logo-image

तमिलनाडु के मंत्री उदयनिधि के 'सनातन' वाले बयान पर बीजेपी का पलटवार, CM स्टालिन के बेटे को दिया करारा जवाब

उदयनिधि के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी के प्रदेश प्रमुख ने कहा कि,

Updated on: 03 Sep 2023, 12:43 PM

highlights

  • तमिलनाडु के मंत्री ने मच्छरों से की सनातन धर्म की तुलना
  • बीजेपी ने साधा उदयनिधि स्टालिन पर निशाना
  • विपक्षी दलों के गठबंधन से भी मांगा जवाब

New Delhi:

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के बेटे और मंत्री उदयनिधि स्टालिन के सनातन धर्म पर दिए गए आपत्तिजनक बयान पर बीजेपी ने उन्हें आड़े हाथों लिया है और उनके बयान को उधार का बयान करार दिया है. डीएमके नेता उदयनिधि स्टालिन के बयान पर तमिलनाडु बीजेपी अध्यक्ष के अन्नामलाई ने तीखी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने अपने आधिकारिक एक्स हैंडल से पोस्ट किया कि, "गोपालपुरम परिवार का एकमात्र संकल्प राज्य की जीडीपी से भी ज्यादा संपत्ति जमा करना है. उदयनिधि स्टालिन, आपके पिता या आपका विचार ईसाई मिशनरियों से उधार लिया हुआ विचार है. उन मिशनरियों का लक्ष्य अपनी विचारधारा को दोहराने के लिए आपके जैसे लोगों को विकसित करना था."

उदयनिधि के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी के प्रदेश प्रमुख ने कहा कि, "तमिलनाडु आध्यात्म की भूमि है. सबसे अच्छी तरह जो आप कर सकते हैं, वह है इस तरह के कार्यक्रम में माइक पकड़ना और अपनी निराशा जताना!"

उदयनिधि ने मच्छर से की थी सनातक धर्म की तुलना

बता दें कि तमिलनाडु के खेल और युवा मामलों के उदयनिधि स्टालिन ने शनिवार को चेन्नई में एक सम्मेलन के दौरान सनातन धर्म की तुलना मच्छर से करते हुए कहा था कि, 'कुछ चीजों का विरोध नहीं किया जा सकता है, उन्हें केवल खत्म किया जाना चाहिए. हम डेंगू, मच्छरों, मलेरिया या कोरोना का विरोध नहीं कर सकते, हमें उन्हें मिटाना है. उसी तरह, हमें सनातन धर्म को मिटाना है. सनातन का केवल विरोध करने के बजाय, इसे खत्म करना चाहिए.'

बीजेपी ने विपक्षी गठबंधन से मांगा जवाब

उदयनिधि के इस बयान के बाद बीजेपी ने उन्हें आड़े हाथों लिया. इसके बाद चेन्नई से लेकर दिल्ली तर उनके बयान की जमकर निंदा हुई. यही नहीं विपक्षी दलों के गठबंधन 'इंडिया' पर भी उदयनिधि के बयान के बाद आरोप लगने लगे. बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि, "स्टालिन इंडिया अलाइंस के मजबूत स्तंभ हैं और उनके बेटे सनातन धर्म की तुलना डेंगू और मलेरिया से कर रहे हैं." उन्होंने कहा कि, कांग्रेस पार्टी और 'इंडिया' अलाइंस के सदस्यों को अपनी राय स्पष्ट करनी चाहिए. 

इसस पहले बीजेपी की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय भी उदयनिधि स्टालिन के बयान की निंदा की और तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि डीएमके के मंत्री भारत की 80 प्रतिशत आबादी के नरसंहार का आवाह्न कर रहे थे. मालवीय ने एक्स पर लिखा, "तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन के बेटे और डीएमके सरकार में मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म को मलेरिया और डेंगू से जोड़ा है. उनका मानना है कि इसे खत्म किया जाना चाहिए, न कि केवल इसका विरोध किया जाना चाहिए."