News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

तालिबान ने अफगान मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी के चेहरे को कैमरे की नजर से दूर रखा

तालिबान ने अफगान मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी के चेहरे को कैमरे की नजर से दूर रखा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Oct 2021, 07:30:02 PM
Taliban keep

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: अफगानिस्तान की कार्यवाहक सरकार में कुछ कुख्यात छुपे किरदारों को शामिल करने के लिए तालिबान की आलोचना की गई है। ऐसा ही एक किरदार सिराजुद्दीन हक्कानी है, जो एक नामित आतंकवादी है। जब उसकी तस्वीर ली जाने लगी, तो वह एक संयंत्र के पीछे जाकर छुप गया था।

आरएफई/आरएल के मुताबिक, सितंबर की शुरुआत में तालिबान के आंतरिक मंत्री के रूप में नामित होने के बाद से अपनी पहली सार्वजनिक उपस्थिति में हक्कानी ने 19 अक्टूबर को आत्मघाती हमलावरों की प्रशंसा की और उनके परिवार के जीवित सदस्यों के लिए धन और जमीन देने का वादा किया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि काबुल के इंटरकांटिनेंटल होटल में 2011 और 2018 में घातक तालिबान हमलों का लक्ष्य पूरा करने वाले हक्कानी को रणनीतिक रूप से सजाकर रखे गए फूलों के पीछे बैठे देखा जा सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, एक अन्य कैमरा एंगल में तालिबान के विशेष बलों के सैनिकों ने हाल ही में अमेरिकी सैन्य गियर को और अधिक स्पष्ट रूप से दिखाया गया। इस तस्वीर में हक्कानी का शरीर दिखाया गया है, लेकिन उसका चेहरा पूरी तरह से फोटोशॉप किया हुआ है।

अन्य तस्वीरें हक्कानी को बेज शर्ट, भूरे रंग की बनियान पहने हुए और काली पगड़ी लगाए हुए दिखाती हैं। कुछ तस्वीरों में उसके एक कान की झलक मिलती है तो कुछ में ट्रेडमार्क लंबी दाढ़ी वाले हक्कानी का चेहरा धुंधला है। वह एक कार्यक्रम में मौजूद लोगों को गर्मजोशी से गले लगाता हुआ दिखता है।

ऐसी तस्वीरें तालिबान के हक्कानी के चेहरे को कैमरे की नजर से दूर रखने के दूसरे प्रयास को चिह्न्ति करती हैं। इस चरमपंथी संगठन ने 15 अगस्त को सत्ता पर कब्जा कर लिया था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 10 सितंबर को गृह मंत्रालय की एक परिचयात्मक बैठक के दौरान हक्कानी के सिर के केवल पिछले हिस्से दिखे। उसने अपने नए कर्मचारियों को संबोधित किया था।

लेकिन हक्कानी नेटवर्क प्रमुख हक्कानी की गतिविधियों ने सुधार के दावों के प्रति तालिबान की प्रतिबद्धता पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं।

कार्यवाहक आंतरिक मंत्री सिराजुद्दीन, जो हक्कानी नेटवर्क के मृत संस्थापक जलालुद्दीन हक्कानी का बेटा है, एफबीआई के मोस्ट वांटेड भगोड़ों में से है।

ट्विटर पर कुछ लोगों ने अनुमान लगाया है कि हक्कानी की मौजूदगी को उन लोगों से बचाने के लिए छिपाया जा रहा है, जो इनाम के पैसे को भुनाना चाहते हैं।

काबुल में कई स्रोतों ने आरएफई/आरएल को बताया है कि हक्कानी बार-बार स्थान बदलता है और इस डर से अपनी गतिविधियों को गुप्त रखता है कि वाशिंगटन उसे दूर से संचालित ड्रोन का उपयोग करके निशाना बना लेगा।

ट्विटर पर अन्य लोगों ने लिखा है कि तालिबान हक्कानी को एक दिव्य नेता के रूप में चित्रित करने का प्रयास कर रहा है, इसलिए संगठन के पिछले रुख को ध्यान में रखते हुए छवियों को धुंधला किया जा रहा है और तर्क दे रहा है कि फोटोग्राफी इस्लामी कानून की सख्त व्याख्या के तहत प्रतिबंधित है।

हक्कानी अकेला तालिबानी अधिकारी नहीं है जो साये में काम कर रहा है। आतंकवादी संगठन के नए नामित सर्वोच्च नेता, मुल्ला हैबतुल्लाह अखुंदजादा को केवल पोस्टरों पर ही देखा गया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुल्ला उमर के 30 वर्षीय बेटे मुल्ला याकूब उमर का ठिकाना अब भी एक रहस्य है।

लेकिन इंटरकांटिनेंटल होटल में 19 अक्टूबर, 2018 के कार्यक्रम के दौरान आत्मघाती हमलावरों को इस्लाम और देश के नायकों के रूप में चित्रण किया गया, जहां तालिबान बंदूकधारियों द्वारा 42 लोग मारे गए थे।

इब्राहिम, जिसका भाई खजेह ईसा 2009 में उत्तर-पश्चिमी हेरात प्रांत में एक आत्मघाती हमले में मारा गया था, ने आरएफई/आरएल को बताया कि उस हमले में हजारों बच्चे, जवान और बूढ़े शहीद हो गए थे।

इब्राहिम ने कहा, हम देखते हैं कि आज आत्मघाती हमलावरों को शहादत के नाम पर सम्मानित किया जा रहा है। दुर्भाग्य से, यह मानवता और धर्म से बहुत दूर है .. किसी की भी अंतरात्मा यह स्वीकार नहीं करेगी कि आत्महत्या इस्लामी कानून का एक हिस्सा है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Oct 2021, 07:30:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.