदनाएं उसके परिवार और उसके माता पिता के साथ हैं.

तमिलनाडु के तिरुचिरापल्‍ली में बोरवेल में तीन दिन से फंसे दो साल के बच्‍चे सुजीत विल्‍सन की मौत हो गई. बोरवेल से बॉडी निकाली गई तो आसपास दुर्गंध फैल गया. इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि उसकी मौत पहले ही हो गई थी. एनडीआरएफ की टीम ने बच्‍चे को कड़ी मशक्‍कत के बाद बाहर निकाला और उसे तुरंत अस्‍पताल ले जाया गया. अस्‍पताल में सरकारी खानापूर्ति के बाद शव को उसके घर ले जाया गया. सुजीत का शव देख घरवालों की हालत खराब हो गई. उन्‍हें संभालना मुश्‍किल हो गया. राज्‍य सरकार के परिवहन मंत्री जे. राधाकृष्‍णन ने यह जानकारी दी.

यह भी पढ़ें- चीन ने अमेरिका को दिया सख्त संदेश, कहा- तिब्बत से जुड़े मामलों में न करे हस्तक्षेप 

पिछले 25 अक्‍टूबर को शाम 5:30 बजे बोरवेल में बच्‍चे के गिरने के बाद से लगातार 80 घंटों से भी अधिक समय तक उसे बचाने के लिए रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन चला. लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका. सुजीत विल्‍सन बच्‍चों के साथ वहां खेल रहा था. खेलते-खेलते वह 88 फीट गहरे बोरवेल में जा गिरा. सुजीत को बचाने के लिए एनडीआरफ की 6 टीमें लगाई गई थीं. एनडीआरएफ के अलावा एसडीआरएफ की टीमें भी जुटी थीं. तमिलनाडु के उपमुख्‍यमंत्री ओ पनीरसेल्‍वम खुद पूरे ऑपरेशन की निगरानी कर रहे थे. पनीरसेल्‍वम ने सोमवार को पीड़ित परिवार से मुलाकात भी की थी.

First Published : 29 Oct 2019, 11:19:41 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.