News Nation Logo
29 अक्टूबर से पीएम मोदी का इटली दौरा जेल में डालने वाला आज जेल में जाने से डरने लगा: नवाब मलिक जो फर्जीवाड़ा किया गया है, वो खुल खुलकर सामने आने लगा है: नवाब मलिक पंजाब में AAP की सरकार बनी, तो प्रदेश में किसी किसान को नहीं करने देंगे खुदकुशी: अरविंद केजरीवाल शाहरुख खान की 'मन्नत' पूरी, आर्यन को बेल; अब मन्नत में मनेगी दीपावली आर्यन खान समेत तीनों आरोपियों के विदेश जाने पर रोक भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

जरूरत पड़ने पर जारी रहेगी अमेरिका के साथ बातचीत : तालिबान

जरूरत पड़ने पर जारी रहेगी अमेरिका के साथ बातचीत : तालिबान

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 11 Oct 2021, 07:30:01 PM
Talk with

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

काबुल: अफगानिस्तान में कार्यवाहक तालिबान सरकार के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि यदि आवश्यक हुआ तो अमेरिका के साथ बातचीत जारी रहेगी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सप्ताहांत में कार्यवाहक विदेश मंत्री अमीर खान मुत्ताकी के नेतृत्व में तालिबान के एक प्रतिनिधिमंडल ने कतर के दोहा में एक अमेरिकी अंतर-एजेंसी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, अफगानिस्तान के इस्लामी अमीरात (आईईए) और अमेरिका के प्रतिनिधिमंडके बीच दो दिवसीय वार्ता अच्छी तरह से चली। बैठक के दौरान राजनीतिक मुद्दों पर समस्याओं के समाधान के लिए विस्तार से चर्चा की गई और दोहा समझौते के पूर्ण कार्यान्वयन को इस्लामी अमीरात ने सबसे अच्छा तरीका माना।

बयान के अनुसार अमेरिकी प्रतिनिधियों ने कहा कि अमेरिका अफगानों को मानवीय सहायता देगा और अन्य मानवीय संगठनों को सहायता प्रदान करने के लिए सुविधाएं प्रदान करेगा।

बयान में कहा गया, मानवीय सहायता को राजनीतिक मुद्दों से नहीं जोड़ा जाना चाहिए।

बयान में कहा गया है कि इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान (आईएई) ने अमेरिकी सहायता का स्वागत किया है और यह मानवीय सहायता प्रदान करने में धर्मार्थ समूहों के साथ सहयोग करेगा और विदेशी नागरिकों की सैद्धांतिक आवाजाही की सुविधा प्रदान करेगा।

बैठक के दौरान सभी प्रासंगिक मुद्दों पर विस्तृत चर्चा हुई और बेहतर राज्य के लिए राजनयिक संबंधों को बहाल करने के प्रयास किए जाने चाहिए।

मंत्रालय के बयान में कहा गया है, जिस बैठक में बातचीत स्पष्ट रूप से हुई, उसे समझने का एक अच्छा अवसर माना गया और यह सहमति हुई कि भविष्य में भी ऐसी बैठकें होती रहेंगी।

अगस्त के अंत में अफगानिस्तान से अमेरिकी वापसी के बाद से यह बैठक अमेरिका और तालिबान के अधिकारियों के बीच पहली व्यक्तिगत सभा को चिह्न्ति करती हैं, जिसके कारण तालिबान ने देश को पूरी तरह से अपने कब्जे में ले लिया है।

तालिबान सरकार का बयान अमेरिकी विदेश विभाग के यह कहने के कुछ ही घंटों बाद आया है कि वार्ता स्पष्ट और पेशेवर थी।

विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने रविवार को एक रीडआउट में कहा कि अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने सुरक्षा और आतंकवाद की चिंताओं, अमेरिकी नागरिकों, अन्य विदेशी नागरिकों और अफगान भागीदारों के लिए सुरक्षित मार्ग के साथ-साथ मानवाधिकार और मानवीय सहायता के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया है।

प्राइस ने उल्लेख किया कि अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने दोहराया कि तालिबान को उसके कार्यो पर ही नहीं, बल्कि उसके शब्दों पर भी आंका जाएगा।

तालिबान प्रतिनिधिमंडल ने अमेरिकी पक्ष से अफगानिस्तान के हवाई क्षेत्र की संप्रभुता का सम्मान करने और उसके मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि मानवीय सहायता पर जोर दिया और फरवरी 2020 में दोनों पक्षों के बीच संपन्न दोहा समझौते के सभी प्रावधानों के कार्यान्वयन पर जोर दिया।

विदेश विभाग ने शुक्रवार को कहा कि दोहा में बैठक दो पक्षों के बीच व्यावहारिक जुड़ाव की निरंतरता है, लेकिन तालिबान को मान्यता प्रदान करना या वैधता प्रदान करना नहीं है, जिसने अगस्त के मध्य और शुरुआती सितंबर में अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया और एक अंतरिम सरकार की घोषणा की।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 11 Oct 2021, 07:30:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो